Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाजकेरल में मंदिर के बाहर मुस्लिम लीग का झंडा, हिंदू कार्यकर्ताओं ने शूटिंग पर...

केरल में मंदिर के बाहर मुस्लिम लीग का झंडा, हिंदू कार्यकर्ताओं ने शूटिंग पर जताया एतराज तो कर लिए गए गिरफ्तार

जिस दृश्य की शूटिंग की जा रही थी उसमें मंदिर से बाहर आ रही एक लड़की (जिसने हिन्दू परिधान पहन रखा था) को एक मजहबी परिधान वाले व्यक्ति की ओर आकर्षित होते हुए दिखाया जा रहा था।

केरल के पलक्कड़ जिले के कदामपसीपुरम (Katampazhipuram) से सटे श्रीकृष्णापुरम में शनिवार (10 अप्रैल 2021) को हिंदू कार्यकर्ताओं ने ‘नियम नाड़ी (Neeyam Nadhi)’ नामक फिल्म की शूटिंग रुकवा दी। इस फिल्म का निर्देशन आशिक, शीनू और सलमान मिलकर कर रहे हैं।

रिपोर्ट्स के अनुसार वलियायमकुन्नु भगवती मंदिर (Vayillyam Kunnu Bhagavathi Temple) के बाहर कुछ लोग इकट्ठा हुए और उन्होंने फिल्म के एक दृश्य की शूटिंग शुरू कर दी। इस दृश्य में मंदिर से बाहर आ रही एक लड़की (जिसने हिन्दू परिधान पहन रखा था) को एक दूसरे मजहब (इस्लाम) के व्यक्ति की ओर आकर्षित होते हुए दिखाया जा रहा था। मंदिर के बाहर जान-बूझकर फिल्माए जाने वाले ऐसे आपत्तिजनक दृश्यों के खिलाफ हिन्दू कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन शुरू कर दिया।

इसके अलावा उन्होंने मंदिर के बाहर मुस्लिम लीग और स्टूडेंट फेडरेशन ऑफ इंडिया (एसएफआई) के हरे और लाल झंडे लगाने पर भी आपत्ति दर्ज कराई। हिंदुओं के प्रदर्शन के बाद पुलिस फिल्म बनाने वालों को दूसरी जगह लेकर गई। पुलिस ने केस दर्ज कर जाँच शुरू कर दी है।

5 हिन्दू कार्यकर्ता गिरफ्तार

घटना के बाद श्रीकृष्णपुरम पुलिस ने श्रीजीत, सच्चिदानंदन, सुब्रमण्यिन, बाबू और सबरीश को गिरफ्तार कर लिया। इन सभी को अवैध एकत्रीकरण और हिंसा भड़काने के आरोप में गिरफ्तार किया गया। फिल्म के लेखक सलमान फारिस ने कहा, “पहला दृश्य एक लड़की के मंदिर से बाहर आने का था जो फिल्माया जा चुका था। जैसे ही हमारे क्रू मेंबर्स दूसरा दृश्य फिल्माने लगे तो कुछ स्थानीय लोगों ने हंगामा करना शुरू कर दिया।  

सलमान ने यह भी आरोप लगाया कि इस हंगामे में एक 13 वर्ष की लड़की भी घायल हुई है और कुर्सियों और कैमरों को भी तोड़ दिया गया है। शूट के दौरान एसएफआई और मुस्लिम लीग के झंडों के विषय में पूछने पर उसने कहा कि शूटिंग मंदिर के बाहर हो रही थी और इसे ‘वर्क ऑफ आर्ट’ के तौर पर स्वीकार करना चाहिए। फारिस ने कहा कि उसे मंदिर प्रबंधन ने ही 3000 रुपए प्रतिदिन के किराए पर शूटिंग की मौखिक अनुमति दी थी।  

मंदिर प्रबंधन द्वारा नहीं दी गई थी अनुमति

भाजपा के जिला अध्यक्ष ई कृष्णदास ने कहा कि न तो देवस्वोम बोर्ड द्वारा और न ही मंदिर प्रबंधन के द्वारा कोई अनुमति दी गई थी। डेक्कन हेराल्ड की रिपोर्ट के अनुसार वलियायमकुन्नु मंदिर के कार्यकारी अधिकारी ने कहा कि उन्हें मंदिर में शूटिंग की कोई भी अनुमति दिए जाने की कोई जानकारी नहीं है। मंदिर प्रशासन इस मुद्दे पर याचिका दायर करने का विचार भी कर रहा है। ई कृष्णदास ने कहा कि फिल्म के दृश्य मंदिर के भक्तों की आस्था को आहत करते हैं और वो लगातार फिल्म ‘नियम नाड़ी’ के विरुद्ध प्रदर्शन करते रहेंगे।  

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हिंदू लड़की का Video किया वायरल, हिंदुओं पर ही हमला, घर छोड़कर भागे भी हिंदू: यह पाकिस्तान नहीं, झारखंड के एक गाँव में ‘बांग्लादेशी...

हिंदुओं के घरों में तोड़फोड़ का आरोप भाजपा नेताओं ने बांग्लादेशी घुसपैठियों पर लगाया है। बाबू लाल मरांडी ने कहा- झारखंड को तालिबान नहीं बनने देंगे।

अब तक 39 मौतें, स्कूल-कॉलेज-इंटरनेट बंद, सरकारी मीडिया के मुख्यालय पर हमला: ‘आरक्षण’ की आग में जल रहा बांग्लादेश, भारत ने जारी की एडवाइजरी

भारत के पड़ोसी देश बांग्लादेश में आरक्षण को लेकर हो रहे प्रदर्शन हिंसक होता जा रहा है। इस प्रदर्शन में अब तक 39 मौतें हो चुकी हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -