Saturday, July 13, 2024
Homeदेश-समाजहर साल 100-200 हिंदू लड़कियों का धर्मांतरण, लड़कों का जबरदस्ती खतना: महाराष्ट्र के दौंड...

हर साल 100-200 हिंदू लड़कियों का धर्मांतरण, लड़कों का जबरदस्ती खतना: महाराष्ट्र के दौंड का हाल, रिपोर्ट में दावा- मुस्लिम लड़कों को मिलते हैं ₹5 लाख

लोगों ने बताया कि दौंड में चल रही धर्मांतरण गतिविधियों के पीछे फारुक कुरैशी, कमल कुरैशी, आसिब कुरैशी, फरहान कुरैशी का हाथ है। कोई भी इनके नाम लेने से डरता है। इनमें से कुमेल कुरैशी उर्फ हाजिब साहब को गिरफ्तार किया जा चुका है।

महाराष्ट्र में हिंदू लड़कियों के धर्म परिवर्तन को लेकर चौंकाने वाला खुलासा हुआ है। टाइम्स नाऊ की रिपोर्ट के मुताबिक दौंड में हर साल करीबन 200 लड़कियाँ मुसलमान बनाई जा रही हैं। हिंदू परिवारों का दावा है कि ऐसा करने के लिए मुस्लिम लड़के 5 लाख रुपए पाते हैं। इस खुलासे को करते हुए हिंदू परिवारों ने जानकारी दी कि इस्लामी कट्टरपंथियों को राजनेताओं का साथ मिला हुआ है। सांसद से लेकर पुलिस तक इनकी मदद कर रहे हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, केवल हिंदू औरतें ही नहीं हिंदू आदमी भी इस इलाके में इस्लामी धर्मांतरण का शिकार बन रहे हैं। हिंदू लड़कों को हनी ट्रैप में फँसाया जाता है और फिर उनसे धर्मांतरण के लिए बोला जाता है। लोगों का दावा है कि करीबन 100 लोगों को खतना के लिए मजबूर किया गया और कुछ का जबरन खतना कराया गया।

टाइम्स नाऊ से बात करते हुए एक स्थानीय ने कहा, “एक साल में, यहाँ लगभग 100 से 200 लोगों का धर्मांतरण होता है। उनमें से ज्यादातर लड़कियाँ हैं। वे लड़कियाँ 17 या 18 साल की होती हैं और वो भी ज्यादातर कॉलेज में होती हैं जब ये लोग उनका ब्रेन वॉश करते हैं। ये लोग निकाह की बातें करते हैं, उसके बाद बच्चा होता है तो तलाक देकर छोड़ देते हैं और फिर से खुद को शादी के लिए तैयार करते हैं।”

हिंदू कहते हैं कि उन्हें इन मामलों में बोलने से डर लगता है कि कुछ भी प्रतिक्रिया देने पर लड़कियों को मारा-पीटा और धमकाया जाता है। एक व्यक्ति कहता है, “यह लोग युवा लड़कियों को सरेआम सड़क पर छेड़ते हैं लेकिन कोई कुछ भी नहीं कहता और न ही इनके विरुद्ध शिकायत होती है। हर राजनेता इनको सपोर्ट करता है, इसलिए कोई भी आवाज नहीं उठाता। लोग इन मामलों पर बात करने से भी घबराते हैं।”

टाइम्स नाऊ से बात करते हुए लोगों ने बताया कि दौंड में चल रही धर्मांतरण गतिविधियों के पीछे फारुक कुरैशी, कमल कुरैशी, आसिब कुरैशी, फरहान कुरैशी का हाथ है। कोई भी इनके नाम लेने से डरता है। इनमें से कुमेल कुरैशी उर्फ हाजिब साहब को गिरफ्तार किया जा चुका है। दौंड में चल रहे धर्म परिवर्तन और पुरुषों के खतना कराने के खेल में उसका सीधा नाम है।

एक हिंदू ने तो बताया  कि कैसे उसका जबरन खतना सिर्फ इसलिए कराया गया क्योंकि उसकी बीवी मुस्लिम है। हिंदू व्यक्ति के मुताबिक, “उन्होंने मुझे नीचे गिराया और वीडियो बनानी शुरू कर दी। एक आसिब शेख ने मेरी बांह पकड़ी और कमल कुरैशी ने मेरी टाँग। इसके बाद डॉक्टर से कहा गया कि वो खतना करें। बाद में वह मुझे खून से लथपथ छोड़ गए।” ऐसे ही एक लड़की ने बताया कि पहले उसे प्रेम के जाल में फँसाया गया और उसके बाद जब वह कोर्ट शादी के लिए पहुँची तो उसे दस्तावेज से पता चला लड़के का असली नाम क्या है। लड़की ने कहा भी कि उसके साथ फ्रॉड हुआ है। मगर लड़का वहाँ भी उसे सब संभालने की बात कहकर उसे बहलाता रहा।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

NITI आयोग की रिपोर्ट में टॉप पर उत्तराखंड, यूपी ने भी लगाई बड़ी छलाँग: 9 साल में 24 करोड़ भारतीय गरीबी से बाहर निकले

NITI आयोग ने सस्टेनेबल डेवलपमेंट गोल्स (SDG) इंडेक्स 2023-24 जारी की है। देश में विकास का स्तर बताने वाली इस रिपोर्ट में उत्तराखंड टॉप पर है।

लैंड जिहाद की जिस ‘मासूमियत’ को देख आगे बढ़ जाते हैं हम, उससे रोज लड़ते हैं प्रीत सिंह सिरोही: दिल्ली को 2000+ मजार-मस्जिद जैसी...

प्रीत सिरोही का कहना है कि वह इन अवैध इमारतों को खाली करवाएँगे। इन खाली हुई जमीनों पर वह स्कूल और अस्पताल बनाने का प्रयास करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -