Wednesday, July 24, 2024
Homeदेश-समाजमोहम्मद मुनासिर ने कीर्ति का पीछा किया और भरे बाजार में उसे चाकू घोंपकर...

मोहम्मद मुनासिर ने कीर्ति का पीछा किया और भरे बाजार में उसे चाकू घोंपकर मार दिया

कीर्ती भोगल में अपने भाई के साथ किराए के घर में रहती थी। उसके माता-पिता तुगलकाबाद निवासी है। वे जब अपने भाई के साथ सराय काले खाँ में रहती थी तभी मुनासिर ने उसे देखा और तब से ही वो उसका पीछा करता था।

साउथ दिल्ली के भोगल इलाके में कल (जुलाई 26, 2019) एक 20-21 साल की लड़की को 25 वर्षीय मोहम्मद मुनासिर ने चाकू घोंपकर मार दिया। ये घटना शुक्रवार को भरे बाजार में शाम करीब 7.30 बजे हुई। इस दौरान मुनासिर ने कीर्ती की गर्दन, छाती और पेट पर कई वार किए।

हालाँकि, बाद में वहाँ मौजूद लोगों ने हत्यारे मुनासिर को पकड़कर पुलिस को सौंप दिया। साथ ही बताया कि उन लोगों के रोकने के बाद भी मुनासिर रुका नहीं और लड़की पर वार करता रहा।

टाइम्स ऑफ इंडिया की खबर के मुताबिक चश्मदीदों ने बताया कि करीब 7:30 बजे लड़की भोगल मार्केट से होकर मथुरा रोड की ओर जा रही थी कि तभी आरोपित उसके पीछे आया और उसे धक्का देकर जमीन पर गिरा दिया। इसके बाद उसने लड़की की छाती, गर्दन और पेट चाकू घोंपना शुरू किया।

वहाँ मौजूद दुकानदारों और राहगीरों ने जब उसे रोकने का प्रयास किया तो मुनासिर हाथ में चाकू लेकर उन्हें डराने लगा। लेकिन जब उसने वहाँ से भागने की कोशिश की तो वहाँ मौजूद लोगों ने उसका पीछा किया और उसे पकड़ लिया। इस दौरान गुस्साए लोगों ने उसकी पिटाई भी की। लड़की को फौरन ऑटोरिक्शा करके एम्स अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर में भर्ती कराया गया, लेकिन पुलिस वालों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

पुलिस ने हमले के समय इस्तेमाल किए जाने वाला चाकू को बरामद कर लिया है और हत्या के आरोप में मुनासिर पर आईपीसी की 302 धारा के तहत मामला भी दर्ज हो गया है। इलाके के डीसीपी चिनमॉय बिस्वॉल का कहना है कि लोगों द्वारा पीटे जाने के बाद आरोपित की चोटों का इलाज चल रहा है, उसके रिकवर करते ही उसे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

जानकारी के मुताबिक बता दें कीर्ती भोगल में अपने भाई के साथ किराए के घर में रहकर नैनी का काम करती थी। उसके माता-पिता तुगलकाबाद निवासी है। वे जब अपने भाई के साथ सराय काले खाँ में रहती थी तब मुनासिर ने उसे देखा था और तब से वो उसका पीछा करता था।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मेरे बेटे को मार डाला’: आधुनिक पश्चिमी सभ्यता ने दुनिया के सबसे अमीर शख्स को भी दे दिया ऐसा दर्द, कहा – Woke वाले...

लिंग-परिवर्तन कराने वाले को उसके पुराने नाम से पुकारना 'Deadnaming' कहलाता है। उन्होंने कहा कि इसका अर्थ है कि उनका बेटा मर चुका है।

‘बंद ही रहेगा शंभू बॉर्डर, JCB लेकर नहीं कर सकते प्रदर्शन’: सुप्रीम कोर्ट ने ‘आंदोलनजीवी’ किसानों को दिया झटका, 15 अगस्त को दिल्ली कूच...

सुप्रीम कोर्ट ने पंजाब और हरियाणा के बीच शंभू बॉर्डर को अभी बंद ही रखने का आदेश दिया है। कोर्ट ने कहा किसान JCB लेकर प्रदर्शन नहीं कर सकते।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -