Wednesday, May 22, 2024
Homeदेश-समाजहिंदुओं की दुकान से खरीदारी पर मुस्लिम महिलाओं को कट्टरपंथियों ने धमकाया, गाली-गलौज की:...

हिंदुओं की दुकान से खरीदारी पर मुस्लिम महिलाओं को कट्टरपंथियों ने धमकाया, गाली-गलौज की: देखें Video

एक वीडियो में मुस्लिम भीड़ ने दावणगेरे की सड़कों पर मुस्लिम महिलाओं के एक समूह से सवाल-जवाब करना शुरू कर दिया, जो हिंदू दुकान से खरीददारी करने निकली थीं।

कर्नाटक के दावणगेरे जिले से एक चौंकाने वाली घटना सामने आई है। यहाँ मुस्लिम गुंडे हिंदुओं की दुकान से सामान खरीदने वाली मुस्लिम महिलाओं को निशाना बना रहे हैं।

इससे संबंधित कई वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। वीडियो में हिंदू दुकान से सामान खरीदने पर मुस्लिम महिलाओं के मुस्लिम भीड़ को साथ गाली-गलौज करते हुए देखा जा सकता है। एक वीडियो में मुस्लिम भीड़ ने दावणगेरे की सड़कों पर मुस्लिम महिलाओं के एक समूह से सवाल-जवाब करना शुरू कर दिया, जो हिंदू दुकान से खरीददारी करने निकली थीं।

वीडियो में देखा जा सकता है कि रमजान के पवित्र महीने में जैसे ही हिंदुओं के स्वामित्व वाली एक लोकप्रिय कपड़े की दुकान ‘बीएस चन्नबसप्पा एंड संस’ से बुर्का-पहने महिलाएँ बाहर निकलती हैं कि मुस्लिमों की भीड़ उन पर आक्रामक हो जाती है। उनको चारों तरफ से घेर लिया जाता है और सवाल-जवाब किए जाते हैं।

इतना ही नहीं उनके हाथ से कपड़ों की थैली भी छीन ली जाती है और कपड़े रखकर थैली को फेंक दी जाती है। शायद इसलिए क्योंकि उस थैली का रंग ‘भगवा’ था। वीडियो में महिलाओं को आक्रामक मुस्लिम भीड़ से जाने देने की विनती करते हुए देखा जा सकता है।

इसी घटना का एक दूसरा वीडियो में देखा जा सकता है कि कैसे मुस्लिम मुस्लिम महिलाओं को हिंदू स्टोर से खरीदे गए सामान को वापस करने के लिए मजबूर किया जाता है।

एक लड़का बुर्का पहने मुस्लिम महिला के हाथ से नारंगी रंग के थैले छीन लेता है और फिर मुस्लिम भीड़ दो मुस्लिम महिलाओं को ऑटो में बैठने के लिए मजबूर करता है, ताकि वो हिंदू दुकान जाकर सामान वापस करके आएँ।

इसी तरह, एक अन्य मुस्लिम भीड़ ने दावणगेरे शहर के एक अन्य हिस्से में इसी तरह एक दुकान पर खरीददारी के लिए गई दो महिलाओं और एक बच्चे को धमकी दी। वीडियो में देखा जा सकता है कि उर्दू में बात कर रहे एक शख्स बुर्का पहने महिला और उसके बच्चे को कपड़े की दुकान में प्रवेश नहीं करने के लिए धमकाता है। बताया जा रहा है कि यह घटना दावणगेरे शहर के क्लॉक टॉवर के पास की है।

उर्दू में बोलने वाली भीड़ को महिलाओं को ‘मालाबार कॉटन्स’ नामक दुकान पर कपड़े खरीदने के लिए धमकाते हुए देखा जा सकता है और बार-बार यह कहते हैं कि वह लगातार चेतावनी देने के बावजूद उस दुकान पर क्यों गईं।

एक डरा हुआ बच्चा भी यह कहते हुए देखा गया कि उन्होंने दुकान से कुछ नहीं खरीदा। हालाँकि ऑपइंडिया इस बात की पुष्टि नहीं कर सका कि ‘मालाबार कॉटन्स’ का मालिक हिन्दू है, मगर वीडियो देखकर लगता है कि यह हाल का ही है, क्योंकि कोरोना वायरस और लॉकडाउन की वजह से लोगों को मास्क पहने हुए देखा जा सकता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जम्मू-कश्मीर में फिर से 370 बहाल करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार, कहा- फैसला सही था: CJI की बेंच ने पुनर्विचार याचिकाओं को किया...

सुप्रीम कोर्ट ने जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने पर दिए गए निर्णय को लेकर दाखिल पुनर्विचार याचिकाओं को खारिज कर दिया।

‘दिखाता खुद को सेकुलर है, पर है कट्टर इस्लामी’ : हिंदू पीड़िता ने बताया आकिब मीर ने कैसे फँसाया निकाह के जाल में, ठगे...

पीड़िता ने ऑपइंडिया को बताया कि आकिब खुद को सेकुलर दिखाता है, लेकिन असल में वो है इस्लामवादी। उसने महिला से कहा हुआ था वह हिंदू देवताओं को न पूजे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -