Saturday, May 25, 2024
Homeदेश-समाजफेसबुक, प्यार और ब्लैकमेल: शादी से इनकार करने पर 35 साल की महिला ने...

फेसबुक, प्यार और ब्लैकमेल: शादी से इनकार करने पर 35 साल की महिला ने केरल में युवक के चेहरे पर फेंका तेजाब, एक आँख की गई रोशनी

चर्च में लगे CCTV फुटेज निकाले। फुटेज में साफ़ दिख रहा है कि शीबा ने अचानक अरुण के चेहरे पर तेज़ाब फेंक दिया। इस दौरान शीबा भी आंशिक रूप से घायल हो गई। फुटेज के आधार पर पुलिस ने शीबा को गिरफ्तार कर लिया।

केरल के इडुक्की में एक शादीशुदा महिला ने शादी से मना करने पर एक युवक के ऊपर तेजाब फेंक दिया है। इस घटना में युवक बुरी तरह घायल हो, जिसे इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। युवक की उम्र 28 वर्ष और आरोपित महिला 35 साल की बताई जा रही है। फेसबुक के जरिए दोनों में जान पहचान हुई थी। घटना 16 नवम्बर 2021 (मंगलवार) की है। पुलिस के अनुसार महिला को गिरफ्तार कर लिया गया है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, तेजाब के कारण घायल युवक की आँखों को काफी नुकसान पहुँचा है। डॉक्टरों ने बताया कि तेजाब के कारण युवक के एक आँख की रोशनी चली गई है। युवक का नाम अरुण कुमार है और वह तिरुवनंतपुरम के निवासी हैं। उसका इलाज तिरुवनंतपुरम के मेडिकल कॉलेज में चल रहा है। पुलिस ने अस्पताल जाकर घायल युवक का बयान दर्ज किया है।

आरोपित महिला का नाम शीबा है और वह 2 बच्चों की माँ है। अरुण से उसकी मुलाकात दो साल पहले फेसबुक पर हुई थी। इस दौरान दोनों ने मोबाईल नंबर शेयर किए और दोनों में बातचीत होने लगी। कुछ समय बाद पीड़ित को पता चला कि शीबा शादीशुदा और 2 बच्चों की माँ है। इसके बाद अरुण शीबा से दूरी बनाने लगा।

अरुण के इरादे को देखकर शीबा पीड़ित पर शादी का दबाव बनाने लगी, लेकिन वह तैयार नहीं हुआ। इसके बाद शीबा पीड़ित अरुण को ब्लैकमेल करने लगी और उससे पैसे की माँग करने लगी। इसी ब्लैकमेलिंग का पैसे लेने के लिए शीबा ने अरुण को आदिमाली के करीब एक चर्च में बुलाया था। शीबा से मिलने अरुण अपने दोस्त के साथ गया था, जहाँ इस घटना को अंजाम दिया गया।

पुलिस ने शनिवार (20 नवंबर) को चर्च में लगे CCTV फुटेज निकाले। फुटेज में साफ़ दिख रहा है कि शीबा ने अचानक ही अरुण के चेहरे पर तेज़ाब फेंक दिया। इस दौरान शीबा भी आंशिक रूप से घायल हो गई। फुटेज के आधार पर पुलिस ने शीबा को गिरफ्तार कर लिया।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

SFI के गुंडों के बीच अवैध संबंध, ड्रग्स बिजनेस… जिस महिला प्रिंसिपल ने उठाई आवाज, केरल सरकार ने उनका पैसा-पोस्ट सब छीना, हाई कोर्ट...

कागरगोड कॉलेज की प्रिंसिपल डॉ रेमा एम ने कहा था कि उन्होंने छात्र-छात्राओं को शारीरिक संबंध बनाते देखा है और वो कैंपस में ड्रग्स भी इस्तेमाल करते हैं।

18 साल से ईसाई मजहब का प्रचार कर रहा था पादरी, अब हिन्दू धर्म में की घर-वापसी: सतानंद महाराज ने नक्सल बेल्ट रहे इलाके...

सतानंद महाराज ने साजिश का खुलासा करते हुए बताया, "हनुमान जी की मोम की मूर्ति बनाई जाती है, उन्हें धूप में रख कर पिघला दिया जाता है और बच्चों को कहा जाता है कि जब ये खुद को नहीं बचा सके तो तुम्हें क्या बचाएँगे।""

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -