Monday, June 24, 2024
Homeराजनीतिकर्नाटक में कॉन्ग्रेस को अपने विधायकों के बिकने का डर, बेंगलुरु लाने के लिए...

कर्नाटक में कॉन्ग्रेस को अपने विधायकों के बिकने का डर, बेंगलुरु लाने के लिए फ्लाइट-चॉपर-रिजॉर्ट का किया इंतजाम: रिपोर्ट्स

कॉन्ग्रेस ने फ्लाइट और हेलीकॉप्टर भी बुक कर दिए हैं ताकि जीतने वाले विधायकों को बेंगलुरु पहुँचाया जा सके। रिपोर्ट के अनुसार, विधायकों के लिए कुछ खास व्यवस्थाएँ की गई हैं ताकि कोई पार्टी उन्हें खरीद न सके।

कर्नाटक में रुझानों में आगे निकलने के बाद अब कॉन्ग्रेस ने अपने जीतने वाले विधायकों को एक जगह इकट्ठा करना शुरू कर दिया है। पार्टी ने विधायकों की खरीद-फरोख्त के डर से अपने प्रत्याशियों को बेंगलुरु बुलाया है। वहीं कॉन्ग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को सारी स्थिति संभालने को कहा गया है।

टाइम्स नाऊ की खबर में सूत्रों के हवाले से कहा गया है कि कॉन्ग्रेस ने फ्लाइट और हेलीकॉप्टर भी बुक कर दिए हैं ताकि जीतने वाले विधायकों को बेंगलुरु पहुँचाया जा सके। रिपोर्ट के अनुसार, विधायकों के लिए कुछ खास व्यवस्थाएँ की गई हैं, उन्हें रखने के लिए रिजॉर्ट का इंतजाम किया गया है। ताकि कोई पार्टी उन्हें खरीद न सके या फिर उनके विधायक भी लालच में दूसरे पाले में न जा सकें।

बता दें कि कर्नाटक विधानसभा चुनावों के नतीजों की तस्वीर में लगातार कॉन्ग्रेस आगे चल रही है। लेकिन बावजूद इसके उन्हें अपने पार्टी के विधायकों पर भरोसा नहीं है। साल 2019 में चुनाव के बाद कॉन्ग्रेस और जेडीएस के 17 विधायकों ने अपनी पार्टियों से इस्तीफा देकर भाजपा को ज्वाइन किया था। इसके बाद कुमारस्वामी सरकार गिर गई थी और भाजपा ने अपनी सरकार राज्य में बनाई थी।

इस समय सामने आ रहे मतगणना के रुझानों में 224 विधानसभा सीट में कॉन्ग्रेस को 110 सीटों से ज्यादा मिलती दिख रही हैं। ऐसे में लगातार सवाल उठ रहा है कि स्थिति कहीं 2019 जैसी न हो। फिलहाल कॉन्ग्रेस के कार्यकर्ता जश्न में डूबे हुए हैं। उन्होंने चुनाव से पहले आरोप लगाए थे कि ईवीएम साउथ अफ्रीका से आई है। अब उन्हें उसका भी ख्याल नहीं है। महासचिव प्रियंका गाँधी ने मंदिर जाकर पूजा अर्छना की है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों के आंदोलन से तंग आ गए स्थानीय लोग: शंभू बॉर्डर खुलवाने पहुँची भीड़, अब गीदड़-भभकी दे रहे प्रदर्शनकारी

किसान नेताओं ने अंबाला शहर अनाज मंडी में मीडिया बुलाई, जिसमें साफ शब्दों में कहा कि आंदोलन खराब नहीं होना चाहिए। आंदोलन खराब करने वाला खुद भुगतेगा।

‘PM मोदी ने किया जी अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का उद्घाटन, गिर गई उसकी दीवार’: News24 ने फेक न्यूज़ परोस कर डिलीट की ट्वीट,...

अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन से जुड़े जिस दीवार के दिसंबर 2023 में बने होने का दावा किया जा रहा है, वो दावा पूरी तरह से गलत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -