Saturday, September 18, 2021
Homeदेश-समाज100000 मरीजों को हर दिन ऑक्सीजन दे रहा मुकेश अम्बानी का RIL, 1000 MT...

100000 मरीजों को हर दिन ऑक्सीजन दे रहा मुकेश अम्बानी का RIL, 1000 MT का प्रतिदिन उत्पादन

RIL के अनुसार कंपनी का मेडिकल ऑक्सीजन का उत्पादन शून्य से आज 1000 मीट्रिक टन तक पहुँच गया है जिससे प्रतिदिन लगभग 100,000 मरीजों की ऑक्सीजन की आवश्यकताओं की पूर्ति हो रही है। कंपनी के अनुसार चेयरमैन मुकेश अंबानी खुद ही ऑक्सीजन के उत्पादन और उसके सरल परिवहन की समीक्षा कर रहे हैं।

कोरोनावायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच रिलायंस समूह सक्रियता से देश की सहायता के लिए आगे आया है। महाराष्ट्र को 100 टन ऑक्सीजन मुफ्त में उपलब्ध कराने से लेकर अब देश का सबसे बड़ा ऑक्सीजन उत्पादक बन गया है रिलायंस समूह। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) देश में सबसे ज्यादा मेडिकल ऑक्सीजन का उत्पादन कर रहा है। वर्तमान में रिलायंस की जामनगर रिफाइनरी और उसके दूसरे अन्य औद्योगिक क्षेत्रों से 1000 मीट्रिक टन मेडिकल लिक्विड ऑक्सीजन का उत्पादन हो रहा है जो कि देश के कुल मेडिकल ऑक्सीजन उत्पादन का लगभग 11% है।

RIL के अनुसार कंपनी का मेडिकल ऑक्सीजन का उत्पादन शून्य से आज 1000 मीट्रिक टन तक पहुँच गया है जिससे प्रतिदिन लगभग 100,000 मरीजों की ऑक्सीजन की आवश्यकताओं की पूर्ति हो रही है। कंपनी के अनुसार चेयरमैन मुकेश अंबानी खुद ही ऑक्सीजन के उत्पादन और उसके सरल परिवहन की समीक्षा कर रहे हैं।

RIL के द्वारा दिए गए आँकड़ों के अनुसार अप्रैल 2021 में रिलायंस के द्वारा 15,000 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन लगभग 15,00,000 मरीजों को मुफ्त में उपलब्ध कराई जा चुकी है।

रिलायंस कंपनी ने बताया कि ARAMCO, BP और भारतीय वायु सेना की सहायता से ऑक्सीजन परिवहन के लिए 24 ISO कंटेनर्स को एयरलिफ्ट किया जा चुका है और आगे अधिक ISO कंटेनर्स की व्यवस्था करने की योजना है।

RIL के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर मुकेश अंबानी ने कहा, “रिलायंस के लिए Covid-19 के इस बढ़ते संक्रमण के दौरान लोगों की जान बचाने से अधिक जरूरी कुछ भी नहीं है।“ उन्होंने जामनगर के अपने इंजीनियर्स पर गर्व करते हुए कहा कि उन्होंने संकट की इस घड़ी में मेडिकल ऑक्सीजन की आवश्यकता की पूर्ति के लिए राष्ट्रसेवा के भाव से जो कार्य किया है वह सराहनीय है।

मेडिकल ऑक्सीजन के उत्पादन और उसके परिवहन के लिए रिलायंस ने दो स्तर पर आधारित रणनीति बनाई है। पहली रणनीति है, जामनगर और दूसरे औद्योगिक केंद्रों में मेडिकल ऑक्सीजन के तीव्र उत्पादन के लिए आवश्यक प्रक्रियाओं पर ध्यान देना और दूसरी रणनीति है, लोडिंग-अनलोडिंग और परिवहन साधनों तथा प्रक्रियाओं का संवर्धन।

रिलायंस फाउंडेशन की चेयरपर्सन और मुकेश अंबानी की पत्नी नीता अंबानी ने कहा कि महामारी के इस दौर में एक-एक जान कीमती है और देश की सहायता करने के लिए रिलायंस सब कुछ करेगा।

रिलायंस ने बताया कि उसके द्वारा विभिन्न राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को ‘मुफ्त’ में मेडिकल ऑक्सीजन मुहैया कराई जा रही है। महामारी के दौरान देश में रिलायंस अब तक 55,000 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति कर चुका है।   

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘फर्जी प्रेम विवाह, 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का यौन शोषण व उत्पीड़न’: केरल के चर्च ने कहा – ‘योजना बना कर हो रहा...

केरल के थमारसेरी सूबा के कैटेसिस विभाग ने आरोप लगाया है कि 100 से अधिक ईसाई लड़कियों का फर्जी प्रेम विवाह के नाम पर यौन शोषण किया गया।

डॉ जुमाना ने किया 9 बच्चियों का खतना, सभी 7 साल की: चीखती-रोती बच्चियों का हाथ पकड़ लेते थे डॉ फखरुद्दीन व बीवी फरीदा

अमेरिका में मुस्लिम डॉक्टर ने 9 नाबालिग बच्चियों का खतना किया। सभी की उम्र 7 साल थी। 30 से अधिक देशों में है गैरकानूनी।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
122,951FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe