Thursday, June 13, 2024
Homeदेश-समाजकरणी सेना अध्यक्ष ने कॉन्ग्रेस पर किया था आखिरी ट्वीट: बिश्नोई-बराड़ के गैंगस्टर ने...

करणी सेना अध्यक्ष ने कॉन्ग्रेस पर किया था आखिरी ट्वीट: बिश्नोई-बराड़ के गैंगस्टर ने ली हत्या की जिम्मेदारी, कहा – हमारे दुश्मन चौखट पर अर्थी तैयार रखें

उसने खुद को लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बराड़ गैंग का बताया है। रोहित गोदारा बीकानेर के एक ज्वेलर से 5 करोड़ रुपए की रंगदारी भी माँग चुका है।

राजस्थान की राजधानी जयपुर में मंगलवार (5 दिसंबर, 2023) को करणी सेना के अध्यक्ष सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की हत्या कर दी गई। CCTV वीडियो में देखा जा सकता है कि उनके घर में बातचीत करने आए हमलावरों ने अचानक उन पर गोली चलानी शुरू कर दी। 2017 में गैंगस्टर आनंदपाल सिंह की हत्या के बाद उसके शव के साथ प्रदर्शन में वो सक्रिय रहे थे। साथ ही ‘पद्मावत’ फिल्म को लेकर निर्देशक संजय लीला भंसाली के खिलाफ उन्होंने विरोध प्रदर्शन किया था।

केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने खुद को इस हत्याकांड से स्तब्ध बताते हुए कहा कि उन्होंने पुलिस कमिश्नर से मामले की जानकारी ली और आरोपितों की जल्द गिरफ़्तारी के लिए कहा है। उन्होंने आश्वासन दिया कि भाजपा सरकार शपथ लेते ही कानून-व्यवस्था पर ध्यान केंद्रित करेगी। साथ ही उन्होंने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की। पूर्व नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने भी आरोपितों की गिरफ़्तारी के लिए पुलिस-प्रशासन से माँग की है।

बाड़मेर के शिव से निर्दलीय विधायक रवींद्र सिंह भाटी ने भी कहा है कि इस घटना की जितनी निंदा की जाए कम है, दोषियों को बख्शा नहीं जाना चाहिए। सुखदेव सिंह गोगामेड़ी पर 20 सेकेण्ड में ताबड़तोड़ 17 राउंड गोलियाँ दागी गईं। इस दौरान उनके गार्ड ने जवाबी गोलीबारी की, जिसमें हमलावरों में से एक नवीन सिंह शेखावत की मौत हो गई। दोपहर 1:05 में 3 व्यक्ति उनके दफ्तर में पहुँचे और 10 मिनट तक बातचीत की। जब वो जमीन से लुढ़क गए तो उनके पास जाकर सिर में गोली मारी गई।

हमले के दौरान सुखदेव सिंह गोगामेड़ी कागनमैन भी कमरे में ही मौजूद था। रहित गोदारा ने इस हमले की जिम्मेदारी लेते हुए कहा है, “सुखदेव सिंह गोगामेड़ी हमारे दुश्मनों से मिल कर उनका सहयोग करता था। उन्हें पूर्ण रूप से मजबूत करने का काम करता था। हमने ही उसकी हत्या करवाई है। रही बात हमारे दुश्मनों की तो वो अपने घर की चौखट पर अर्थी तैयार रखें। जल्द ही उनसे भी मुलाकात होगी।” हालाँकि, इस पोस्ट की पुष्टि नहीं हुई है। ‘रोहित गोदारा कपूरीसर’ नामक फेसबुक पेज से ये पोस्ट आया।

उसने खुद को लॉरेंस बिश्नोई और गोल्डी बराड़ गैंग का बताया है। रोहित गोदारा बीकानेर के एक ज्वेलर से 5 करोड़ रुपए की रंगदारी भी माँग चुका है। जून 2023 में उसने धमकी दी थी कि पैसे नहीं मिले तो वो उन्हें मरवा देगा, बीकानेर में उसके 2000 लोग हैं। करणी सेना के नेता सूरजपाल सिंह ‘अम्मू’ ने कहा कि हमारे बार-बार सुरक्षा माँगने के बावजूद नहीं दी गई। सुखदेव सिंह गोगामेड़ी जून 2013 में राजस्थान में विधानसभा चुनाव भी लड़ चुके हैं। उन्होंने चूरू स्थित भादरा से बसपा से चुनाव लड़ा था और तीसरे स्थान पर रहे थे।

उनका असली नाम सुखदेव सिंह शेखावत था, उन्होंने अपने गाँव का नाम ‘गोगामेड़ी’ अपने नाम में लगा लिया था। उनके पिता का नाम अंचल सिंह था। सुखदेव 50 साल के थे। भरवाना स्थित राजकीय उच्च प्राथमिक विद्यालय से उन्होंने पढ़ाई की थी। स्कूल के दिनों में वो अच्छे धावक हुआ करते थे। अगस्त 2023 में उन्होंने 2100 फ़ीट का तिरंगा झंडा भादरा में लहराया था। वो कॉन्ग्रेस पार्टी से विधानसभा चुनाव भी लड़ना चाहते थे।

राजस्थान में 3 दिसंबर को हुई मतगणना के बाद उन्होंने शाम 6:07 में अपना अंतिम ट्वीट किया था। इसमें उन्होंने लिखा था, “राजस्थान विधानसभा चुनाव 2023 हुए हैं, इसमें कॉन्ग्रेस की गलत टिकट वितरण और करणी सेना की अनदेखी करने के कारण शर्मनाक हार हुई है। हमारे विधानसभा भादरा में कुल 3669 में रह गई। पाँचवें नंबर पर रही है। आला कमान को ध्यान देना चाहिए।” उनकी हत्या के बाद हमलावर एक महिला की स्कूटी छीन कर भाग निकले।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘कश्मीर समस्या का इजरायल जैसा समाधान’ वाले आनंद रंगनाथन का JNU में पुतला दहन प्लान: कश्मीरी हिंदू संगठन ने JNUSU को भेजा कानूनी नोटिस

जेएनयू के प्रोफेसर और राजनीतिक विश्लेषक आनंद रंगनाथन ने कश्मीर समस्या को सुलझाने के लिए 'इजरायल जैसे समाधान' की बात कही थी, जिसके बाद से वो लगातार इस्लामिक कट्टरपंथियों के निशाने पर हैं।

शादीशुदा महिला ने ‘यादव’ बता गैर-मर्द से 5 साल तक बनाए शारीरिक संबंध, फिर SC/ST एक्ट और रेप का किया केस: हाई कोर्ट ने...

इलाहाबाद हाई कोर्ट में जस्टिस राहुल चतुर्वेदी और जस्टिस नंद प्रभा शुक्ला की बेंच ने इस मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि सबूत पेश करने की जिम्मेदारी सिर्फ आरोपित का ही नहीं है, बल्कि शिकायतकर्ता का भी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -