Friday, April 19, 2024
Homeदेश-समाजJNU का ठग: खुद को PMO का सलाहकार बता फर्जीवाड़ा करने वाला छात्र गिरफ्तार,...

JNU का ठग: खुद को PMO का सलाहकार बता फर्जीवाड़ा करने वाला छात्र गिरफ्तार, अरब भेज रहा था ₹2.23 करोड़ का माल

जेएनयू छात्र ने सऊदी अरब में फेस मास्क की खेप का निर्यात करने के लिए जाली नोटिफिकेशन जमा कराया था। साथ ही दिल्ली स्थित इंदिरा गाँधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से कस्टल क्लीयरेंस के लिए इसने कम्पनी से 7 लाख रुपए ठग लिए।

जेएनयू (JNU) के एक छात्र अनिकेत डे को धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार किया गया है। अनिकेत डे नामक ये छात्र न सिर्फ खुद को प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) का एडवाइजर (सलाहकार) बताता था, बल्कि इसने इस तरह का फर्जीवाड़ा कर के लाखों रुपए की हेराफेरी की है। 22 वर्षीय आरोपित जेएनयू (JNU) में एमए का छात्र है। अनिकेत पहले भी धोखाधड़ी के आरोप में गिरफ्तार हो चुका है। इस बार वो एक्सपोर्ट के नाम पर जालसाजी कर रहा था।

उक्त जेएनयू (JNU) छात्र ने सऊदी अरब में फेस मास्क की खेप का निर्यात करने के लिए जाली नोटिफिकेशन जमा कराया था। साथ ही दिल्ली स्थित इंदिरा गाँधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से कस्टल क्लीयरेंस के लिए इसने कम्पनी से 7 लाख रुपए ठग लिए थे। जब अधिकारियों ने अनिकेत डे से पूछा कि वो कौन है, तो उसने खुद को प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) में सलाहकार बताया। लेकिन, जाँच के बाद उसकी पोल खुल गई।

अधिकारियों ने तुरंत इसकी सूचना IGI एयरपोर्ट थाने को दी, जिसके बाद उसे गिरफ्तार कर लिया गया। उसके पास से PMO की नकली आईडी और विजिटिंग कार्ड भी बरामद किया गया है। पुलिस अब इस मामले की जाँच में जुटी है कि इससे पहले ये कितनों से इसी तरह एयरपोर्ट के नाम पर रुपए ऐंठ चुका है। एक कारोबारी को उसने 2.23 करोड़ रुपए का फेस मास्क सऊदी अरब भिजवाने का झाँसा दिया था।

‘अमर उजाला’ की खबर के अनुसार, पूर्वी दिल्ली में अनुज जैन नामक कारोबारी की कपड़ों की फैक्ट्री है, जिन्होंने लॉकडाउन में काम बंद होने के बाद फेस मास्क की सप्लाई शुरू की। उसकी मुलाकात जेएनयू (JNU) छात्र अनिकेत से हुई, जिसने उन्हें फेस मास्क की सप्लाई सऊदी अरब भिजवाने का झाँसा दिया। उसने 5 लाख रुपए एडवांस में ले लिए।  डायरेक्टर जनरल ऑफ फॉरेन ट्रेड (DGFT) की अनुमति वाला लेटर भी बनवा लिया गया।

जाँच में ये पत्र फर्जी निकला। इस मामले में सितम्बर 11, 2020 को ही एफआईआर दर्ज कराई गई थी। अनुज जैन ने भी ठगी का मामला गाजीपुर थाने में दर्ज कराया था। अब अनिकेत को असम से गिरफ्तार किया गया है। उसने अनुज जैन से कार भी ले रखी थी।  नोएडा की एमिटी यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन करने वाले अनिकेत ने ‘दी थ्री टेल्स’ नामक पुस्तक भी लिख रखी है। उसने कस्टम अधिकारियों को धमकाया भी था। वो साइबर एक्सपर्ट भी है।

वो सोशल मीडिया पर भी खुद को PMO का यूथ सलाहकार बता कर धौंस जताता था। सुरक्षा एजेंसियों को इसकी भनक तक नहीं लग पाई थी। उसने लॉकडाउन में अपना वीआईपी पास भी बनवा लिया था। साथ ही उसने कारोबारी अनुज का भी पास बनवाया था। 1 महीने पहले इन्हीं फर्जी दस्तावेजों के आधार पर उसने बेंगलुरु के एक होटल में कमरा बुक कराया था, जहाँ झगड़ा होने के बाद उसे गिरफ्तार किया गया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

लोकसभा चुनाव 2024 के पहले चरण में 21 राज्य-केंद्रशासित प्रदेशों के 102 सीटों पर मतदान: 8 केंद्रीय मंत्री, 2 Ex CM और एक पूर्व...

लोकसभा चुनाव 2024 में शुक्रवार (19 अप्रैल 2024) को पहले चरण के लिए 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों की 102 संसदीय सीटों पर मतदान होगा।

‘केरल में मॉक ड्रिल के दौरान EVM में सारे वोट BJP को जा रहे थे’: सुप्रीम कोर्ट में प्रशांत भूषण का दावा, चुनाव आयोग...

चुनाव आयोग के आधिकारी ने कोर्ट को बताया कि कासरगोड में ईवीएम में अनियमितता की खबरें गलत और आधारहीन हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe