Thursday, June 30, 2022
Homeदेश-समाज'हमको अग्निपथ के बारे में नहीं पता...' : जानें कौन हैं 'मनीष भैया', जिनके...

‘हमको अग्निपथ के बारे में नहीं पता…’ : जानें कौन हैं ‘मनीष भैया’, जिनके कहने पर झंडा उठाए सड़क पर बैठ गया लड़का, Video से खुली प्रदर्शन की पोल

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो 17 जून 2022 (शुक्रवार) का है। इस दिन पटना में जन अधिकार पार्टी के प्रदर्शन का नेतृत्व पटना यूनिवर्सिटी छात्रसंघ अध्यक्ष और जनअधिकार पार्टी के युवा मोर्चा के पदाधिकारी मनीष यादव ने किया था। ऑपइंडिया ने प्रदर्शन का नेतृत्व करने वाले मनीष यादव से बात की।

देश के युवाओं को सेना की तरफ आकर्षित करने और उन्हें अनुशासित बनाने के लिए केंद्र सरकार की अग्निपथ योजना का सबसे अधिक विरोध बिहार में हुआ। बक्सर जिले में उपद्रव रोकते समय घायल हुए एक सब इंस्पेक्टर ने अपने बयान में घटना को भाड़े की भीड़ द्वारा किया गया हमला बताया। इस बीच एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ। इसमें धरना दे रहा एक युवक अग्निपथ स्कीम के बारे में किसी भी जानकारी से अनभिज्ञ दिखा और सवाल पूछे जाने पर बताया कि उसे मनीष भैया द्वारा बुलवाया गया है।

यह वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ। इस वीडियो के वायरल होते ही कई लोग सवाल खड़े करने लगे कि आखिर ‘मनीष भैया’ है कौन ?

चित्र साभार- ट्विटर

पटना यूनिवर्सिटी छात्रसंघ अध्यक्ष हैं मनीष भैयाउर्फ़ मनीष यादव

सोशल मीडिया पर लगाए जा रहे तमाम कयासों के बीच हमने मनीष भैया की तलाश शुरू की। इस खोज के दौरान हमने वायरल वीडियो में प्रदर्शनकरियों के हाथ में जन अधिकार पार्टी का झंडा देखा। बाद में जानकारी जुटाई कि प्रदर्शन पटना में हुआ था। हमने पूरा वीडियो खोजा तो प्रदर्शनकारी ने मनीष भैया को थोड़ी दूर पर बैठा बताया और उन्हें जनअधिकार पार्टी से जुड़ा बताया। यह वीडियो IVTV नाम के एक स्थानीय न्यूज़ द्वारा बनाया गया था।

हमने जब और अधिक जानकारी जुटाई तो पता चला कि वीडियो 17 जून 2022 (शुक्रवार) का है। इस दिन पटना में जन अधिकार पार्टी के प्रदर्शन का नेतृत्व पटना यूनिवर्सिटी छात्रसंघ अध्यक्ष और जनअधिकार पार्टी के युवा मोर्चा के पदाधिकारी मनीष यादव ने किया था। ऑपइंडिया ने प्रदर्शन का नेतृत्व करने वाले मनीष यादव से बात की। मनीष ने बताया, “जो लड़का वायरल वीडियो में दिख रहा मैं उसे नहीं पहचानता लेकिन उस दिन मेरा ही प्रदर्शन डाक बंगला चौराहा पटना पर हुआ था। वो लड़का शायद मेरे किसी परिचित के साथ आया हो।” मनीष यादव ने ये स्वीकार किया कि वीडियो फुटेज उनके ही प्रदर्शन की है। मनीष यादव ने उसी दिन पटना में प्रदर्शन के दौरान केंद्र सरकार को अग्निपथ स्कीम वापस लेने के लिए 72 घंटे का अल्टीमेटम भी दिया था।

बिहार में ही सहरसा जिले के जन अधिकार पार्टी के मनीष यादव नाम के ही एक अन्य नेता ने भी स्वीकार किया कि वायरल वीडियो में लड़का जिस मनीष भैया की बात कर रहा है वो पटना यूनिवर्सिटी के छात्रसंघ अध्यक्ष और उनकी ही पार्टी के नेता मनीष यादव हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आँखों के सामने बच्चों को खोने के बाद राजनीति से मोहभंग, RSS से लगाव: ऑटो चलाने से महाराष्ट्र के CM बनने तक शिंदे का...

साल में 2000 में दो बच्चों की मौत के बाद एकनाथ शिंदे का राजनीति से मोहभंग हुआ। बाद में आनंद दिघे उन्हें वापस राजनीति में लाए।

उत्तराखंड में चलती कार में महिला और उसकी 5 साल की बच्ची से गैंगरेप, BKU (टिकैत गुट) के सुबोध काकरान और विक्की तोमर सहित...

उत्तराखंड के रुड़की में महिला और उसकी पाँच साल की बच्ची से गैंगरेप के आरोप में टिकैत गुट के नेता समेत पाँच गिरफ्तार कर लिए गए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
201,188FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe