Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाजबिस्तर पर शौच करने पर सेबिन क्रिश्चिन ने बुजुर्ग पिता का गला दबा कर...

बिस्तर पर शौच करने पर सेबिन क्रिश्चिन ने बुजुर्ग पिता का गला दबा कर मार डाला: हत्या से पहले लात-घूसों से पीटा, पुलिस से बोला – गुस्से में था

केरल के अलाप्पुझा में 26 साल के सेबिन क्रिश्चियन ने अपने 65 साल के पिता सेबेस्टियन को मार डाला। बुजुर्ग की गलती इतनी थी कि उन्होंने बिस्तर पर शौच कर दिया था।

केरल के अलाप्पुझा में सेबिन क्रिश्चियन (26) नाम के शख्स ने अपने बुजुर्ग दिव्यांग पिता सेबिस्टियन (65) को बेरहमी से पीट-पीटकर मार डाला। बुजुर्ग की गलती बस इतनी थी कि उन्होंने बिस्तर पर शौच कर दिया था और खाना खाने से मना कर रहे थे। इतनी सी बात पर नाराज होकर उनके बड़े बेटे ने उनकी जान ले ली।

पुलिस जाँच में सेबिन का अपराध सामने आने के बाद उसे शुक्रवार (24 नवंबर 2023) को गिरफ्तार किया गया। इसके बाद कोर्ट में भेजकर उसे हिरासत में लिया गया। पुलिस आगे की जाँच के लिए उसकी हिरासत बढ़वाने की याचिका कोर्ट में दायर करेगी।

एक पुलिस अधिकारी के मुताबिक “सेबिन ने पिता सेबस्टियन पर हिंसक हमला किया था। पहले उसने उनके सिर पर वॉकर से हमला किया। इससे वो बिस्तर से गिर गए। इस पर भी आरोपित नहीं रुका और उसने पिता को थप्पड़ और लात मारना जारी रखा। उनके दर्द से चिल्लाने पर सेबिन ने उनका गला दबा दिया।”

पुलिस के मुताबिक, आरोपित बेटे ने बताया कि उसने ये कदम गुस्से में उठाया था।

दरअसल अलाप्पुझा में पुन्नप्रा के रहने वाले सेबेस्टियन ने बिस्तर पर शौच करने के बाद कुछ भी खाने से इनकार कर दिया था। इससे बेटा सेबिन गुस्से में आग बबूला हो उठा और उसने मंगलवार (21 नवंबर,2023) को उनकी जान ले ली।

हत्या का राज तब खुला जब बुधवार (22 नवंबर,2023) को आरोपित बेटा सेबिन उन्हें वंदनम मेडिकल कॉलेज लेकर गया। उसने डॉक्टरों को बताया कि उसके पिता सेबस्टियन को बिस्तर से गिरने के बाद चोटें आई हैं। हालाँकि चेक अप के दौरान डॉक्टरों को उनकी मौत पर संदेह हो गया। जाँच की गई तो साफ हुआ कि ये सामान्य मौत नहीं, बल्कि हत्या है।

मेडिकल जाँच में मौत की वजह सिर और गर्दन पर घातक चोटों को बताया गया। इसके बाद पुन्नप्रा स्टेशन हाउस ऑफिसर लाइसाद मुहम्मद के नेतृत्व में एक पुलिस टीम ने इसकी जाँच की।

कई साल पहले हुई एक कार हादसे के बाद से सेबेस्टियन बिस्तर पर पड़े रहने को मजबूर थे। तब से उनकी पत्नी ही उनकी देखभाल करती थी, लेकिन पत्नी की आठ महीने पहले ही कैंसर से मौत गई थी। इसके बाद से सेबेस्टियन के बच्चे उनकी देखभाल करता था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -