Tuesday, May 21, 2024
Homeदेश-समाज'हमको अग्निपथ के बारे में नहीं पता...' : जानें कौन हैं 'मनीष भैया', जिनके...

‘हमको अग्निपथ के बारे में नहीं पता…’ : जानें कौन हैं ‘मनीष भैया’, जिनके कहने पर झंडा उठाए सड़क पर बैठ गया लड़का, Video से खुली प्रदर्शन की पोल

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो 17 जून 2022 (शुक्रवार) का है। इस दिन पटना में जन अधिकार पार्टी के प्रदर्शन का नेतृत्व पटना यूनिवर्सिटी छात्रसंघ अध्यक्ष और जनअधिकार पार्टी के युवा मोर्चा के पदाधिकारी मनीष यादव ने किया था। ऑपइंडिया ने प्रदर्शन का नेतृत्व करने वाले मनीष यादव से बात की।

देश के युवाओं को सेना की तरफ आकर्षित करने और उन्हें अनुशासित बनाने के लिए केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना का सबसे अधिक विरोध बिहार में हुआ। बक्सर जिले में उपद्रव रोकते समय घायल हुए एक सब इंस्पेक्टर ने अपने बयान में घटना को भाड़े की भीड़ द्वारा किया गया हमला बताया। इस बीच एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ। इसमें धरना दे रहा एक युवक अग्निपथ स्कीम के बारे में किसी भी जानकारी से अनभिज्ञ दिखा और सवाल पूछे जाने पर बताया कि उसे मनीष भैया द्वारा बुलवाया गया है।

यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ। इस वीडियो के वायरल होते ही कई लोग सवाल खड़े करने लगे कि आखिर ‘मनीष भैया’ है कौन ?

चित्र साभार- ट्विटर

पटना यूनिवर्सिटी छात्रसंघ अध्यक्ष हैं मनीष भैयाउर्फ़ मनीष यादव

सोशल मीडिया पर लगाए जा रहे तमाम कयासों के बीच हमने मनीष भैया की तलाश शुरू की। इस खोज के दौरान हमने वायरल वीडियो में प्रदर्शनकरियों के हाथ में जन अधिकार पार्टी का झंडा देखा। बाद में जानकारी जुटाई कि प्रदर्शन पटना में हुआ था। हमने पूरा वीडियो खोजा तो प्रदर्शनकारी ने मनीष भैया को थोड़ी दूर पर बैठा बताया और उन्हें जनअधिकार पार्टी से जुड़ा बताया। यह वीडियो IVTV नाम के एक स्थानीय न्यूज़ द्वारा बनाया गया था।

हमने जब और अधिक जानकारी जुटाई तो पता चला कि वीडियो 17 जून 2022 (शुक्रवार) का है। इस दिन पटना में जन अधिकार पार्टी के प्रदर्शन का नेतृत्व पटना यूनिवर्सिटी छात्रसंघ अध्यक्ष और जनअधिकार पार्टी के युवा मोर्चा के पदाधिकारी मनीष यादव ने किया था। ऑपइंडिया ने प्रदर्शन का नेतृत्व करने वाले मनीष यादव से बात की। मनीष ने बताया, “जो लड़का वायरल वीडियो में दिख रहा मैं उसे नहीं पहचानता लेकिन उस दिन मेरा ही प्रदर्शन डाक बंगला चौराहा पटना पर हुआ था। वो लड़का शायद मेरे किसी परिचित के साथ आया हो।” मनीष यादव ने ये स्वीकार किया कि वीडियो फुटेज उनके ही प्रदर्शन की है। मनीष यादव ने उसी दिन पटना में प्रदर्शन के दौरान केंद्र सरकार को अग्निपथ स्कीम वापस लेने के लिए 72 घंटे का अल्टीमेटम भी दिया था।

बिहार में ही सहरसा जिले के जन अधिकार पार्टी के मनीष यादव नाम के ही एक अन्य नेता ने भी स्वीकार किया कि वायरल वीडियो में लड़का जिस मनीष भैया की बात कर रहा है वो पटना यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ अध्यक्ष और उनकी ही पार्टी के नेता मनीष यादव हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

J&K के बारामुला में टूट गया पिछले 40 साल का रिकॉर्ड, पश्चिम बंगाल में सर्वाधिक 73% मतदान: 5वें चरण में भी महाराष्ट्र में फीका-फीका...

पश्चिम बंगाल 73% पोलिंग के साथ सबसे आगे है, वहीं इसके बाद 67.15% के साथ लद्दाख का स्थान रहा। झारखंड में 63%, ओडिशा में 60.72%, उत्तर प्रदेश में 57.79% और जम्मू कश्मीर में 54.67% मतदाताओं ने वोट डाले।

भारत पर हमले के लिए 44 ड्रोन, मुंबई के बगल में ISIS का अड्डा: गाँव को अल-शाम घोषित चला रहे थे शरिया, जिहाद की...

साकिब नाचन जिन भी युवाओं को अपनी टीम में भर्ती करता था उनको जिहाद की कसम दिलाई जाती थी। इस पूरी आतंकी टीम को विदेशी आकाओं से निर्देश मिला करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -