Friday, June 21, 2024
Homeदेश-समाजभंसाली को थप्पड़, कॉन्ग्रेस से माँगा टिकट, बसपा से चुनाव लड़े… विवाद हुआ तो...

भंसाली को थप्पड़, कॉन्ग्रेस से माँगा टिकट, बसपा से चुनाव लड़े… विवाद हुआ तो बना ली अलग करणी सेना, 20 सेकेंड में मारी 17 गोलियाँ

जब 2017 में गैंगस्टर आनंदपाल सिंह का एनकाउंटर हुआ था, तब उन्होंने मामले की CBI जाँच की माँग करते हुए तत्कालीन वसुंधरा राजे सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया गया था।

राजस्थान के जयपुर में करणी सेना का अध्यक्ष सुखदेव सिंह शेखावत ‘गोगामेड़ी’ की मंगलवार (5 दिसंबर, 2023) को घर में घुस कर हत्या कर दी गई। CCTV फुटेज में देखा जा सकता है कि उनसे बातचीत करते-करते 3 बदमाशों ने 20 सेकेण्ड में उन पर 17 राउंड गोलीबारी की। सुखदेव सिंह गोगामेड़ी 2013 में चूरू के भादरा विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ चुके थे। वहीं अब वो कॉन्ग्रेस पार्टी से टिकट चाहते थे, लेकिन आवेदन के बावजूद नहीं मिला।

अपने अंतिम ट्वीट में उन्होंने राजस्थान में पार्टी की हार के बाद गलत टिकट वितरण के लिए कॉन्ग्रेस आलाकमान को संज्ञान लेने के लिए कहा था। हालिया चुनाव में उनकी पत्नी सुशीला कँवर ने भी नामांकन दाखिल किया था लेकिन फिर पर्चा वापस ले लिया था। सुखदेव सिंह गोगामेडा की पहली पत्नी पुलिस में थी, जिससे इनका तलाक हो गया था। उन्होंने करणी सेना से विवाद के बाद ‘श्री राष्ट्रीय राजपूत करणी सेना’ का गठन किया था। 2017 में वो एक घटना की वजह से चर्चा में आए थे।

असल में उस समय जयगढ़ में ‘पद्मावत’ फिल्म की शूटिंग चल रही थी। इस दौरान करणी सेना ने वहाँ हमला बोल दिया और निर्देशक संजय लीला भंसाली का बाल पकड़ कर उन्हें थप्पड़ तक मार दिया गया था। शूटिंग स्थल पर तोड़फोड़ भी की गई थी। देश भर में इसका बाद फिल्म का विरोध चालू हो गया था और राजपूत युवकों में गोगामेड़ी लोकप्रिय हो गए थे। राजपूत समाज के बड़े नेता रहे लोकेन्द्र सिंह कालवी ने करणी सेना में गोगामेड़ी की एंट्री करवाई थी।

उनका भी इसी साल निधन हो चुका है। लेकिन, बाद में उन दोनों में ही विवाद हो गया था। सुखदेव सिंह गोगामेड़ी पर 21 आपराधिक मामले दर्ज हैं। 2003 में हत्या और 2013 में आर्म्स एक्ट के मामले में वो दोषी ठहराए जा चुके हैं। वहीं बलात्कार का भी एक मामला दर्ज हुआ था जो झूठा साबित हुआ था। करीब 8 महीने पहले उन्होंने बागेश्वर धाम वाले बाबा पंडित धीरेन्द्र कृष्ण शास्त्री का समर्थन करते हुए कहा था कि अगर किसी की हिम्मत हो तो उन्हें गिरफ्तार कर के बताए।

ये भी सामने आया है कि सुखदेव सिंह गोगामेड़ी 2018 के विधानसभा चुनाव में भाजपा से टिकट चाहते थे, जो उन्हें नहीं मिल पाया था। जब 2017 में गैंगस्टर आनंदपाल सिंह का एनकाउंटर हुआ था, तब उन्होंने मामले की CBI जाँच की माँग करते हुए तत्कालीन वसुंधरा राजे सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया गया था। आनंदपाल की माँ को ढाँढस बँधाते हुए सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की तस्वीर भी सामने आई थी। भड़काऊ भाषणों और उपद्रव के कारण सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की नागौर पुलिस को तलाश थी।

उस समय उन्हें नोहर थाने में हिस्ट्रीशीटर बताया गया था। पुलिस की दबिश के बाद वो गायब हो गए थे। सुखदेव सिंह गोगामेड़ी की दबंगई के कारण उनके कई फैंस बनते चलते गए। अब उनके ही ड्राइंग रूम में उनकी हत्या कर दी गई है। वहीं उनकी हत्या की जिम्मेदारी जिस रोहित गोदारा ने ली है, उस पर 32 मामले दर्ज हैं। सीकर में राजू ठेहट की हत्या में भी वो वॉन्टेड है। पंजाब में गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या में भी उनका नाम सामने आया है। जून 2023 में ‘पवन’ नाम से फर्जी पासपोर्ट बना कर वो दुबई भाग गया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -