Monday, June 17, 2024
Homeदेश-समाज'क्या हम उनमें से 10-20 को भी नहीं मार सकते': नूहं में हिंदुओं पर...

‘क्या हम उनमें से 10-20 को भी नहीं मार सकते’: नूहं में हिंदुओं पर हमले के लिए मुस्लिमों को भेजे गए थे ऑडियो

"मुझे बताओ की मेवात की जमीन कायरों से भर गई है? 100-200 लोग होंगे, क्या हम उनमें से 10-20 को भी नहीं मार सकते? जिस हिसाब से उनकी गाड़ियाँ जलाई गई हैं, उसमें ही 10-20 को मार देना था।"

हरियाणा के मेवात के नूहं में 31 जुलाई 2023 को इस्लामी भीड़ ने जलाभिषेक यात्रा में शामिल हिंदू श्रद्धालुओं पर हमला किया था। हमले को पूरे प्लान के साथ अंजाम दिया गया। इसके लिए वॉट्सऐप ग्रुप बनाए गए थे। ऐसे ही ग्रुप में भेजे गए कुछ ऑडियो इंडिया टुडे ग्रुप को हाथ लगे हैं। इनसे पता चलता है कि हिंदुओं पर हमलों के लिए मुस्लिमों को भड़काया गया था।

ऑडियो भेजने वाले व्यक्ति ने 31 अगस्त को अपने समुदाय के लोगों को मेवात के शृंगार मंदिर के पास इकट्ठा होने को उकसाया। उनसे कहा कि वहाँ सौ-दौ सौ लोग होंगे, जिनमें 10-20 की हत्या तो की ही जा सकती है। शृंगार मंदिर, नल्हड़ के उस शिव मंदिर से करीब 45 मिनट दूर है जहाँ हिंदू श्रद्धालु हमले के दौरान घंटों बंधक की तरह फँसे रहे थे। जलाभिषेक यात्रा शृंगार मंदिर जाकर ही समाप्त होनी थी।

मेवात क्षेत्र के मुस्लिमों के वॉट्सऐप ग्रुप में भेजे गए इस ऑडियो में एक व्यक्ति को कहते हुए सुना जा सकता है,

“मुझे बताओ की मेवात की जमीन कायरों से भर गई है? 100-200 लोग होंगे, क्या हम उनमें से 10-20 को भी नहीं मार सकते? जिस हिसाब से उनकी गाड़ियाँ जलाई गई हैं, उसमें ही 10-20 को मार देना था। क्या मेवात वालों ने कंगन पहन लिए हैं? आज तुम्हारा मौका है। अगर तुम लोग हाथ उठाते हो, तो उतने लोग और आ जाएँगे। अगर तुम 10-20 को भी मारते हो, उतने और मारेंगे। आज ही वो दिन है। सबको एक दिन मरना है, आज नहीं तो कल।”

इसके बाद दूसरे व्यक्ति का ऑडियो ग्रुप में आता है, वो कहता है,

“भाई जितने भी इस ग्रुप में जो हैं बंदे, जितने भी हैं, 10 हैं, 20 हैं 50 हैं 100-150 है, जितने भी हैं, सब मुस्लिमों के ग्रुप में इसे बाँट दो। सऊदी अरब तक के ग्रुप में डाल दो। यहाँ तो सब छूट जाना है। या मौत आने से छूट जाए, या अपने आप। बीबी-बच्चे भी छूट जाएँगे। फिर अपने कौम पर बात बने तो बिल्कुल निडर होकर सामने खड़े हो। मैदान में से भागना बुजदिलों के काम है। या से बढ़ियाँ तुम चूड़ी पहन लो। जब यार खुदा के बंदों का गढ़ मेवात माना जाता है, यहाँ से सब बच के चले जाएँगे? कम से कम 20 को दफन कर दो। वीडियो बनाकर क्या करना? अपने समाज को बचाओ। सब वीडियो बनाने में जुटे रहोगे, तो काम कौन करेगा?”

बता दें कि इस ऑडियो के वायरल होने के बाद मंदिर पर मुस्लिमों की भीड़ ने हमला बोल दिया। लोगों पर पत्थर फेंके गए, गोलियां चलाई गईं। कई लोग घायल हुए। मंदिर के अंदर दो बार मुस्लिमों की भीड़ ने घुसने की कोशिश की। ये ऑडियो क्लिप बताते हैं कि हिंसा अचानक नहीं हुई, बल्कि पूरी तैयारी के साथ की गई। हिंदुओं पर हमला शुरू होने के बाद 45 किमी दूर सिंगार में भी हमला शुरू हो गया था। हरियाणा पुलिस अब इस ऑडियो की जाँच कर रही है।

31 जलाई को हुआ था हिंदुओं पर सुनियोजित हमला

गौरतलब है कि नूहं में 31 जुलाई को हिन्दुओं द्वारा आयोजित जलाभिषेक शोभायात्रा पर मुस्लिम भीड़ द्वारा हमला करने के मामले में कई खुलासे हो रहे हैं। नूहं दंगा मामले में अब तक कुल 216 लोगों को गिरफ्तार किया गया है और 104 प्राथमिकी दर्ज की गई हैं। हिंसा के दौरान नूहं के साइबर पुलिस थाने पर भी हमला किया गया था। ये हमला सुनियोजित था। हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज ने भी इसके सुनियोजित होने की बात कही है।

पुलिस अधिकारी ने सुनाई मंदिर से लोगों को बचाने की पूरी कहानी

हरियाणा के मेवात के नूहं जिले में 31 जुलाई 2023 को हिंदुओं की जलाभिषेक यात्रा पर मुस्लिम भीड़ ने हमला किया था। इस दौरान नल्हड़ महादेव मंदिर में हिंदुओं के बंधक बनने की सूचना मिलने पर अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (कानून और व्यवस्था) ममता सिंह खुद मौके पर पहुँची थीं। उनकी अगुवाई में पुलिस ने हिंदू श्रद्धालुओं को बचाया था। उन्होंने उस समय के हालात और रेस्क्यू ऑपरेशन के बारे में बताते हुए कहा था कि 35-36 साल के पुलिस करियर में ऐसे मौके कम ही आते हैं, जब आपका सामना इस तरह के हालात से होता है। हालात पर काबू पाना, लोगों को भरोसा दिलाना और उन्हें सुरक्षित बाहर निकालकर ले जाने जैसी चु​नौतियों से एक साथ जूझना पड़ता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ऋषिकेश AIIMS में भर्ती अपनी माँ से मिलने पहुँचे CM योगी आदित्यनाथ, रुद्रप्रयाग हादसे के पीड़ितों को भी नहीं भूले

उत्तराखंड के ऋषिकेश से करीब 50 किलोमीटर की दूरी पर स्थित यमकेश्वर प्रखंड का पंचूर गाँव में ही योगी आदित्यनाथ का जन्म हुआ था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -