Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजहरियाणा पुलिस ने नवजात का शव बाहर निकलवाया, डॉक्टरों का बोर्ड करेगा पोस्टमॉर्टम: भाजपा...

हरियाणा पुलिस ने नवजात का शव बाहर निकलवाया, डॉक्टरों का बोर्ड करेगा पोस्टमॉर्टम: भाजपा MP ने कहा- राजस्थान पुलिस पर हो हत्या की FIR

भरतपुर की बीजेपी सांसद रंजीता कोली ने भी इस घटना को लेकर राजस्थान पुलिस पर हत्या की FIR दर्ज करने की माँग की है। साथ ही राजस्थान पुलिस के खिलाफ राष्ट्रीय महिला और मानवाधिकार आयोग को पत्र लिखा है।

भरतपुर में गोरक्षक श्रीकांत कौशिक के नवजात शिशु की मौत के मामले में राजस्थान पुलिस घिरती दिख रही है। हरियाणा पुलिस ने मरोड़ा गाँव के श्मशान से नवजात शिशु का शव बाहर निकलवाया है। मौत के कारण का पता लगाने के लिए डॉक्टरों के बोर्ड से पोस्टमार्टम कराया जाएगा। राजस्थान पुलिस पर श्रीकांत की गर्भवती पत्नी से मारपीट का आरोप है, जिसके कारण नवजात की मौत होने की बात कही जा रही है। हालाँकि भरतपुर पुलिस इससे इनकार कर रही है। भिवानी में गो तस्कर जुनैद और नासिर के जले शव मिलने के बाद पुलिस श्रीकांत की तलाश कर रही है।

भरतपुर की बीजेपी सांसद रंजीता कोली ने भी इस घटना को लेकर राजस्थान पुलिस पर हत्या की FIR दर्ज करने की माँग की है। साथ ही महिला आयोग को भी पत्र लिखा है। भरतपुर पुलिस पर 16 फरवरी की सुबह श्रीकांत की तलाश में उसके घर पर दबिश देने और परिजनों को प्रताड़ित करने का आरोप है। श्रीकांत की गर्भवती पत्नी के पेट पर लात मारने का आरोप है। मारपीट की वजह से उसकी पत्नी दर्द से तड़पने लगी। उसे अस्पताल ले जाया गया और उसके गर्भ में पल रहा बच्चा मृत निकला। उसके मुँह से खून निकल रहा था।

बच्चे के शव का होगा पोस्टमार्टम

श्रीकांत की माँ दुलारी ने 18 फरवरी 2023 को हरियाणा के नूँह के नगीना थाने में शिकायत देते हुए राजस्थान पुलिस पर आरोप लगाया था। इस शिकायत पर हरियाणा पुलिस ने रविवार (19 फरवरी 2023) को मृत बच्चे का शव मरोड़ा गाँव के श्मशान से निकाला।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक नूंह जिले के पुलिस अधीक्षक वरुण सिंगला के मुताबिक श्रीकांत की माँ की शिकायत पर अभी केस दर्ज नहीं किया गया है। उनका कहना है कि पुलिस जाँच के साथ सबूत जुटा रही है। इस मामले में जिसका भी दोष सामने आएगा उस पर कार्रवाई की जाएगी।

भाजपा सांसद ने की कार्रवाई की माँग

राजस्थान के भरतपुर से भाजपा सांसद रंजीता कोली ने इस मामले में राजस्थान पुलिस के खिलाफ राष्ट्रीय महिला और मानवाधिकार आयोग को पत्र लिखा है। अपने पत्र में उन्होंने श्रीकांत की माँ के दुलारी आरोपों का जिक्र करते हुए आरोपित पुलिसकर्मियों पर हत्या की FIR दर्ज करने की माँग की है। भाजपा सांसद के मुताबिक किसी निर्दोष को किसी भी हाल में न फँसाया जाए।

राजस्थान पुलिस की सफाई

राजस्थान पुलिस ने खुद पर लगे आरोपों से इनकार किया है। भरतपुर के SP के मुताबिक श्रीकांत के परिजनों के आरोप गलत हैं और पुलिस उनके घर के अंदर गई ही नहीं थी। वहीं इस घटना में हरियाणा पुलिस के जवानों के शामिल होने के आरोपों पर नूंह के SP ने घटना की जाँच जिले की एडिशनल SP द्वारा कराए जाने की जानकारी दी है।

आरोपों पर कायम श्रीकांत का परिवार

श्रीकांत का परिवार राजस्थान पुलिस पर लगाए गए अपने आरोपों पर कायम है। ऑपइंडिया से बात करते हुए श्रीकांत के चाचा ने कहा कि राजस्थान पुलिस उनके घर में जबरन घुसी और उसकी मारपीट के चलते श्रीकांत की पत्नी को पेट में चोट आई जिससे बच्चा गर्भ में ही मर गया। श्रीकांत के चचेरे भाई विष्णु कौशिक ने भी राजस्थान पुलिस पर खुद को 40 घंटे तक अवैध हिरासत में रखने और टॉर्चर करने का आरोप लगाया है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -