UP: बस में पति की मौत, ड्राइवर जुनैद और कंडक्टर सलमान ने शव समेत पत्नी को बीच रास्ते उतारा

यूपी रोडवेज की बस में अचानक तबीयत बिगड़ने से राजू मिश्रा की मौत के बाद ड्राइवर और कंडक्टर ने उनकी पत्नी से टिकट छीना लिया ताकि बस में सफर करने का कोई सबूत न बचे।

उत्तर प्रदेश परिवहन विभाग की बस से यात्रा कर रहे एक व्यक्ति की मौत के बाद बस के ड्राइवर और कंडक्टर ने बीच रास्ते उसकी पत्नी को शव के साथ उतार दिया। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक बहराइच से लखनऊ जा रही बस में 37 वर्षीय राजू मिश्रा अपनी पत्नी के साथ सवार हुए थे। रास्ते में अचानक उनकी तबीयत बिगड़ी और मौत हो गई।

ख़बरों के मुताबिक इसके बाद बस ड्राइवर जुनैद और कंडक्टर सलमान ने उनकी पत्नी से टिकट छीन लिया और पति के शव के साथ नीचे उतार दिया। पोस्टमार्टम में मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है।

राजू मिश्रा कैंसर पीड़ित रिश्तेदार को लखनऊ देखने जा रहे था। राजू के बड़े भाई मुरली मिश्रा ने बताया कि बस कंडक्टर मोहम्मद सलमान और ड्राइवर जुनैद अहमद ने उनके भाई के शव और उनकी पत्नी को जबरन बस से उतार दिया। इसके बाद उन्होंने महिला से बस के टिकट भी छीन लिए ताकि बस यात्रा का कोई सबूत न बचे। वह शव के साथ महिला को अकेला छोड़कर भाग गए।

- विज्ञापन - - लेख आगे पढ़ें -

बाराबंकी डिपो केन्द्र के प्रभारी मनोज कुमार का कहना है कि उनके संज्ञान में यह प्रकरण नहीं है, लेकिन इसकी जाँच करवाकर ड्राइवर एवं कंडक्टर के ख़िलाफ़ आवश्यक कार्रवाई होगी।

कुछ अन्य खबरों के मुताबिक मोहम्मद सलमान ने कहा है कि राजू के सीने में दर्द होने पर उसने रामपुर में बस रोकी थी और पास के क्लीनिक से डी.पी सिंह को भी बुलाया था। लेकिन उससे पहले ही राजू की मौत हो चुकी थी।

वहीं, कंडक्टर का कहना है कि उसने यूपी पुलिस के 100 नंबर पर फोन किया, लेकिन वहाँ से कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली। इसके बाद एसओ को फोन किया, जिन्होंने शव बाराबंकी अस्पताल ले जाने को कहा। सलमान के मुताबिक उसने मृतक के रिश्तेदारों को फोन किया और उनके कहने पर ही महिला को शव के साथ उतारा।

शेयर करें, मदद करें:
Support OpIndia by making a monetary contribution

बड़ी ख़बर

गौरी लंकेश, कमलेश तिवारी
गौरी लंकेश की हत्या के बाद पूरे राइट विंग को गाली देने वाले नहीं बता रहे कि कमलेश तिवारी की हत्या का जश्न मना रहे किस मज़हब के हैं, किसके समर्थक हैं? कमलेश तिवारी की हत्या से ख़ुश लोगों के प्रोफाइल क्यों नहीं खंगाले जा रहे?

सबसे ज़्यादा पढ़ी गईं ख़बरें

ताज़ा ख़बरें

हमसे जुड़ें

100,227फैंसलाइक करें
18,920फॉलोवर्सफॉलो करें
106,000सब्सक्राइबर्ससब्सक्राइब करें

ज़रूर पढ़ें

Advertisements
शेयर करें, मदद करें: