Sunday, September 26, 2021
Homeदेश-समाजमहाराष्ट्र में कूड़े के बैग में पैक हो रहे कोरोना संक्रमितों के शव, वायरल...

महाराष्ट्र में कूड़े के बैग में पैक हो रहे कोरोना संक्रमितों के शव, वायरल Video से उद्धव सरकार पर उठे गंभीर सवाल

वीडियो में शवों को स्ट्रेचर पर पड़ा देखा जा सकता है। इनमें से एक पर काली पॉलीथीन चिपकाई गई है, जबकि चेहरा सफेद पॉलिथीन से ढका है। कुल 3 शव पन्नी में लिपटे साफ दिख रहे हैं। स्वास्थकर्मी धीरे-धीरे उठाकर उन्हें ठाणे की पंजीकृत एंबुलेंस MH04 KF2932 में रख रहे हैं।

महाराष्ट्र में कोरोना संक्रमण के कारण राज्य में मौतों का आँकड़ा बढ़ने के साथ प्रशासन की लापरवाही की एक और वीडियो सामने आई है। वीडियो में वायरस से जान गँवाने वालों के कोरोना संक्रमितों के शव कचरे वाले बैग में पैक दिख रहे हैं। वीडियो सामने आने पर उद्धव सरकार की लापरवाही पर गंभीर सवाल उठा रहे हैं।

सोमवार को भाजपा नेता किरीट सोमय्या ने इस वीडियो को अपने ट्विटर पर शेयर किया। वीडियो उस समय की है जब ठाणे के साकेत ग्लोबल अस्पताल से सारे शव दाह संस्कार के लिए एंबुलेंस में डाले जा रहे थे।

वीडियो में शवों को स्ट्रेचर पर पड़ा देखा जा सकता है। इनमें से एक पर काली पॉलीथीन चिपकाई गई है, जबकि चेहरा सफेद पॉलिथीन से ढका है। कुल 3 शव पन्नी में लिपटे साफ दिख रहे हैं। स्वास्थकर्मी धीरे-धीरे उठाकर उन्हें ठाणे की पंजीकृत एंबुलेंस MH04 KF2932 में रख रहे हैं।

किरीट सौमैया ने इस वीडियो को शेयर कर लिखा, “अब ठाकरे सरकार प्लास्टिक और कचड़ा बैग का इस्तेमाल कोविड डेड बॉडी को पैक करने के लिए कर रही है।” इस वीडियो के सामने आने के बाद कई एक्टिविस्ट और स्थानीय महा विकास आघाडी सरकार की कार्यशैली पर सवाल उठाने लगे।

इस संबंध में एक अधिकारी ने टाइम्स ऑफ इंडिया से बातचीत में कहा, “संभवतः शवों को पैक करने के लिए बॉडी बैग की कमी हुई हो क्योंकि पिछले कुछ दिनों में मृत्यु के आँकड़े बढ़ गए हैं, जिससे कर्मचारियों को शवों को लपेटने के लिए बेडशीट का उपयोग करने के लिए मजबूर होना पड़ा।”

कथिततौर पर, साकेत ग्लोबर कोविड अस्पताल में बॉडी बैग की कमी हो गई है जबकि ठाणे के नगर निगम में एडिशनल कमीशनर गणेश देशमुख ने आरोपों को खारिज किया है। देशमुख का कहना है कि कोई बेडशीट डेड बॉडी बाँधने के लिए इस्तेमाल नहीं हुई।

प्रशासन ने एक चिता पर जलाए 8 शव

कुछ दिन पहले महाराष्ट्र के बीड जिले से एक ऐसी ही लापरवाही वाली घटना उजागर हुई थी। जहाँ प्रशासन ने आठों शवों को एक अस्थायी श्मशान पर एक ही चिता में जला डाला था। एक अधिकारी ने बताया था कि 6 अप्रैल को मजबूरी में आठ शवों को एक ही चिता पर जलाना पड़ा। संक्रमण इतनी तेजी से फैल रहा है कि अभी और मौतें होने की आशंका हैं।

महाराष्ट्र में कोरोना हुआ बेकाबू

महाराष्ट्र में कोरोना के केस तेजी से बढ़ रहे हैं। सोमवार को यहाँ 51, 751 नए मरीज दर्ज किए गए। वहीं 258 लोगों की मौत भी हुई। एक दिन पहले की बात करें तो राज्य में 63, 294 मामले आए थे। अब तक राज्य कुल संक्रमण केसों की संख्या 34 लाख 58 हजार 996 हो गई है। वहीं मृतकों का आँकड़ा भी 58, 245 पहुँच गया है। महाराष्ट्र सरकार, राज्य में लॉकडाउन के मद्देनजर बुधवार को फैसला ले सकती है। फिलहाल के लिए राज्य में 10वीं और 12वीं की परीक्षाएँ टाल दी गई हैं। 

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

65 घंटे में 24 बड़ी बैठकें: फ्लाइट से लेकर होटल तक बैठकें करते रहे 71 साल के PM मोदी, अब दिल्ली में भी व्यस्त...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने अमेरिका दौरे में 65 घंटों के भीतर 24 बड़ी बैठकों में हिस्सा लिया है। इनमें से 4 लंबी बैठकें तो फ्लाइट में ही हुईं।

मंदिर तोड़े, गाँव के गाँव मुस्लिम बना दिए, राजाओं का भी धर्मांतरण: बंद हो जिहादी सूफियों को ‘संत’ कहना, वामपंथियों ने किया गुणगान

उदाहरण से समझिए कि जिन सूफियों को 'संत' कहा गया, वो 'काफिरों के इस्लामी धर्मांतरण' के लिए आए थे। मंदिर तोड़े। सुल्तानों का काम आसान करते थे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
124,410FollowersFollow
410,000SubscribersSubscribe