Monday, July 22, 2024
Homeदेश-समाजवसीम रिजवी के काफिले पर पथराव: कुरान से 26 आयतों को हटाने की माँग...

वसीम रिजवी के काफिले पर पथराव: कुरान से 26 आयतों को हटाने की माँग पर पहले भी मिल चुकी हैं धमकियाँ

वसीम रिजवी के काफिले में दो गाड़ियाँ और भी थीं जो सुरक्षा कारणों से हमेशा उनके काफिले में शामिल रहती हैं। जैसे ही उनका काफिला कश्मीरी मोहल्ले से निकलकर चौकी मंडी इलाके में पहुँचा, कुछ पत्थरबाजों ने उनकी गाड़ियों पर पथराव शुरू कर दिया।

शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिजवी पर सोमवार (28 जून) को लखनऊ में हमला हुआ। उनके काफिले पर पथराव किया गया है जिसमें रिजवी बाल-बाल बच गए। यूपी पुलिस मामले की छानबीन कर रही है।

मीडिया से मिली जानकारी के मुताबिक वसीम रिजवी अपने पुराने घर कश्मीरी मोहल्ले से अपने नए फ्लैट के लिए जा रहे थे। उनके काफिले में दो गाड़ियाँ और भी थीं जो सुरक्षा कारणों से हमेशा उनके काफिले में शामिल रहती हैं। जैसे ही उनका काफिला कश्मीरी मोहल्ले से निकलकर चौकी मंडी इलाके में पहुँचा, कुछ पत्थरबाजों ने उनकी गाड़ियों पर पथराव शुरू कर दिया।

रिजवी ने बताया कि अचानक शुरू हुए इस पथराव से वो घबरा गए और गाड़ी रोकने की कोशिश भी की लेकिन तब तक पत्थरबाज वहाँ से भाग चुके थे। रिजवी ने बताया कि इसकी शिकायत चौक कोतवाली में दर्ज कराई गई है। इसके बाद पुलिस ने घटना की छानबीन शुरू कर दी है और घटना स्थल पर लगे सीसीटीवी कैमरों की जाँच की जा रही है।

हालाँकि वसीम रिजवी हमेशा ही इस्लाम में सुधार की बातों को लेकर कट्टरपंथियों के निशाने पर रहते हैं। हाल ही में रिजवी ने सुप्रीम कोर्ट में कुरान से 26 आयतों को हटाने के लिए याचिका दायर की थी। रिजवी के अनुसार कुरान की ये आयतें आतंकवाद को बढ़ावा देने वाली हैं, जिन्हें बाद में शामिल किया गया। इसके बाद से ही लगातार रिजवी को इस्लामी कट्टरपंथियों से जान से मारने की धमकी मिलती रही है। इसी धमकी के कारण उनकी सुरक्षा भी बढ़ाई गई थी।

रिजवी ने यह भी दावा किया था कि उन्होंने कुरान के 26 विवादित आयतों को हटा कर नया कुरान-ए-मजीद तैयार किया है। इसको लेकर उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भी लिखा था। वसीम रिजवी ने बताया था कि कुरान की इन 26 आयतों में अत्याचार, धार्मिक उन्माद फैलाने वाली बातों का जिक्र है, इसलिए उन्होंने नई कुरान लिखी और प्रधानमंत्री को चिठ्ठी लिख माँग की है कि पुरानी को बैन करें।

रिजवी की याचिका के बाद से ही कई मुस्लिम मौलानाओं और संगठनों ने रिजवी का विरोध किया। कई मुस्लिम नेताओं ने तो रिजवी का सर काटकर लाने पर ईनाम की घोषणा भी की थी।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काँवड़िए नहीं जान पाएँगे दुकान ‘अब्दुल’ या ‘अभिषेक’ की, सुप्रीम कोर्ट ने लगाई रोक: कहा- बताना होगा सिर्फ मांसाहार/शाकाहार के बारे में,

सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड के कांवड़ रूट पर दुकानदारों के नाम दर्शाने वाले आदेश पर अंतरिम रोक लगा दी है।

AAP विधायक की वकीलगिरी का हाई कोर्ट ने उतारा भूत: गलत-सलत लिख कर ले गया था याचिका, लग चुका है बीवी को कुत्ते से...

दिल्ली हाईकोर्ट के जज ने सोमनाथ भारती की याचिका पर कहा कि वो नोटिस जारी नहीं कर सकते, उन्हें ये समझ ही नहीं आ रहा है, वो मामला स्थगित करते हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -