Sunday, April 21, 2024
Homeदेश-समाजसेक्स, ड्रग्स, शराब, यौन शोषण और न्यूडिटी... जानिए क्या होती है 'रेव पार्टी' और...

सेक्स, ड्रग्स, शराब, यौन शोषण और न्यूडिटी… जानिए क्या होती है ‘रेव पार्टी’ और कहाँ-कहाँ इसका चलन, पैसों से भी मिलती है एंट्री

हाल ही में जब कोरोना वायरस संक्रमण के कारण दुनिया भर में लॉकडाउन लगा, तब भी रेव पार्टियों का चलन बढ़ गया। यूके-फ़्रांस में इस तरह की खूब पार्टियाँ हुईं।

मुंबई में एक जहाज पर चल रही ‘रेव पार्टी’ में कई हाई प्रोफ़ाइल फ़िल्मी हस्तियों व उद्योगपतियों के घर के युवा मिले हैं। जिन 8 लोगों से पूछताछ चल रही है, उनमें से एक नाम 30 वर्षों से बॉलीवुड में सक्रिय शाहरुख़ खान के बेटे आर्यन का भी है। NCB के मुखिया एसएम प्रधान कह चुके हैं कि बॉलीवुड के अमीरों के नाम भी इसमें आएँ, फिर भी कानूनन कार्रवाई होगी। आर्यन खान फ़िलहाल हिरासत में हैं और उन्हें जल्द ही गिरफ्तार किया जा सकता है।

इन सब के बीच आपके मन में ये सवाल तो उठ ही रहा होगा कि आखिर ये ‘रेव पार्टी’ होता क्या है? इसके अंदर क्या होता है? तो आइए, हम आपको बताते हैं। शाब्दिक रूप से देखें तो ‘रेव पार्टी’ का अर्थ है किसी गोदाम में की जाने वाली डांस पार्टी। इसमें एक DJ इलेक्ट्रॉनिक म्यूजिक बजाता है और लड़के-लड़कियाँ डांस करते हैं। खासकर 90 के दशक में यूरोप में इसका प्रचलन बढ़ा, जहाँ नाइटक्लब्स में महिला डांसरों को भीड़ के मनोरंजन के लिए हायर किया जाता था।

कायदे ‘ रेव पार्टी’ अवैध नहीं है, लेकिन जब इसमें सेक्स और ड्रग्स घुस जाते हैं तब ये पुलिस की नजर में आता है। 70 के दशक में एक प्रकार के ‘रेव ड्रग’ का भी खूब प्रचलन हुआ था, जिसका सेवन इस पार्टी में लोग करते थे। कोकीन जैसी चीजें इसमें काफी पहले से घुसी हुई हैं। इसमें जो ड्रग्स मुख्य रूप से प्रयोग किए जाते हैं, वो हैं – MDMA, कोकीन, Rohypnol, GHB, Ketamine, Fry, LSD, Methamphetamine इत्यादि।

हाल ही में जब कोरोना वायरस संक्रमण के कारण दुनिया भर में लॉकडाउन लगा, तब भी रेव पार्टियों का चलन बढ़ गया। यूके में इस तरह की खूब पार्टियाँ हुईं। फ़्रांस में भी इस तरह की पार्टियों की बात सामने आई, जिसमें 2500 से अधिक लोग पहुँचे थे। भारत की अवैध रेव पार्टियों में संख्या कम होती है, क्योंकि इनमें अधिकतर आमिर घरानों के लोग ही पहुँचते हैं और इन्हें गुप्त ढंग से किया जाता है।

‘रेव पार्टियों’ में कला एवं संगीत के साथ-साथ नंगापन, ड्रग्स और सेक्स – ये सब कुछ होता है। इसमें खुले रूप अश्लीलता को बढ़ावा दिया जाता है। पिछले कुछ वर्षों में भारत में ऐसी कई पार्टियों में बॉलीवुड से जुड़े लोग पकड़े गए हैं। कई रेव पार्टियों में यौन शोषण की खबरें भी आती हैं। यूके में ऐसी कई पार्टियों में किशोर लड़कियों को उम्र में काफी बड़े लोगों के साथ सेक्स को मजबूर किया गया था।

इन पार्टियों के लिए कभी-कभी SMS व व्हाट्सएप्प के जरिए कोड वर्ड्स में भी लोगों को आमंत्रित किया जाता है, जिसमें उन्हें लोकेशन व रूट्स बताए जाते हैं। अधिकतर एंट्री के लिए पैसे भी लिए जाते हैं। पान में भी कोकीन डाल कर खिलाए जाते हैं। गोवा और मुंबई में ऐसी कई पार्टियाँ होती रही हैं। शराब भी परोसा जाता है। देश के कई पर्यटन (खासकर पहाड़ व बीच) स्थलों पर विदेशी माफिया पर्यटकों को ऐसी पार्टी में ले जाते हैं।

दक्षिणी दिल्ली में ऐसी कई पार्टियाँ होती हैं, जिनके लिए किसी ऐसे घर को चुना जाता है जो काफी दिनों से खाली पड़ा हो। रॉयल परिवारों और अमीरों के घर के युवक इसमें आते हैं। कपल से सामान्यतः 10,000 रुपए और सिंगल युवकों से इसका डेढ़ से दोगुना तक वसूला जाता है। हिमाचल के कसोल में ऐसे ही ड्रग्स का एक नेटवर्क है, जहाँ से दिल्ली में भी सप्लाई होती है। ऐसी पार्टियों के लिए अक्सर फ़ार्म हाउसेज का इस्तेमाल किया जाता है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एक ही सिक्के के 2 पहलू हैं कॉन्ग्रेस और कम्युनिस्ट’: PM मोदी ने तमिल के बाद मलयालम चैनल को दिया इंटरव्यू, उठाया केरल में...

"जनसंघ के जमाने से हम पूरे देश की सेवा करना चाहते हैं। देश के हर हिस्से की सेवा करना चाहते हैं। राजनीतिक फायदा देखकर काम करना हमारा सिद्धांत नहीं है।"

‘कॉन्ग्रेस का ध्यान भ्रष्टाचार पर’ : पीएम नरेंद्र मोदी ने कर्नाटक में बोला जोरदार हमला, ‘टेक सिटी को टैंकर सिटी में बदल डाला’

पीएम मोदी ने कहा कि आपने मुझे सुरक्षा कवच दिया है, जिससे मैं सभी चुनौतियों का सामना करने में सक्षम हूँ।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe