Friday, May 31, 2024
Homeदेश-समाज'तलवार के दम पर नहीं बल्कि अपनी मर्जी से बना हूँ हिन्दू': मंदसौर के...

‘तलवार के दम पर नहीं बल्कि अपनी मर्जी से बना हूँ हिन्दू’: मंदसौर के जफ़र शेख ने की घर वापसी, अब कहलाएँगे चैतन्य सिंह राजपूत

"मैंने तलवार के दम पर नहीं बल्कि अपनी इच्छा से धर्म परिवर्तन किया है। आज मैं बहुत खुश हूँ और मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। मैं बचपन से ही सनातन को मानता हूँ। मेरे घर में मंदिर है जहाँ मैं पूजा करता हूँ।"

मध्य प्रदेश के मंदसौर में शेख जफर नाम के एक व्यक्ति ने विधि-विधान से हिन्दू धर्म अपनाते हुए घर वापसी की है। अब वो चैतन्य सिंह राजपूत के नाम से जाने जाएँगे। उन्होंने स्थानीय पशुपतिनाथ मंदिर में पूजा अर्चना करते हुए महामंडलेश्वर चिदंबरानंद सरस्वती से आशीर्वाद भी लिया है। शेख जफर की घर वापसी शुक्रवार (27 मई 2022) को हुई है। यह जानकारी उन्होंने अपने फेसबुक अकॉउंट पर शेयर की है।

अपनी घर वापसी को अपने फेसबुक पर शेयर करते हुए जफर ने लिखा, “तो पता चल गया ना आज 27 मई को कुछ हुआ ना बड़ा। हर हर महादेव। इस शुभ आयोजन में पधारे सभी राजनीतिक, सामाजिक, पत्रकारिता के महानुभावों का ह्रदय से आभार धन्यवाद। आईडी का नाम चेंज हो जाएगा अब। चैतन्य सिंह राजपूत के नाम से जाना जाए। जय गुरुदेव स्वामी चिदम्बरानन्द सरस्वती जी।”

घर वापसी के बाद चैतन्य सिंह राजपूत ने कहा, “मैंने तलवार के दम पर नहीं बल्कि अपनी इच्छा से धर्म परिवर्तन किया है। आज मैं बहुत खुश हूँ और मुझे बहुत अच्छा लग रहा है। मैं बचपन से ही सनातन को मानता हूँ। मेरे घर में मंदिर है जहाँ मैं पूजा करता हूँ। मैं मंदिरों में भी जाता था। मैं पहले से ही सनातन का पालन कर रहा था अब पूरे विधि-विधान से मैं सनातन में आ गया हूँ। मुझे लगता है कि इस ब्रह्माण्ड में जो भी मनुष्य के रूप में पैदा हुआ है वो सब सनातनी थे। उनका जोर-जुल्म या किसी भी और तरीके से धर्म परिवर्तन करवाया गया होगा। मेरा नया नाम चैतन्य सिंह राजपूत कुंडली से निकला हुआ है। मैं एक आज़ाद देश में रहता हूँ। किस धर्म को मानना है ये मेरी स्वतंत्रता है। जिसे विरोध करना है वो स्वतंत्र है। कौन क्या मानता है उसे मैं नहीं बोलता। अगर मुझे कोई बोलेगा तो ये गलत है।”

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक महामंडलेश्वर स्वामी चिदंबरानन्द ने कहा, “भारत का हर मुस्लिम पहले हिन्दू था। इनके पूर्वज सनातनी थे। ये बात शेख जफर को समझ में आ गई है। इसलिए उन्होंने विधि-विधान से हिन्दू धर्म स्वीकार कर लिया है।” वही इस कार्यक्रम में शामिल हुए मंदसौर से भाजपा विधायक यशपाल सिंह सिसौदिया ने कहा, “शेख जफर ने हिन्दू बनने की इच्छा मुझ से जताई थी। मैंने उनकी इच्छा भगवान पशुपति नाथ मंदिर में पूरी करवा दी। अब चैतन्य सिंह राजपूत को बहुत-बहुत बधाई और शुभकामनाएँ।” शेख जफर ने उज्जैन की विक्रम यूनिवर्सिटी में पढ़ाई की थी। वो मंदसौर के सामाजिक कार्यकर्ता है और मंदसौर जनसुनवाई न्यूज़ पेपर में काम करते हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

200+ रैली और रोडशो, 80 इंटरव्यू… 74 की उम्र में भी देश भर में अंत तक पिच पर टिके रहे PM नरेंद्र मोदी, आधे...

चुनाव प्रचार अभियान की अगुवाई की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने। पूरे चुनाव में वो देश भर की यात्रा करते रहे, जनसभाओं को संबोधित करते रहे।

जहाँ माता कन्याकुमारी के ‘श्रीपाद’, 3 सागरों का होता है मिलन… वहाँ भारत माता के 2 ‘नरेंद्र’ का राष्ट्रीय चिंतन, विकसित भारत की हुंकार

स्वामी विवेकानंद का संन्यासी जीवन से पूर्व का नाम भी नरेंद्र था और भारत के प्रधानमंत्री भी नरेंद्र हैं। जगह भी वही है, शिला भी वही है और चिंतन का विषय भी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -