Tuesday, June 25, 2024
Homeदेश-समाज'तुम्हारा टाइम खत्म' : बागेश्वर धाम वाले पंडित धीरेंद्र शास्त्री को मिली जान से...

‘तुम्हारा टाइम खत्म’ : बागेश्वर धाम वाले पंडित धीरेंद्र शास्त्री को मिली जान से मारने की धमकी, आरोपित बिहार से गिरफ्तार; खुद को बताया बिश्नोई गैंग का मेंबर

बागेश्वर धाम पीठाधीश्वर पंडित धीरेन्द्र शास्त्री को लॉरेंस बिश्नोई गैंग का मेंबर बता कर जान से मारने की धमकी देने वाला आकाश बिहार से गिरफ्तार कर लिया गया है। मध्य प्रदेश पुलिस ने आकाश का पता लगाने के लिए इंटरपोल की और स्विटजरलैंड की एजेंसियों की सहायता ली थी।

मध्य प्रदेश पुलिस ने बागेश्वर धाम के पीठाधीश्वर पंडित धीरेन्द्र शास्त्री को ई-मेल के जरिए जान से मार डालने की धमकी देने वाले युवक को गिरफ्तार कर लिया है। धमकी देने वाले ने खुद को लॉरेंस विश्नोई गैंग का मेंबर बताया था और 10 लाख रुपए फिरौती माँगी थी। शनिवार (9 दिसंबर 2023) को गिरफ्तार आरोपित का नाम आकाश कुमार है जो बिहार के नालंदा का रहने वाला है। आकाश कुमार की गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने इंटरपोल की मदद भी ली। आरोपित से पूछताछ की जा रही है।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक आरोपित आकाश मूल रूप से बिहार के नालंदा जिले के शंकरडीह क्षेत्र का रहने वाला है। फिलहाल वो राजधानी पटना के कंकरबाग इलाके में रह रहा था। आकाश की गिरफ्तारी भी पटना से ही हुई है। आरोपित ने एक फर्जी ई-ेमल ID बना कर 19 अक्टूबर 2023 को बागेश्वर धाम की आधिकारिक ID पर मेल किया। ई मेल में आकाश ने खुद को लॉरेंस विश्नोई गैंग का बताते हुए 10 लाख रुपए फिरौती माँगी थी। पैसे देने के लिए 1 दिन का समय देते हुए बाद में जान से मार डालने की धमकी दी गई थी।

बागेश्वर धाम की तरफ से इस मामले की FIR छतरपुर जिले के थाना बमीठा में दर्ज करवाई गई थी। पुलिस ने 20 अक्टूबर 2023 को ही FIR दर्ज कर के फ़ौरन ही कार्रवाई भी शुरू कर दी। बागेश्वर धाम की तरफ से कोई जवाब न मिलने पर आकाश ने 22 अक्टूबर 2023 को एक बार फिर से ई-मेल किया। इस ई-मेल में आरोपित ने टाइम खत्म होने की धमकी दी। आखिरकार छतरपुर पुलिस ने इंटरपोल से सम्पर्क किया। स्विट्जरलैंड तक की जाँच एजेंसियों ने इस मामले में मध्य प्रदेश पुलिस का सहयोग किया। इसी सहयोग की वजह से आखिरकार छतरपुर पुलिस पटना में आरोपित आकाश को पकड़ने में कामयाब रही।

पुलिस ने आरोपित से उसका मोबाइल बरामद कर लिया है जिसे जाँच के लिए फोरेंसिक लैब में भेजा गया है। आरोपित पर IPC की धारा 387 और 507 के तहत कार्रवाई की गई है। आकाश को न्यायिक अभिरक्षा में जेल भेज दिया गया है। पुलिस मामले की जाँच कर रही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

शिखर बन जाने पर नहीं आएँगी पानी की बूँदे, मंदिर में कोई डिजाइन समस्या नहीं: राम मंदिर निर्माण समिति के चेयरमैन नृपेन्द्र मिश्रा ने...

श्रीराम मंदिर निर्माण समिति के मुखिया नृपेन्द्र मिश्रा ने बताया है कि पानी रिसने की समस्या शिखर बनने के बाद खत्म हो जाएगी।

दर-दर भटकता रहा एक बाप पर बेटे की लाश तक न मिली, यातना दे-दे कर इंजीनियरिंग छात्र की हत्या: आपातकाल की वो कहानी, जिसमें...

आज कॉन्ग्रेस पार्टी संविधान दिखा रही है। जब राजन के पिता CM, गृह मंत्री, गृह सचिव, पुलिस अधिकारी और सांसदों से गुहार लगा रहे थे तब ये कॉन्ग्रेस पार्टी सोई हुई थी। कहानी उस छात्र की, जिसकी आज तक लाश भी नहीं मिली।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -