Wednesday, December 1, 2021
Homeदेश-समाजमहाराष्ट्र कॉन्ग्रेस अध्यक्ष मोहम्मद आरिफ नसीम खान कर रहे थे छेड़छाड़, महिला ने...

महाराष्ट्र कॉन्ग्रेस अध्यक्ष मोहम्मद आरिफ नसीम खान कर रहे थे छेड़छाड़, महिला ने कराया केस दर्ज, कुल 5 लोगों पर FIR

महाराष्ट्र में कॉन्ग्रेस के छह कार्यकारी अध्यक्षों में से एक नसीम खान हैं। इस मामले में अभी तक किसी भी शख्स की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

महाराष्ट्र में सत्ताधारी महाविकास अघाड़ी गठबंधन में शामिल कॉन्ग्रेस पार्टी के कार्यकारी अध्यक्ष आरिफ नसीम खान पर एक महिला के बयान के आधार पर केस दर्ज किया गया है। मुंबई पुलिस ने बताया कि आरिफ नसीम खान के अलावा 4 अन्य लोगों पर भी केस दर्ज हुआ है।

यह मामला मुंबई के अंधेरी पुलिस स्टेशन में दर्ज किया गया है। पुलिस ने इन पाँच लोगों के खिलाफ आईपीसी की धारा 354, 509, 506, 323, 504 और 34 के तहत मामला दर्ज किया है। इस संबंध में आरिफ नसीम खान की तरफ से भी अभी तक कोई बयान सामने नहीं आया है।

जानकारी के मुताबिक पहले साकी नाका पुलिस स्टेशन में FIR दर्ज की गई थी, लेकिन बाद में अधिकार क्षेत्र के मुद्दे को देखते हुए इसे अंधेरी पुलिस स्टेशन ट्रांसफर कर दिया गया। हालाँकि, इस मामले में अभी किसी भी शख्स की गिरफ्तारी नहीं हुई है।

बता दें कि महाराष्ट्र में कॉन्ग्रेस के छह कार्यकारी अध्यक्षों में से एक नसीम खान हैं। उन छह कार्यकारी अध्यक्ष में मोहम्मद आरिफ नसीम खान के अलावा शिवाजी राव मोगे, बसवराज पाटिल, कुनाल रोहिदास पाटिल, चंद्रकांत और प्रनति सुशील कुमार शिंदे हैं। 

2019 में विधानसभा चुनाव में हार गए थे नसीम खान

अक्टूबर 2019 में हुए राज्य विधानसभा चुनावों में कॉन्ग्रेस प्रत्याशी के रूप में नसीम खान, शिवसेना के उम्मीदवार दिलीप लांडे के खिलाफ 409 वोटों के अंतर से चांदीवली सीट से चुनाव हार गए थे। शिवसेना उम्मीदवार दिलीप लांडे को 85816 जबकि कॉन्ग्रेस उम्मीदवार आरिफ खान को 85436 वोट मिले थे। वहीं, चांदीवली विधानसभा सीट पर 2014 के महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव में कॉन्ग्रेस के आरिफ खान ने शिवसेना के प्रत्याशी को 29469 वोटों से हराया था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कभी ज़िंदा जलाया, कभी काट कर टाँगा: ₹60000 करोड़ का नुकसान, हत्या-बलात्कार और हिंसा – ये सब देश को देकर जाएँगे ‘किसान’

'किसान आंदोलन' के कारण देश को 60,000 करोड़ रुपए का घाटा सहना पड़ा। हत्या और बलात्कार की घटनाएँ हुईं। आम लोगों को परेशानी झेलनी पड़ी।

बारबाडोस 400 साल बाद ब्रिटेन से अलग होकर बना 55वाँ गणतंत्र देश: महारानी एलिजाबेथ द्वितीय का शासन पूरी तरह से खत्म

बारबाडोस को कैरिबियाई देशों का सबसे अमीर देश माना जाता है। यह 1966 में आजाद हो गया था, लेकिन तब से यहाँ क्वीन एलीजाबेथ का शासन चलता आ रहा था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
140,754FollowersFollow
412,000SubscribersSubscribe