Saturday, May 18, 2024
Homeदेश-समाजपंजाब से महाराष्ट्र क्यों कूरियर हो रहे धारदार हथियार: अब तलवार-खंजर-छुरी से भरे बक्से...

पंजाब से महाराष्ट्र क्यों कूरियर हो रहे धारदार हथियार: अब तलवार-खंजर-छुरी से भरे बक्से पकड़े गए, कभी औरंगाबाद का इरफान ऑनलाइन खरीद रहा था 49 तलवार

इससे पहले औरंगाबाद पुलिस ने एक जानी-मानी कूरियर कंपनी के गोदाम से 37 तलवार और एक खंजर बरामद किया था। इसे पंजाब से अहमदनगर के एक व्यक्ति के पास भेजा जा रहा था।

महाराष्ट्र के पिंपरी-चिंचवड (Pimpri Chinchwad) में धारदार हथियारों का जखीरा मिला है। पुलिस ने सोमवार (4 अप्रैल 2022) को दिघी स्थित एक निजी कूरियर कंपनी के गोदाम से इनकी बरामदगी की। हथियार लकड़ी के दो बक्सों में रखे हुए थे। 92 तलवार, 2 खंजर और 9 छुरी बरामद की गई।

तलवार, छुरी और खंजर से भरे ये बक्से कथित तौर पर अमृतसर निवासी उमेश सूद ने औरंगाबाद के रहने वाले अनिल होण को भेजे गए थे। पुलिस ने दोनों के खिलाफ आईपीसी और आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक यह मामला 1 अप्रैल को उस वक्त प्रकाश में आया जब कूरियर कंपनी के कर्मचारियों ने इलेक्ट्रॉनिक मशीनों के जरिए पार्सल को स्कैन किया। कर्मचारियों ने बिना देर किए इस मामले की जानकारी तुरंत पुलिस को दी। उन्होंने बताया कि तलवारें कूरियर के जरिए पार्सल की जा रही है। इसके बाद पुलिस की एक टीम मौके पर पहुँची और 92 तलवारें, 2 खंजर और 9 छुरी बरामद की। जब्त किए गए सभी हथियारों की कीमत 3.7 लाख रुपए बताई जा रही है।

पिंपरी चिंचवड पुलिस कमिश्नर कृष्णा प्रकाश ने मंगलवार (5 अप्रैल 2022) को बताया, “दिघी इलाके से तलवारें जब्त की गई हैं। यह खेप महाराष्ट्र के औरंगाबाद भेजी जानी थी। 30 मार्च को इसी तरह की एक और घटना सामने आई थी, जिसके बाद दिघी के वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक दिलीप शिंदे ने कूरियर कंपनी के प्रबंधक को आने वाले सभी पार्सल को एक्स-रे मशीन से स्कैन करने के लिए कहा था। जब गोदाम में सभी पार्सल की जाँच की गई तो लकड़ी के दो बक्सों में तलवारें मिलीं।”

बताया जा रहा है कि औरंगाबाद पुलिस ने 30 मार्च को एक जानी-मानी कूरियर कंपनी के गोदाम से 37 तलवारें और एक खंजर बरामद किया था। तलवारों से भरी पेटी पंजाब निवासी मनिंदर द्वारा अहमदनगर के आकाश पाटिल के पास भेजी गई थी। पुलिस ने उन पर आईपीसी की संबंधित धाराओं और आर्म्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया था। वरिष्ठ पुलिस निरीक्षक (Senior Police Inspector) दिलीप शिंदे और उनकी टीम इस मामले का पता लगाने में जुट गई है कि हथियारों का इतना बड़ा जखीरा कहाँ और किसके लिए इस्तेमाल किया जाना था। इससे पहले जुलाई 2021 में औरंगाबाद में इरफान खान नाम के एक शख्स को ऑनलाइन पोर्टल से 49 तलवारें खरीदते हुए पकड़ा गया था।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

CM केजरीवाल के घर से विभव कुमार को दिल्ली पुलिस ने उठाया: स्वाति मालीवाल की आई मेडिकल रिपोर्ट, आँख-चेहरा-पैर में चोट

राज्यसभा सांसद स्वाति मालीवाल के साथ मारपीट के मामले में दिल्ली पुलिस ने सीएम केजरीवाल के पीए विभव कुमार को हिरासत में ले लिया है।

‘AAP झूठ की बुनियाद पर बनी पार्टी, इसकी विश्वसनीयता शून्य नहीं, माइनस में’ – BJP के साथ स्वाति मालीवाल मुद्दे पर जेपी नड्डा का...

दिल्ली सरकार में मंत्री आतिशी ने कहा कि स्वाति मालीवाल लंबे समय से भाजपा नेताओं के संपर्क में हैं और उनके ही इशारे पर ये साजिश रची गई।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -