Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाजउदयपुर में कन्हैया लाल को काट डाला, नुपूर शर्मा के समर्थन में किया था...

उदयपुर में कन्हैया लाल को काट डाला, नुपूर शर्मा के समर्थन में किया था पोस्ट: वीडियो जारी कर हत्यारों ने PM मोदी का गर्दन काटने की भी धमकी दी

वीडियो हत्यारे में हत्यारे कहते नजर आ रहे हैं, "नबी की शान के खिलाफ बोलने वाले का सर कलम होगा।" साथ ही वीडियो में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गाली और उनकी भी गर्दन काटने के साथ ही नूपुर शर्मा का भी यही हश्र करने की बात कह रहे हैं।

राजस्थान के उदयपुर में पूर्व बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा के समर्थन में 10 दिन पहले सोशल मीडिया पर पोस्ट करने वाले एक टेलर की गला रेत कर निर्मम हत्या कर दी गई है। ये वारदात उदयपुर के धानमंडी थाना क्षेत्र में हुई। जहाँ मृतक कन्हैया लाल टेलरिंग की दुकान चलाते थे। वीडियो में दिख रहे हत्यारे उनकी दुकान पर कपड़े सिलवाने के बहाने आए और गर्दन काटकर उनकी हत्या कर दी। इतना ही नहीं हत्यारों ने इस जघन्य वारदात का वीडियो भी बनाया और उसे वायरल कर दिया है।

मामले में कहा जा रहा है कि पिछले कई दिनों से टेलर कन्हैयालाल तेली को कट्टरपंथी मुस्लिमों द्वारा उसे धमकियाँ मिल रही थीं। इसकी नामजद शिकायत भी उसने पुलिस से की थी। वहीं आज मंगलवार (28 जून, 2022) को दिनदहाड़े उसकी दुकान में घुसकर भेषभूषा से मुस्लिम दिख रहे दो युवकों ने कई वार किए। फिर गला काट दिया। इस पूरे हमले का वीडियो भी सामने आया है। इसमें हत्यारे पहले टेलर से कपड़े नपवा रहे हैं फिर उस पर धारदार हथियार से हमला कर रहे हैं जिसकी शुरू में वीडियो में आवाजें ही सुनाई दे रही हैं। फिर कई तस्वीरों और वीडियो में कन्हैयालाल का शव खून से लथपथ जमीन पर पड़ा नजर आ रहा है।

कैसे दिया वारदात को अंजाम

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, टेलर कन्हैयालाल तेली की धानमंडी स्थित भूतमहल के पास सुप्रीम टेलर्स नाम से दुकान है। मंगलवार दोपहर करीब ढाई बजे बाइक पर सवार 2 लोग आए। नाप देने का बहाना बनाकर दुकान में गए। जहाँ कन्हैयालाल उनमें से एक नाप लेते हुए दिख रहे हैं जबकि दूसरा व्यक्ति वीडियो बना रहा है। इससे पहले की कन्हैयालाल कुछ समझ पाते तब तक दोनों इस्लामी हत्यारों ने हमला बोल दिया।

कहा जा रहा है एक के बाद एक उनपर आधा दर्जन से ज्यादा वार कर दिए। वहीं हत्यारों ने उनकी गर्दन रेत दी जिससे मौके पर ही उन्होंने दम तोड़ दिया। इसके बाद दोनों हत्यारे आराम से फरार हो गए। इस बीच सोशल मीडिया पर एक और वीडियो भी सामने आया है जिसमें दो वही दोनों तलवार लेकर अपना जुल्म कबूल करते दिख रहे हैं।

वीडियो में हत्यारे तलवार पर खून और चेहरे पर हँसी के साथ कहते हैं, ”मैं मोहम्मद रियाज अंसारी और ये हमारे गौस मोहम्मद भाई, उदयपुर के अंदर जो माता स्टेट वाला है उसका सर कलम कर दिया है।” आगे मजहबी नारा लगाते हुए कहता है, ”हम जिएँगे आपके लिए और मरेंगे आपके लिए।”

हमलवार आगे पीएम मोदी की गर्दन काटने और नूपुर शर्मा को धमकी देते हुए कहता है, ”ये नरेंद्र मोदी सुन ले, आग तूने लगाई है और बुझाएँगे हम, इंसाअल्लाह मैं रब से दुआ करता हूँ कि यह छुरा तेरी गर्दन तक भी जरूर पहुँचेगा। और उस कुति** तक भी पहुँचेगा। उदयपुर वालों नारा लगाओ गुस्ताखे नबी की एक ही सजा, सर तन से जुदा। दुआओं में याद रखना।”

वहीं इस मामले में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने ट्वीट किया, “उदयपुर में युवक की जघन्य हत्या की भर्त्सना करता हूँ। इस घटना में शामिल सभी अपराधियों कठोर कार्रवाई की जाएगी एवं पुलिस अपराध की पूरी तह तक जाएगी। मैं सभी पक्षों से शान्ति बनाए रखने की अपील करता हूँ। ऐसे जघन्य अपराध में लिप्त हर व्यक्ति को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी।”

उन्होंने आगे कहा, “मैं सभी से अपील करता हूँ कि इस घटना का वीडियो शेयर कर माहौल खराब करने का प्रयास ना करें। वीडियो शेयर करने से अपराधी का समाज में घृणा फैलाने का उद्देश्य सफल होगा।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

भाजपा विधायक T राजा सिंह हैदराबाद में गिरफ्तार: हमले के शिकार गोरक्षकों से जा रहे थे मिलने, आरोप- मूकदर्शक बनी रही थी तेलंगाना पुलिस

तेलंगाना के मेडक में गौ रक्षा कर रहे भाजपा कार्यकर्ताओं पर हमले में 2 लोग घायल। मिलने जा रहे भाजपा विधायक टी राजा सिंह गिरफ्तार।

बाबरी अब मस्जिद नहीं ‘ढाँचा’, राम मंदिर ‘राष्ट्रीय गर्व’, अयोध्या ‘पवित्र स्थल’: NCERT ने 12वीं की किताब में किया बदलाव, सुप्रीम कोर्ट के फैसले...

अयोध्या को भारत के सबसे पवित्र स्थलों में से एक बताया गया है। राम जन्मभूमि को 'राष्ट्रीय गर्व' लिखा गया है। सन् 1528 में इसे तोड़ कर यहाँ ढाँचा बना।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -