Thursday, September 29, 2022
Homeदेश-समाजसिंघु-कुंडली बॉर्डर से डेढ़ दर्जन लड़कियाँ भी गायब, प्रदर्शनकारी कहते हैं- यहाँ हमारा कानून...

सिंघु-कुंडली बॉर्डर से डेढ़ दर्जन लड़कियाँ भी गायब, प्रदर्शनकारी कहते हैं- यहाँ हमारा कानून चलता है: रिपोर्ट

प्रदर्शन स्थल के पास 10 से ज्यादा दुकानदारों पर भी तलवारों और भालों से जानलेवा हमला हो चुुका है। पिछले दिनों एक वाहन पर खालिस्तानी झंडा लगाने का भी वीडियो वायरल हुआ था।

एक दलित की बर्बर हत्या के बाद से सिंघु-कुंडली बॉर्डर का किसान प्रदर्शन स्थल चर्चा में है। दिल्ली-हरियाणा बॉर्डर पर सोनीपत जिले में हत्या के बाद शव को किसान प्रदर्शनकारियों के मुख्य मंत्र के पास टाँग दिया गया था। रिपोर्टों के अनुसार कथित किसानों का यह प्रदर्शन स्थल अपराध के अड्डे में तब्दील हो चुका है। महिलाओं का इधर निकलना दूभर हो गया। स्थानीय दुकानदारों पर हमले हो चुके हैं। प्रदर्शनकारी कहते हैं कि यहाँ उनका कानून चलता है।

आंदोलन स्थल वाले क्षेत्र के आसपास की कॉलोनियों से लगातार लड़कियाें के लापता होने की शिकायत पुलिस को मिल रही है। दैनिक जागरण की रिपोर्ट के मुताबिक तकरीबन डेढ़ दर्जन लड़कियाँ गायब हैं। मगर पुलिस कार्रवाई करने से कतरा रही है। प्रदर्शनकारियों का क्षेत्र में दबदबा इस कदर है कि नामजद रिपोर्ट दर्ज होने के बाद भी पुलिस सिर्फ उन्हीं लोगों के खिलाफ कार्रवाई करने की हिम्मत जुटा पाती है, जिसके लिए प्रदर्शनकारी कहते हैं।

इसके अलावा क्षेत्र के 10 से ज्यादा दुकानदारों पर भी तलवारों और भालों से जानलेवा हमला हो चुुका है। पिछले दिनों एक वाहन पर खालिस्तानी झंडा लगाने का भी वीडियो वायरल हुआ था।

इससे पहले भी सिंघु बॉर्डर पर किसान आंदोलन के धरनास्थल से इस तरह की आपराधिक वारदात की खबर सामने आ चुकी है। इसी साल अप्रैल में यहाँ आंदोलन में हिस्सा लेने आई पश्चिम बंगाल की युवती का रेप हुआ था। पीड़ित लड़की की 30 अप्रैल को मौत हो गई थी। मार्च महीने में ही धरनास्थल पर गोली चलने की वारदात हुई थी।

शुक्रवार (15 अक्टूबर 2021) को यहाँ जिसकी टँगी लाश मिली थी उसकी पहचान 35 साल के लखबीर सिंह को तौर पर हुई है। वह तीन बेटियों का पिता था। बताया जा रहा है कि मरिटल पंजाब के तरनतारन के गाँव चीमा खुर्द का निवासी था। लखबीर सिंह की पत्नी जसप्रीत उसके नशे की आदत के चलते पाँच साल पहले मायके चली गई थी। जसप्रीत के साथ ही तीनों बेटियाँ भी रहती हैं। तीनों बेटियों में कुलदीप 8 साल, सोनिया 10 साल और तानिया 12 साल की है।

पुलिस के मुताबिक लखबीर का कोई क्रिमिनल रिकॉर्ड नहीं है, ना ही किसी राजनीतिक दल से वह जुड़ा हुआ है। उसके खिलाफ गाँव में किसी ने लड़ाई-झगड़े तक करने की शिकायत नहीं की। दलित लखबीर सिंह मजदूरी कर गुजारा करता था। मृतक की बहन राज कौर का कहना है कि चीमा में आने के बाद वह निहंगों के साथ उठता-बैठता था। वह 13 अक्टूबर को मंडी जाने की बात कह कर घर से निकला था। उसे शक है कि कोई उसे पैसों का लालच देकर या बहकावे से दिल्ली साथ ले गया होगा।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘गौमूत्र पियो, गोबर खाओ हरा@*$’: बर्मिंघम में ‘अल्लाह-हू-अकबर’ बोल हिंदू मंदिर पर टूटी कट्टरपंथियों की भीड़, PM मोदी को दी माँ की गाली; Videos...

ब्रिटेन के बर्मिंघम में हिंदू मंदिर पर इस्लामी भीड़ ने हमला किया। वहाँ हिंदुओं को तो गंदी गालियाँ दी ही गईं। साथ में पीएम मोदी की माँ को भी गाली बकते कट्टरपंथी सुनाई पड़े।

₹793 करोड़ की लागत, अंदर 500 डिवाइस: काशी विश्वनाथ कॉरिडोर से 4 गुना बड़ा होगा ‘महाकाल लोक’, QR कोड स्कैन करके सुनाई पड़ेगी भगवान...

उज्जैन के महाकाल मंदिर को विशेष तौर पर विकसित किया जा रहा है। इसमें लगे म्यूरल और मूर्तियों रो स्कैन कर शिव की कथा सुनी जा सकती है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
225,094FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe