Friday, July 30, 2021
Homeदेश-समाजकालिंदी एक्सप्रेस विस्फोट स्थल पर मिला पत्र, PM मोदी की रैली में RDX से...

कालिंदी एक्सप्रेस विस्फोट स्थल पर मिला पत्र, PM मोदी की रैली में RDX से विस्फोट करने की थी योजना

हमले से एक दिन पहले विस्फोटकों को दिल्ली के आनंद विहार बस टर्मिनल पर सौंप दिया जाना था। पत्र के ऊपरी भाग पर 786 और शब्द "पैगाम" लिखा है।

बुधवार (21 फ़रवरी 2019) को कानपुर-भिवानी कालिंदी एक्सप्रेस में बम विस्फोट हुआ, जिसमें अभी तक किसी के हताहत होने की ख़बर नहीं मिली। लेकिन विस्फोट की जाँच करते समय सुरक्षा एजेंसियों को जैश-ए-मोहम्मद के संचालक द्वारा लिखा गया एक पत्र मिला है।


पत्र की शुरुआत में लिखा है कि मीटिंग कर इस बारे में सभी को अवगत कराया जा चुका है। उसके बाद लिखा है कि मोदी के मंच को बम से उड़ाना है।

सुरक्षा एजेंसियों को मिले इस पत्र में RDX के प्रयोग से रैली के दौरान पीएम मोदी पर एक सुनियोजित हमला करने की साज़िश का विवरण है। इस पत्र में शताब्दी एक्सप्रेस और दिल्ली-कानपुर मार्ग पर बने एक पुल पर हमला करने के बारे में भी लिखा है।

कालिंदी एक्सप्रेस ने शाम 5:30 बजे कानपुर सेंट्रल स्टेशन से भिवानी, हरियाणा की ओर यात्रा शुरू की। ट्रेन कानपुर से 40 किमी दूर, बर्राजपुर स्टेशन पर शाम करीब 6:40 बजे पहुँची। बम धमाका सामान्य डिब्बे के टॉयलेट में हुआ। राजकीय रेलवे पुलिस ने सबसे पहले विस्फोट की जानकारी दी और बाद में आतंकवाद निरोधी दस्ते ने जाँच अपने हाथों ली।

पत्र के मुताबिक कानपुर से 30 किमी दूर, 27 फरवरी को एक पुल पर एक विस्फोट होना निर्धारित किया गया था। फिर, डेढ़ किलो RDX का उपयोग करके, कानपुर-दिल्ली शताब्दी एक्सप्रेस पर हमला किया जाना था। हमले से एक दिन पहले विस्फोटकों को दिल्ली के आनंद विहार बस टर्मिनल पर सौंप दिया जाना था। पत्र के ऊपरी भाग पर 786 और शब्द “पैगाम” लिखा है।


पत्र के ऊपरी भाग पर 786 और शब्द “पैगाम” लिखा है

इसके बाद पत्र में आगामी पीएम मोदी की रैली का विवरण है, इस रैली के दौरान दो किलो RDX के इस्तेमाल से धमाका करने का मक़सद था। पत्र में इस बात का भी ज़िक्र है कि इन हमलों के लिए लगभग 5 करोड़ रुपये लगाए गए हैं।

पत्र के अलावा एजेंसियों को एक डायरी भी मिली है, इसमें कानपुर के मक्कड़पुर शहर के निवासियों के कई गुप्त कोड और नाम दर्ज हैं। फ़िलहाल, एजेंसियों द्वारा इन गुप्त ​​कोडों को क्रैक करने का प्रयास किया जा रहा है। इसके अलावा घटना स्थल पर आधा किलो माँस से भरा बैग भी बरामद किया गया।

SSP अनंत देव तिवारी के मुताबिक, पत्र और डायरी की जाँच हो रही है और मामले को गंभीरता से लिया गया है। ट्रेन विस्फोट के गुर्गों का पता लगाने के लिए एक अलग टीम का गठन भी किया गया है। अपराधियों की धर-पकड़ के लिए जाँच एजेंसियाँ ​​सीसीटीवी कैमरों की मदद ले रही हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

श्री अरुणाचलेश्वर मंदिर: विश्व भर में भगवान शिव का सबसे बड़ा मंदिर, ‘पंच भूत स्थलों’ में एक, 217 फुट ऊँचा ‘राज गोपुरा’

अन्नामलाई की पहाड़ी पर स्थित श्री अरुणाचलेश्वर मंदिर पंच भूत स्थलों में से एक है, जहाँ अग्नि रूप में भगवान शिव की पूजा होती है और...

Tokyo Olympics: 3 में से 2 राउंड जीतकर भी हार गईं मैरीकॉम, क्या उनके साथ हुई बेईमानी? भड़के फैंस

मैरीकॉम का कहना है कि उन्हें पता ही नहीं था कि वह हार गई हैं। मैच होने के दो घंटे बाद जब उन्होंने सोशल मीडिया देखा तो पता चला कि वह हार गईं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
111,941FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe