Saturday, July 31, 2021
Homeदेश-समाजभोपाल के जहाँगीराबाद में मिले 200 कोरोना संक्रमित, कम्युनिटी संक्रमण की आशंका ने उड़ाए...

भोपाल के जहाँगीराबाद में मिले 200 कोरोना संक्रमित, कम्युनिटी संक्रमण की आशंका ने उड़ाए प्रशासन के होश

भोपाल के जहाँगीराबाद इलाके में कोरोना के कम्युनिटी स्प्रेड की आशंका ने जिला प्रशासन के साथ प्रदेश की सरकार को चिंता में डाल दिया है, क्योंकि जहाँगीराबाद में रहने वाली करीब 2000 की आबादी में 200 से अधिक लोगों में कोरोना का संक्रमण पाया गया है।

देश में लगातार बढ़ती कोरोना मरीजों की संख्या के बीच मध्य प्रदेश के भोपाल शहर में एक ही स्थान पर 200 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं। इसके बाद प्रशासन ने इलाके में ‘कंटेंनमेन्ट एरिया’ का बैनर लगाकर उसे पूरी तरह से सील कर दिया है। इतना ही नहीं इसकी चैन को तोड़ने के लिए प्रशासन कुछ परिवारों को होटलों में शिफ्ट करने में जुट गया है।

जानकारी के मुताबिक प्रदेश की राजधानी भोपाल के जहाँगीराबाद इलाके में कोरोना के कम्युनिटी स्प्रेड की आशंका ने जिला प्रशासन के साथ प्रदेश की सरकार को चिंता में डाल दिया है, क्योंकि जहाँगीराबाद में रहने वाली करीब 2000 की आबादी में 200 से अधिक लोगों में कोरोना का संक्रमण पाया गया है।

इसकी जानकारी मिलते ही प्रशासन ने इलाके को पूरी तरह से सील कर दिया है और बैरिकेडिंक के साथ कोरोना की चेन को तोड़ने में जुट गया है। इसके लिए अधिकांश परिवारों को होम क्वारंटीन कर दिया गया है। लोगों को घरों से बाहर न निकलने की सख्त हिदायत दी गई है। वहीं प्रशासन अब पुलिस के साथ सरकारी कर्मचारियों के परिवारों को शहर के दूसरे स्थानों पर मौजूद होटलों में शिफ्ट करने में लगा हुआ है।

पहले चरण में ऐसे लोगों को इलाके से निकाला जा रहा है, जिनकी रिपोर्ट कोरोना नेगिटिव पाई गई है। इसके तहत रविवार (10 मई, 2020) को प्रशासन ने स्वास्थ्य विभाग की मदद से 200 लोगों को शिफ्ट कर दिया था। दरअसल, जहाँगीराबाद इलाके में पहला कोरोना पॉजिटिव मरीज 4 अप्रैल को मिला था।

इसके बाद से ही इलाकें में मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती ही जा रही है, हालाँकि ऐसा पहली बार हुआ है कि जब इलाके में इतनी बड़ी संख्या में कोरोना संक्रमित लोग पाए गए हैं।

वहीं कलेक्टर तरुण पिथोड़े ने भोपाल में होम डिलिवरी करने वाले, सब्जी विक्रेताओं, सरकारी कर्मचारियों के लिए आरोग्य सेतु डाउनलोड करना अनिवार्य कर दिया है। साथ ही पिथोड़े ने लोगों से अपील की है कि वह खुद ही जागरुक समाज की तरह लॉकडाउन के नियमों का पालन करें।

आपको बता दें कि केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक मध्य प्रदेश में कोरोना से मरने वालों की संख्या 215, जबकि इससे संक्रमित मरीजों की संख्या 3614 हो गई है। राहत की खबर यह है कि अभी तक 1676 मरीज ठीक होकर अस्पतालों से अपने घर जा चुके हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

ये नंगे, इनके हाथ अपराध में सने, फिर भी शर्म इन्हें आती नहीं… क्योंकि ये है बॉलीवुड

राज कुंद्रा या गहना वशिष्ठ तो बस नाम हैं। यहाँ किसिम किसिम के अपराध हैं। हिंदूफोबिया है। खुद के गुनाहों पर अजीब चुप्पी है।

‘द प्रिंट’ ने डाला वामपंथी सरकार की नाकामी पर पर्दा: यूपी-बिहार की तुलना में केरल-महाराष्ट्र को साबित किया कोविड प्रबंधन का ‘सुपर हीरो’

जॉन का दावा है कि केरल और महाराष्ट्र पर इसलिए सवाल उठाए जाते हैं, क्योंकि वे कोविड-19 मामलों का बेहतर तरीके से पता लगा रहे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
112,242FollowersFollow
394,000SubscribersSubscribe