Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजमध्य प्रदेश के पीपलेश्वर महादेव मंदिर में तोड़फोड़: शिवलिंग और नंदी को उखाड़कर सड़क...

मध्य प्रदेश के पीपलेश्वर महादेव मंदिर में तोड़फोड़: शिवलिंग और नंदी को उखाड़कर सड़क पर फेंका, लोगों ने शाहरुख, रिहान, अनवर सहित 7 के खिलाफ दर्ज कराई FIR

मध्य प्रदेश के गुना जिले में स्थित पीपलेश्वर महादेव मंदिर में तोड़फोड़ की वारदात हुई है। इस घटना में अज्ञात लोगों ने मंदिर के दरवाजे को तोड़ दिया और फिर अंदर घुसकर शिवलिंग को उखाड़कर सड़क पर फेंक दिया। इस घटना से स्थानीय लोगों में आक्रोश है और उन्होंने पुलिस से आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी और उनके घरों को गिराए जाने की माँग की है।

मध्य प्रदेश के गुना जिले में स्थित पीपलेश्वर महादेव मंदिर में तोड़फोड़ की वारदात हुई है। इस घटना में अज्ञात लोगों ने मंदिर के दरवाजे को तोड़ दिया और फिर अंदर घुसकर शिवलिंग को उखाड़कर सड़क पर फेंक दिया। इस घटना से स्थानीय लोगों में आक्रोश है और उन्होंने पुलिस से आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी और उनके घरों को गिराए जाने की माँग की है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, यह वारदात बमोरी कस्बे में हुई है। यहाँ अज्ञात बदमाशों ने मुक्तिधाम के समीप स्थित प्राचीन पीपलेश्वर महादेव मंदिर में तोड़फोड़ की और शिवलिंग को खंडित कर दिया। ये वारदात बुधवार (31 जनवरी 2024) की रात हुई। बदमाशों ने शिवलिंग के साथ-साथ नंदी की मूर्ति को भी उखाड़ दिया। इस घटना के बाद पूरे कस्बे में तनाव फैल गया है।

बमोरी के सौरभ किरार ने पुलिस में रिपोर्ट कराई है। उन्होंने पुलिस को बताया कि नई टंकी के सामने शिव मंदिर बना है। सुबह 5 बजे वह मंदिर के पास से गुजर रहे थे तो देखा कि शिवजी की पिंडी और नंदी भगवान की मूर्ति टूटी पड़ी थी। सौरभ ने कहा कि उन्हें शक है कि शाहरुख, रिहान, वफाती, अनवर, जीशान, बिट्टू, रहीश ने मंदिर की मूर्तियों को क्षतिग्रस्त किया है। ये लोग गाँव में रात के 1 बजे तक घूमते रहते हैं।

बता दें कि बमोरी कस्बा गुना जिला मुख्यालय से करीब 40 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। स्थानीय लोगों ने ही इस वारदात की जानकारी पुलिस को दी है। ग्रामीणों का आरोप है कि यह कोई पहली घटना नहीं है। इससे पहले भी साल 2013 में इस मंदिर में तोड़फोड़ हो चुकी है। इसके बाद ग्रामीणों ने मंदिर का फिर से जीर्णोद्धार करके भगवान के विग्रह की पुन: प्राण प्रतिष्ठा कराई थी।

ग्रामीण सभी आरोपितों की गिरफ्तारी की माँग कर रहे हैं। हंगामे को देखते हुए भारी पुलिस बल को तैनात किया गया है। इस मामले में पुलिस ने संदेह के आधार पर धर्म विशेष के सात लोगों के विरुद्ध धारा 295 के तहत केस दर्ज किया है। पुलिस ने शक के आधार पर 4 लोगों को हिरासत में लिया है और उनसे पूछताछ कर रही है। इसके साथ ही इलाके की सीसीटीवी फुटेज की भी जाँच की जा रही है।

बमोरी पुलिस थाने के इन्चार्ज अरविंद गौड़ ने बताया कि 5-6 लोगों ने मंदिर को अपवित्र करने का काम किया है। जिला प्रशासन का कहना है कि स्थिति को नियंत्रण में करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं और जल्द ही सभी आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। आक्रोशित लोग आरोपितों का पता लगाकर उनके घर गिराने की माँग की है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

टीम से बाहर होने पर मोहम्मद शमी का वायरल वीडियो, कहा – किसी के बाप से कुछ नहीं लेता हूँ, बल्कि देता हूँ

"मुझे मौका दोगे तभी तो मैं अपनी स्किल दिखाऊँगा, जब आप हाथ में गेंद दोगे। मैं सवाल नहीं पूछता। जिसे मेरी ज़रूरत है, वो मुझे मौका देगा।"

थूक लगी रोटी सोनू सूद को कबूल है, कबूल है, कबूल है! खुद की तुलना भगवान राम से, खाने में थूकने वाले उनके लिए...

“हमारे श्री राम जी ने शबरी के जूठे बेर खाए थे तो मैं क्यों नहीं खा सकता। बस मानवता बरकरार रहनी चाहिए। जय श्री राम।” - सोनू सूद

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -