Sunday, June 23, 2024
Homeदेश-समाज'मुझे परेशान किया जा रहा': मठ में फाँसी से फंदे से लटकता मिला लिंगायत...

‘मुझे परेशान किया जा रहा’: मठ में फाँसी से फंदे से लटकता मिला लिंगायत संत का शव, पिछले महीने भी मिला था एक लिंगायत पुजारी का शव

बसवलिंगा स्वामी जिस मठ के प्रधान पुजारी थे, वो लगभग 400 साल पुराना है। मृतक बसवलिंगा लगभग 25 वर्षों से इस मठ में पुजारी के तौर पर थे।

कर्नाटक के रामनगर में एक लिंगायत संत अपने आश्रम में मृत मिले हैं। मृतक का नाम बसवलिंगा स्वामी है, जिनकी उम्र अभी 44 वर्ष थी। उनका शव फाँसी के फंदे से लटकता मिला है। शव के पास से सुसाइड नोट भी मिला है, जिसमें ब्लैकमेलिंग की बात कही जा रही है। पुलिस इसे अस्वाभाविक मौत मान कर आत्महत्या के तौर पर देख रही है। यह घटना सोमवार (24 अक्टूबर, 2022) की बताई जा रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मामला श्री कंचुगल बंदेमठ का है। यहाँ के प्रधान पुजारी बसवलिंगा स्वामी रविवार रात अपने कमरे में सोने गए। जब अगले दिन उन्होंने काफी देर तक दरवाजा नहीं खोला तो उनके भक्तों को चिंता हुई। स्वामी को फोन भी मिलाया गया, पर उन्होंने उठाया नहीं। आखिरकार सबने मिल कर दरवाजा तोड़ने का फैसला किया। जब बसवलिंगा स्वामी के कमरे का दरवाजा तोड़ा गया तब अंदर उनका शव फाँसी के फंदे पर लटक रहा था।

मठ द्वारा ही चलाए जा रहे स्कूल के टीचर रमेश ने आनन-फानन में स्थानीय कुदुर पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने मौके पर पहुँच कर शव को अपने कब्ज़े में लिया। कमरे की तलाशी के दौरान 2 पन्ने का सुसाइड नोट मिला है। इस नोट में मृतक ने खुद को कुछ लोगों द्वारा मानहानि की धमकी दे कर परेशान करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने सुसाइड नोट के आधार पर केस दर्ज कर के जाँच शुरू कर दी है। पुलिस उन कारणों का भी पता लगा रही है जिनका बहाना ले कर संत को बदनाम करने की धमकी दी जा रही थी।

बसवलिंगा स्वामी जिस मठ के प्रधान पुजारी थे, वो लगभग 400 साल पुराना है। मृतक बसवलिंगा लगभग 25 वर्षों से इस मठ में पुजारी के तौर पर थे। बताया ये भी जा रहा है कि कुछ लोग स्वामी को उनके पद से हटाना भी चाह रहे थे। उनके शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। उन्हें धमकी देने वालों के नामों का खुलासा पुलिस ने अभी नहीं किया है। गौरतलब है कि पिछले 2 माह में 2 लिंगायत संतों की संदेहास्पद मृत्यु हुई है।

इससे पहले सितम्बर माह में बेलगावी जिले के बैलाहोंगला तालुक के नेगीनाहला गाँव में श्री गुरु मदीवालेश्वर मठ के पुजारी बसवासिद्दालिंगा स्वामी मृत मिले थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मोदी के दिए घरों में रहते हैं, 100% वोट कॉन्ग्रेस को देते हैं’: बोले असम CM सरमा – राज्य पर कब्ज़ा करना चाहते हैं...

सीएम हिमंता ने कहा कि बांग्लादेशी मूल के अल्पसंख्यकों ने कॉन्ग्रेस को इसलिए वोट दिया, क्योंकि अगले 10 सालों में वे राज्य को कब्जा चाहते हैं।

NEET पीपर लीक की जाँच अब CBI के हवाले, केंद्रीय जाँच एजेंसी ने दर्ज की FIR: PG की परीक्षा के लिए नई तारीखों का...

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की ओर से बताया गया कि विवाद की समीक्षा के बाद मंत्रालय ने मामले की व्यापक जाँच के लिए इसे सीबीआई को सौंपने का फैसला किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -