Sunday, October 17, 2021
Homeदेश-समाजछठ घाट पर फाड़ डाला बजरंगबली का झंडा: सलामत, इजामुल, अंसारी गिरफ्तार - गिरिडीह...

छठ घाट पर फाड़ डाला बजरंगबली का झंडा: सलामत, इजामुल, अंसारी गिरफ्तार – गिरिडीह में तनाव

"दोनों पक्षों की आपस में सुलह हो जाती, लेकिन कुछ कट्टरपंथियों की वजह से ऐसा नहीं हो सका, क्योंकि वो लोग नहीं चाहते थे कि इनके बीच का तनाव समाप्त हो जाए। जिसकी वजह से..."

गिरिडीह के हीरोडीह थाना क्षेत्र के नारायण सिंहडीह गाँव में छठ घाट पर लगे बजरंगबली के झंडे को कुछ उपद्रवियों द्वारा उखाड़कर फेंकने व गंदा किए जाने से ग्रामीण काफी आक्रोशित हैं। पुलिस ने मामले में तीन लड़कों को गिरफ्तार भी किया है। इनके नाम हैं – सलामत रज़ा, इजामुल हक और वसीद अंसारी।

इसके अलावा पुलिस, अभियुक्त के रूप में शोएब अंसारी, तनवीर अंसारी, शमिमुल्ला, सराफत अंसारी और बुधन अंसारी को अपने साथ ले गई है। ग्रामीणों की तरफ से रविन्द्र कुमार वर्मा ने कसियोटोल के 11 युवकों के विरुद्ध धार्मिक झंडा फाड़ने, गन्दा करने और धर्म विशेष को नीचा दिखाने का आरोप लगाते हुए प्राथमिकी के लिए आवेदन किया था।

दैनिक जागरण के गिरिडीह संस्करण में छपी खबर का स्क्रीनशॉट

बता दें कि रविवार (नवंबर 3, 2019) को कसियाटोल के कुछ लड़कों ने छठ पर्व की समाप्ति के बाद घाट पर लगे झंडे को उखाड़कर फाड़ दिया था, जिसको लेकर दो समुदायों के बीच तनाव पैदा हो गया। दोनों पक्षों के बीच मामला सुलझाने का प्रयास किया गया लेकिन तनाव कम नहीं हुआ। इस मामले में पुलिस की सारी कोशिशें अब तक नाकाम रही हैं।

पुलिस का कहना है कि दोनों पक्षों की आपस में सुलह हो जाती, लेकिन कुछ कट्टरपंथियों की वजह से ऐसा नहीं हो सका, क्योंकि वो लोग नहीं चाहते थे कि इनके बीच का तनाव समाप्त हो जाए। जिसकी वजह से बात बनते-बनते रह गई। 

अभी भी सुलह की कोशिशें की जा रही हैं। तनाव को कम करने के प्रयास में खोरीमहुआ एसडीएम धीरेंद्र सिंह, एसडीपीओ नवीन कुमार सिंह, जमुआ बीडीओ विनोद कर्मकार, सीओ रामबालक प्रसाद, पुलिस इंस्पेक्टर विनय राम ने दिन भर कसियोटोल एवं बदडीहा में कैंप किए। पुलिस ने कहा कि असामाजिक कार्य करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा। जो भी दोषी होंगे, उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही ऐहतियात के तौर पर कसियोटोल में पुलिस बल के जवान तैनात कर दिए गए हैं, ताकि मामला और न बिगड़े।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

डीजल डाल कर जला दिया दलित लखबीर का शव, चेहरा तक नहीं देखने दिया परिजनों को: ग्रामीणों ने किया बहिष्कार

डीजल डाल कर मोबाइल की रोशनी में दलित लखबीर सिंह के शव का अंतिम संस्कार कर दिया गया। शव से पॉलीथिन नहीं हटाया गया। परिजन चेहरा तक न देख पाए।

पश्चिम बंगाल में दुर्गा विसर्जन से लौट रहे श्रद्धालुओं पर बम से हमला, कई घायल, पुलिस ने कहा – ‘हमलावरों की अभी तक पहचान...

हमलावर मौके से फरार हो गए। सूचना पाकर पहुँची पुलिस ने लोगों की भीड़ को हटाकर मामला शांत किया और घायलों को अस्पताल भेजा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,199FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe