Thursday, July 25, 2024
Homeदेश-समाजकर्नाटक में मारे गए BJYM नेता से शफीक की पुरानी पहचान, प्रवीण की दुकान...

कर्नाटक में मारे गए BJYM नेता से शफीक की पुरानी पहचान, प्रवीण की दुकान में काम करते थे उसके अब्बा: गिरफ्तारी के बाद ‘मुस्लिम’ पहचान का रोना

"जब मैं प्रवीण की दुकान में काम करता था तब मेरा बेटा और प्रवीण अक्सर बातें किया करते थे। प्रवीण अक्सर मेरे घर भी आता-जाता था। मुझे नहीं पता कि मेरे बेटे को क्यों गिरफ्तार किया गया है।"

कर्नाटक में भाजपा युवा मोर्चा (BJYM) के नेता प्रवीण प्रवीण नेट्टारू की हत्या के सिलसिले में गुरुवार (28 जुलाई 2022) को शफीक बेल्लारे और जाकिर सावानुरू को गिरफ्तार किया गया था। अब यह बात सामने आई है कि शफीक और प्रवीण की जान-पहचान थी। प्रवीण की दुकान में शफीक के इब्राहिम काम भी कर चुके हैं। इनका एक-दूसरे के घर भी आना-जाना था। हालाँकि इब्राहिम का कहना है कि मुस्लिम होने के चलते उसके बेटे को पुलिस इस मामले में फँसा रही है।

इंडिया टुडे को इब्राहिम ने बताया, “जब मैं प्रवीण की दुकान में काम करता था तब मेरा बेटा और प्रवीण अक्सर बातें किया करते थे। प्रवीण अक्सर मेरे घर भी आता-जाता था। मुझे नहीं पता कि मेरे बेटे को क्यों गिरफ्तार किया गया है। हम मुस्लिम हैं इसलिए हमें निशाना बनाया जा रहा है। शफीक और जाकिर वैसे नहीं हैं, जैसा उन्हें बताने की कोशिश हो रही है।”

वहीं शफीक की बीवी ने कहा, “हाँ, वे PFI से जुड़े हैं। वे संगठन के लिए सोशल वर्कर के तौर पर काम करते थे। लेकिन प्रवीण की हत्या की उन्हें जानकारी नहीं थी।” एक रिपोर्ट के मुताबिक 29 वर्षीय जाकिर पुत्तुर के सवनूर में फास्ट फ़ूड की दुकान चलाता है। वहीं शफीक सुल्लिया क्षेत्र की एक सुपारी शॉप पर काम करता है। अदालत ने दोनों को 11 अगस्त तक की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। बता दें कि इस मामले में गुरुवार को पुलिस ने 21 और संदिग्धों को हिरासत में लिया था। इनके लिंक PFI और SDPI से बताए जा रहे हैं।

प्रवीण के परिजनों से मिले मुख्यमंत्री

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोम्मई ने 28 जुलाई 2022 को प्रवीण के परिजनों से मुलाक़ात की है। इस दौरान उन्होंने पीड़ित परिवार को 25 लाख रुपए का चेक भी सौंपा। साथ ही उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ी तो राज्य में अशांति फैलाने की कोशिश कर रहे राष्ट्र विरोधी और सांप्रदायिक तत्वों से निपटने के लिए ‘योगी मॉडल’ को लागू किया जाएगा।

गौरतलब है कि दक्षिण कन्नड़ जिले की बेल्लारे में मंगलवार (26 जुलाई 2022) की रात करीब 9 बजे भाजपा नेता प्रवीण की कुल्हाड़ी से हमला कर हत्या कर दी गई थी। यह हमला तब हुआ जब वे बाइक से घर जा रहे थे।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘तुमलोग वापस भारत भागो’: कनाडा में अब सांसद को ही धमकी दे रहा खालिस्तानी पन्नू, हिन्दू मंदिर पर हमले का विरोध करने पर भड़का

आर्य ने कहा है कि हमारे कनाडाई चार्टर ऑफ राइट्स में दी गई स्वतंत्रता का गलत इस्तेमाल करते हुए खालिस्तानी कनाडा की धरती में जहर बोते हुए इसे गंदा कर रहे हैं।

मुजफ्फरनगर में नेम-प्लेट लगाने वाले आदेश के समर्थन में काँवड़िए, सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद बोले – ‘हमारा तो धर्म भ्रष्ट हो गया...

एक कावँड़िए ने कहा कि अगर नेम-प्लेट होता तो कम से कम ये तो साफ हो जाता कि जो भोजन वो कर रहे हैं, वो शाका हारी है या माँसाहारी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -