Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजकर्नाटक में 'लव जिहाद': शिल्पा ने चूहे मारने की दवा खाकर दे दी जान,...

कर्नाटक में ‘लव जिहाद’: शिल्पा ने चूहे मारने की दवा खाकर दे दी जान, शादीशुदा अजीज पर ब्लैकमेल करने और इस्लाम कबूलने का दबाव बनाने का आरोप

अजीज पहले से शादीशुदा था लेकिन उसने शिल्पा से शादी का वादा किया। वह शिल्पा को अक्सर अपने घर बुलाने लगा। इस दौरान अजीज ने मृतका का शारीरिक शोषण भी किया।

कर्नाटक के उडुप्पी जिले में शिल्पा देवडिगा नाम की एक लड़की ने 23 मई 2022 (सोमवार) को जहर खा लिया था। हिन्दू संगठनों ने इस घटना में लव जिहाद का आरोप लगाया है। वहीं मृतका के परिजनों ने पुलिस में शिकायत दे कर अजीज नाम के व्यक्ति पर शिल्पा पर इस्लाम कबूलने का दबाव बनाने और इसके लिए ब्लैकमेल करने का आरोप लगाया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक मामला कुंडापुर शहर के पास उप्पिनकुद्रु गाँव का है। मृतका की उम्र 25 साल थी। बताया जा रहा है कि शिल्पा 3 साल से एक कपड़े की दुकान पर काम करती थी। काम से पहले वो ट्यूशन पढ़ती थी जहाँ उसकी मुलाक़ात कोटेश्वर के रहने वाले अजीज से हुई। अजीज पहले से शादीशुदा था लेकिन उसने शिल्पा से शादी का वादा किया। वह शिल्पा को अक्सर अपने घर बुलाने लगा। इस दौरान अजीज ने मृतका का शारीरिक शोषण भी किया।

आरोपित अजीज की उम्र 32 साल है। मृतका के भाई के मुताबिक अजीज ने उसकी बहन को कई अश्लील फोटो भी भेजे थे। इस बीच किसी बात पर आरोपित अजीज ने शिल्पा के ऑफिस में आ कर उसे धमकी भी दे डाली थी। शिल्पा इस अपमान से आहत थी। आरोप है कि उसने इसी की वजह से जहर खा लिया था। कहा जा रहा है कि जहर के रूप में शिल्पा ने चूहे मारने वाली दवा का प्रयोग किया।

इस घटना की शिकायत कुंदापुरा थाने में की गई है। शिल्पा को ब्लैकमेल करने में आरोपित अजीज की पत्नी सलमा अजीज को भी शामिल बताया जा रहा है। शिल्पा के परिवार वालों का आरोप है कि उस पर निकाह और इस्लाम कबूलने का दबाव बनाया जा रहा था। ऐसा न करने पर उसकी अश्लील वीडियो और तस्वीरें वायरल करने की धमकी दी जाती थी। मृतका के घर से पुलिस ने एक चिट्ठी भी बरामद की है। यह चिट्ठी शिल्पा की बताई जा रही है। कहा जा रहा है कि इस चिट्ठी में शिल्पा ने अपने शोषण की बातों को कविता के रूप में लिखा है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, 11वीं सदी का शिलालेख है साक्ष्य!!

नालंदा विश्वविद्यालय को ब्राह्मणों ने ही जलाया था, बख्तियार खिलजी ने नहीं। ब्राह्मण+बुर्के वाली के संभोग को खोद निकाला है इस इतिहासकार ने।

10 साल जेल, ₹1 करोड़ जुर्माना, संपत्ति भी जब्त… पेपर लीक के खिलाफ आ गया मोदी सरकार का सख्त कानून, NEET-NET परीक्षाओं में गड़बड़ी...

परीक्षा आयोजित करने में जो खर्च आता है, उसकी वसूली भी पेपर लीक गिरोह से ही की जाएगी। केंद्र सरकार किसी केंद्रीय जाँच एजेंसी को भी ऐसी स्थिति में जाँच सौंप सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -