Sunday, June 23, 2024
Homeदेश-समाज'जुमे पर होगी स्कूलों की छुट्टी, दफ्तरों का भी ऑफ होगा'': मणिपुर में ऐसा...

‘जुमे पर होगी स्कूलों की छुट्टी, दफ्तरों का भी ऑफ होगा”: मणिपुर में ऐसा ऐलान करने वाले छात्र संगठन पर FIR, बदल रहे थे सरकारी संगठनों के नाम

मणिपुर के चुराचांदपुर जनपद से संबंध रखने वाले इस छात्र संगठन ने 26 अक्टूबर को एक पत्र प्रसारित किया था। इस पत्र में कहा गया था छात्र संगठनों ने यह निर्णय लिया है कि मणिपुर के सभी राजकीय दफ्तरों और स्कूलों में छुट्टी शुक्रवार को होगी।

मणिपुर पुलिस ने अवैध रूप से शुक्रवार के दिन को छुट्टी घोषित करने के आरोप में एक छात्र संगठन के विरुद्ध FIR दर्ज की है। मणिपुर के ज्वाइंट स्टूडेंट्स बॉडी नाम के छात्र संगठन ने 26 अक्टूबर 2023 को कहा था कि अब प्रदेश में छुट्टी शुक्रवार को हुआ करेगी।

मणिपुर के चुराचांदपुर जनपद से संबंध रखने वाले इस छात्र संगठन ने इस संबंध में 26 अक्टूबर को एक पत्र प्रसारित किया था। इस पत्र में कहा गया था छात्र संगठनों ने यह निर्णय लिया है कि मणिपुर के सभी राजकीय दफ्तरों और स्कूलों में छुट्टी शुक्रवार को होगी।

इस पत्र में मात्र शिक्षण संस्थाओं में ही नहीं बल्कि सभी जिलाधिकारी, पुलिस अधीक्षक, मंडलीय शिक्षा अधिकारी और एडिशनल डिप्टी कमिश्नर दफ्तर में भी शुक्रवार को छुट्टी मनाने की बात की गई थी। साथ ही इस पत्र में सरकारी संस्थाओं के नाम भी बदले गए थे।

इस पत्र के सामने आने के बाद राज्य के मुख्य सचिव विनीत जोशी ने कहा था कि यह कृत्य पूर्णतया अवैध है और मणिपुर में सामुदायिक सौहार्द बिगाड़ सकता है। उन्होंने इस संगठन द्वारा संस्थाओं के नाम बदलने के प्रयास पर भी चिंता जताई थी।

अब इस मामले में मणिपुर पुलिस ने FIR दर्ज कर ली है। मणिपुर पुलिस ने इस मामले में सरकारी कामकाज में बाधा पहुँचाने और सरकारी कर्मचारियों को नुकसान पहुँचाने समेत अन्य धाराओं में FIR दर्ज की है।

वहीं दूसरी तरफ मणिपुर में मई माह से चालू हुई हिंसा के कुछ दिनों तक शांत रहने के बाद अब दोबारा हिंसक प्रवृत्तियाँ सामने आई हैं। 31 अक्टूबर 2023 को भारत-म्यांमार अंतरराष्ट्रीय सीमा के निकट मोरेह में एक पुलिस अफसर की गोली मार कर हत्या कर दी गई

मारे जाने वाले अफसर का नाम चिन्गथम आनंद कुमार बताया गया है। वह इस इलाके में स्कूलों के मैदान की साफसफाई का काम देख रहे थे जब कूकी आतंकियों ने उन पर फायरिंग कर दी, जिसमें उनकी मौत हो गई।

मणिपुर की सरकार ने मृतक के परिजनों को ₹50 लाख मुआवजा और एक आश्रित को सरकारी नौकरी देने का ऐलान किया है। इस हमले में दो अन्य पुलिसकर्मी भी घायल हुए हैं। मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने इस मामले में कड़ी कार्रवाई का भरोसा दिलाया है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘मोदी के दिए घरों में रहते हैं, 100% वोट कॉन्ग्रेस को देते हैं’: बोले असम CM सरमा – राज्य पर कब्ज़ा करना चाहते हैं...

सीएम हिमंता ने कहा कि बांग्लादेशी मूल के अल्पसंख्यकों ने कॉन्ग्रेस को इसलिए वोट दिया, क्योंकि अगले 10 सालों में वे राज्य को कब्जा चाहते हैं।

NEET पीपर लीक की जाँच अब CBI के हवाले, केंद्रीय जाँच एजेंसी ने दर्ज की FIR: PG की परीक्षा के लिए नई तारीखों का...

केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय की ओर से बताया गया कि विवाद की समीक्षा के बाद मंत्रालय ने मामले की व्यापक जाँच के लिए इसे सीबीआई को सौंपने का फैसला किया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -