Friday, July 1, 2022
Homeदेश-समाज'भारत-माता क्या होती है... जान से मार देंगे': मुस्लिम छात्रों का 'भारत माता की...

‘भारत-माता क्या होती है… जान से मार देंगे’: मुस्लिम छात्रों का ‘भारत माता की जय’ से इनकार, हिंदू छात्रों को घेरकर पीटा

बड़ौद थाने के एसएचओ विवेक कानूडिया ने बताया है शिकायतकर्ता भरत सिंह की फरियाद पर 9 लोगों के खिलाफ नामजद और 9 अज्ञात आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है।

मध्य प्रदेश के आगर-मालवा जिले में ‘भारत-माता की जय’ बोलने को लेकर हुए विवाद के बाद मुस्लिम छात्रों ने हिंदू छात्रों को लाठी से पीटा और धमकी दी। आरोपितों ने दोबारा ‘भारत माता की जय’ बोलने को कहे जाने पर जान से मारने की धमकी भी दी। पुलिस ने आरोपितों के खिलाफ मारपीट, बलवा और एससी/एसटी के तहत केस दर्ज कर जाँच शुरू कर दी है।

रिपोर्ट के मुताबिक, घटना आगर-मालवा जिले के बड़ौद थाना क्षेत्र की है। यहीं के एक स्कूल में मंगलवार (12 अक्टूबर 2021) को सुबह की प्रार्थना और राष्ट्रगान के बाद छात्र ‘भारत माता की जय’ के नारे लगा रहे थे। लेकिन कुछ मुस्लिम छात्रों ने ऐसा करने से इनकार किया। भरत सिंह नाम के एक छात्र ने इसका कारण पूछा तो मुस्लिम छात्रों ने कहा कि ‘भारत माता क्या होती है।’

आम्बा बड़ौद गाँव के रहने वाले भरत पुत्र दिलीप सिंह ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि वह 12वीं का छात्र है। उसने कहा कि मंगलवार को वह कुलदीप सिंह, युवराज, तरुण और रोहित के साथ स्कूल गया था। वहाँ जब राष्ट्रगान के दौरान भारत माता की जय के नारे लगाए जा रहे थे तो ताहिर, समीर, अलफेज और शाहिल ने ऐसा करने से इनकार कर दिया। हमने इसका कारण पूछा था।

दिलीप ने बताया कि स्कूल की छुट्टी होने के बाद हम जा रहे थे तो रास्ते में ताहिर, आजाद, पिंटू, शकील, अजहर और शैफी समेत कई अन्य लोगों ने हमें रोक लिया और कहा कि तुम भारत माता की जय बुलवाने वाले कौन होते हो। इसके बाद सभी ने मिलकर हमें डंडों से पीटा। इस दौरान 8-10 लोग और आ गए। उन्होंने गालियाँ दी और दोबारा ऐसा करने पर जान से मारने की धमकी भी दी।

इस घटना को लेकर बड़ौद थाने के एसएचओ विवेक कानूडिया ने बताया है शिकायतकर्ता भरत सिंह की फरियाद पर 9 लोगों के खिलाफ नामजद और 9 अज्ञात आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। साथ ही मामले की गंभीरता को ध्यान में रखते हुए इलाके में अतिरिक्त पुलिस फोर्स लगाई गई है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘एकनाथ शिंदे मुख्यमंत्री बनेंगे, नहीं थी किसी को कल्पना’: राजनीति के धुरंधर एनसीपी चीफ शरद पवार भी खा गए गच्चा, कहा- उम्मीद थी वो...

शरद पवार ने कहा कि किसी को भी इस बात की कल्पना नहीं थी कि एकनाथ शिंदे को महाराष्ट्र का सीएम बना दिया जाएगा।

आँखों के सामने बच्चों को खोने के बाद राजनीति से मोहभंग, RSS से लगाव: ऑटो चलाने से महाराष्ट्र के CM बनने तक शिंदे का...

साल में 2000 में दो बच्चों की मौत के बाद एकनाथ शिंदे का राजनीति से मोहभंग हुआ। बाद में आनंद दिघे उन्हें वापस राजनीति में लाए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
201,269FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe