Monday, August 15, 2022
Homeदेश-समाजप्रवीण नेट्टारू की हत्या में 2 और गिरफ्तार, नाम- सद्दाम और हैरिस: कर्नाटक में...

प्रवीण नेट्टारू की हत्या में 2 और गिरफ्तार, नाम- सद्दाम और हैरिस: कर्नाटक में घर लौटते वक्त BJYM नेता को कुल्हाड़ी से काटने का मामला

बताया जा रहा है कि हैरिस और सद्दाम उस गिरोह का हिस्सा हैं, जिसने प्रवीण नेट्टारू की हत्या की योजना बनाई थी। हत्या की साजिश सद्दाम की पोल्ट्री शॉप में रची गई थी।

प्रवीण नेट्टारू (Praveen Nettaru) की हत्या के मामले में दो और गिरफ्तारी हुई है। इनके नाम सद्दाम और हैरिस हैं। कर्नाटक के बेल्लारे में भाजपा युवा मोर्चा (BJYM) के नेता नेट्टारू की हत्या कर दी गई थी। इससे पहले इस मामले में शफीक और जाकिर को गिरफ्तार किया गया था।

SP ऋषिकेश सोनवणे ने बताया कि गिरफ्तार किए गए दोनों आरोपित बेल्लारे के पास पल्लीमाजालु के निवासी हैं। दोनों के खिलाफ बेल्लारे पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया गया है। शफीक और जाकिर से पूछताछ और सबूतों के आधार पर सद्दाम और हैरिस को गिरफ्तार किया गया है। कर्नाटक के गृह मंत्री अरागा ज्ञानेंद्र ने भी गिरफ्तारी की पुष्टि की है। TV9 कन्नड़ ने गृह मंत्री के हवाले से कहा है, “प्रवीण नेट्टारू की हत्या के मामले में बेंगलुरु से दो और आरोपितों को गिरफ्तार किया गया है। हमलावर कौन थे, इसकी जानकारी भी मिल गई है। 2-3 दिनों में, उन्हें भी गिरफ्तार कर लिया जाएगा। जाँच चल रही है, इसलिए ज्यादा जानकारी का खुलासा नहीं किया जा सकता है।”

TV9 कन्नड़ के अनुसार, हैरिस और सद्दाम उस गिरोह का हिस्सा हैं, जिसने भाजपा नेता की हत्या की योजना बनाई थी। बताया जा रहा है कि सद्दाम की पोल्ट्री शॉप में साजिश रची गई थी। हैरिस और उसके गिरोह ने पहले भी नेट्टारू को मारने की कोशिश की थी, मगर इसमें वह सफल नहीं हो पाया था। 

इससे पहले सोमवार (1 अगस्त 2022) को कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने आश्वासन दि\या था कि हत्यारों को जल्द से जल्द पकड़ लिया जाएगा। बोम्मई ने कहा था, “पुलिस को खुली छूट दे दी गई है और मामले में जाँच जारी है, जल्द से जल्द हत्यारों को ढूँढ निकाला जाएगा।” पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा था कि दो से तीन दिनों में मामले को आधिकारिक तौर पर NIA को सौंप दिया जाएगा।

प्रवीण की हत्या में अब तक 4 गिरफ्तारियाँ

प्रवीण नेट्टारू को 26 जुलाई को बेल्लारे में हमलावरों ने कुल्हाड़ी से उस वक़्त काट दिया था जब वे दुकान बंद कर घर जा रहे थे। इस मामले में पुलिस ने 28 जुलाई को जाकिर और शफीक को गिरफ्तार किया था। इन दोनों पर हत्या की साजिश रचने का आरोप है। इनके लिंक पीएफआई और एसडीपीआई से भी मिले हैं। शफीक के अब्बा इब्राहिम ने बताया था कि वह प्रवीण की दुकान में काम भी कर चुके हैं। उन्होंने कहा था, “जब मैं प्रवीण की दुकान में काम करता था तब मेरा बेटा और प्रवीण अक्सर बातें किया करते थे। प्रवीण अक्सर मेरे घर भी आता-जाता था। मुझे नहीं पता कि मेरे बेटे को क्यों गिरफ्तार किया गया है। हम मुस्लिम हैं इसलिए हमें निशाना बनाया जा रहा है। शफीक और जाकिर वैसे नहीं हैं, जैसा उन्हें बताने की कोशिश हो रही है।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

वो हिंदुस्तानी जो अभी भी नहीं हैं आजाद: PoJK के लोग देख रहे आशाभरी नजरों से भारत की ओर, हिंदू-सिखों का यहाँ हुआ था...

विभाजन की विभीषिका को भी भुलाया नहीं जा सकता। स्वतंत्रता-प्राप्ति का मूल्य समझकर और स्वतन्त्रता का मूल्य चुकाकर ही हम अपनी स्वतंत्रता को सुरक्षित और संरक्षित कर सकते हैं।

वे नहीं रहे… क्योंकि वे हिन्दू थे: अपनी नवजात बेटी को भी नहीं देख पाए गौ प्रेमी किशन भरवाड

27 वर्षीय हिंदू युवक किशन भरवाड़ को कट्टरपंथी मुस्लिमों ने 25 जनवरी 2022 को केवल हिंदू होने के कारण मार डाला था। वजह वही क्योंकि वे हिन्दू थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
213,977FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe