Friday, July 19, 2024
Homeदेश-समाज'भारत-माता क्या होती है... जान से मार देंगे': मुस्लिम छात्रों का 'भारत माता की...

‘भारत-माता क्या होती है… जान से मार देंगे’: मुस्लिम छात्रों का ‘भारत माता की जय’ से इनकार, हिंदू छात्रों को घेरकर पीटा

बड़ौद थाने के एसएचओ विवेक कानूडिया ने बताया है शिकायतकर्ता भरत सिंह की फरियाद पर 9 लोगों के खिलाफ नामजद और 9 अज्ञात आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

मध्य प्रदेश के आगर-मालवा जिले में ‘भारत-माता की जय’ बोलने को लेकर हुए विवाद के बाद मुस्लिम छात्रों ने हिंदू छात्रों को लाठी से पीटा और धमकी दी। आरोपितों ने दोबारा ‘भारत माता की जय’ बोलने को कहे जाने पर जान से मारने की धमकी भी दी। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ मारपीट, बलवा और एससी/एसटी के तहत केस दर्ज कर जाँच शुरू कर दी है।

रिपोर्ट के मुताबिक, घटना आगर-मालवा जिले के बड़ौद थाना क्षेत्र की है। यहीं के एक स्कूल में मंगलवार (12 अक्टूबर 2021) को सुबह की प्रार्थना और राष्ट्रगान के बाद छात्र ‘भारत माता की जय’ के नारे लगा रहे थे। लेकिन कुछ मुस्लिम छात्रों ने ऐसा करने से इनकार किया। भरत सिंह नाम के एक छात्र ने इसका कारण पूछा तो मुस्लिम छात्रों ने कहा कि ‘भारत माता क्या होती है।’

आम्बा बड़ौद गाँव के रहने वाले भरत पुत्र दिलीप सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह 12वीं का छात्र है। उसने कहा कि मंगलवार को वह कुलदीप सिंह, युवराज, तरुण और रोहित के साथ स्कूल गया था। वहाँ जब राष्ट्रगान के दौरान भारत माता की जय के नारे लगाए जा रहे थे तो ताहिर, समीर, अलफेज और शाहिल ने ऐसा करने से इनकार कर दिया। हमने इसका कारण पूछा था।

दिलीप ने बताया कि स्कूल की छुट्टी होने के बाद हम जा रहे थे तो रास्ते में ताहिर, आजाद, पिंटू, शकील, अजहर और शैफी समेत कई अन्य लोगों ने हमें रोक लिया और कहा कि तुम भारत माता की जय बुलवाने वाले कौन होते हो। इसके बाद सभी ने मिलकर हमें डंडों से पीटा। इस दौरान 8-10 लोग और आ गए। उन्होंने गालियाँ दी और दोबारा ऐसा करने पर जान से मारने की धमकी भी दी।

इस घटना को लेकर बड़ौद थाने के एसएचओ विवेक कानूडिया ने बताया है शिकायतकर्ता भरत सिंह की फरियाद पर 9 लोगों के खिलाफ नामजद और 9 अज्ञात आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। साथ ही मामले की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए इलाके में अतिरिक्त पुलिस फोर्स लगाई गई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

जहाँ सब हैं भोले के भक्त, बोल बम की सेवा जहाँ सबका धर्म… वहाँ अस्पृश्यता की राजनीति मत ठूँसिए नकवी साब!

मुख्तार अब्बास नकवी ने लिखा कि आस्था का सम्मान होना ही चाहिए,पर अस्पृश्यता का संरक्षण नहीं होना चाहिए।

अजमेर दरगाह के सामने ‘सर तन से जुदा’ मामले की जाँच में लापरवाही! कई खामियाँ आईं सामने: कॉन्ग्रेस सरकार ने कराई थी जाँच, खादिम...

सर तन से जुदा नारे लगाने के मामले में अजमेर दरगाह के खादिम गौहर चिश्ती की जाँच में लापरवाही को लेकर कोर्ट ने इंगित किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -