Monday, November 28, 2022
Homeदेश-समाजT-20 में भारत की हार का जश्न मनाने वाली साफिया मजीद नौकरी से बर्खास्त:...

T-20 में भारत की हार का जश्न मनाने वाली साफिया मजीद नौकरी से बर्खास्त: राजौरी मेडिकल कॉलेज में थीं टेक्नीशियन

"वीडियो से लग रहा है कि साफ़िया मजीद ने टी -20 विश्व कप 2021 में पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय क्रिकेट टीम की हार की ख़ुशी अपने व्हाट्सएप स्टेट्स पर जाहिर की है। यह एक राष्ट्र विरोधी गतिविधि है और राष्ट्र के प्रति विश्वासघात के समान है।"

विश्वकप टी 20 मैच में भारत की हार का जश्न मनाने वाली एक और सरकारी कर्मी के विरुद्ध कार्रवाई की गई है। यह कार्रवाई जम्मू के राजौरी जिला स्थित राजकीय मेडिकल कॉलेज की स्टॉफ साफ़िया मजीद के विरुद्ध हुई है। साफिया मजीद यहाँ ऑपरेशन थियेटर की टेक्नीशियन के तौर पर तैनात थीं।

24 अक्टूबर 2021 ( रविवार) को भारत की हार के बाद सफिया मजीद ने अपने व्हाट्स एप स्टेट्स पर पाकिस्तान की जीत का जश्न मनाता वीडियो डाला था। थोड़ी ही देर में यह स्टेट्स वायरल हो गया। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस मामले का संज्ञान डीएसपी मुख्यालय राजौरी के साथ मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल ने भी लिया। जाँच के बाद आखिरकार साफ़िया मजीद को बर्खास्त करने का फैसला किया गया। यह आदेश GMC राजौरी के प्रिंसिपल बृज मोहन ने दिए हैं।

साफिया मजीद के बर्खास्तगी आदेश में कहा गया गया है कि, “विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफार्मों से डीएसपी मुख्यालय, राजौरी के संज्ञान में एक वायरल वीडियो आया है। इस वीडियो का संबंध मिस साफिया मजीद से है जो जीएमसी और एएच में ऑपरेशन थियेटर टेक्नीशियन के रूप में कार्यरत हैं। वीडियो से लग रहा है कि साफ़िया मजीद ने टी -20 विश्व कप 2021 में पाकिस्तान के खिलाफ भारतीय क्रिकेट टीम की हार की ख़ुशी अपने व्हाट्सएप स्टेट्स पर जाहिर की है। यह एक राष्ट्र विरोधी गतिविधि है और राष्ट्र के प्रति विश्वासघात के समान है।”

आदेश में कहा गया है कि संस्थान के किसी भी कर्मचारी को देश के विरुद्ध इस प्रकार के कृत्यों की छूट नहीं दी जा सकती है। बताया जा रहा है कि 21 अक्टूबर 2021 (गुरुवार) को सफिया मजीद 5 दिनों की छुट्टी ले कर गईं थीं। लेकिन पाँच दिनों के बाद भी वो ड्यूटी पर वापस नहीं लौटी हैं। बिना पूर्व सूचना के इस तरह के कृत्य को भी कर्तव्यों में घोर अनुशासनहीनता माना गया है। इस आधार पर साफिया मजीद को 27 अक्टूबर 2021 (बुधवार) को नौकरी से बर्खास्त कर दिया गया।

आदित्य राज कौल ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक पत्र शेयर करते हुए उसे सफिया मजीद की बर्खास्तगी का पत्र बताया है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

मदरसों में पढ़ रहे आठवीं तक के छात्रों को अब नहीं मिलेगी स्कॉलरशिप, पिछले साल 16558 मदरसों के 5 लाख बच्चों को मिला था

केंद्र की मोदी सरकार ने फैसला लिया है कि मदरसों में पढ़ने वाले बच्चों को जो छात्रवृत्ति मिलती है वो 1 से 8 कक्षा तक नहीं मिलेगी।

चीन के कई शहरों में फैला प्रदर्शन, सड़कों पर उतरे छात्र: शी जिनपिंग के खिलाफ नारेबाजी, पत्रकार को पुलिस ने पीटा

चीन में शी जिनपिंग के खिलाफ होता विरोध प्रदर्शन देश के कई शहरों में फैल गया है। लोग उस इलाके तक आ गए हैं जहाँ सबसे ज्यादा एबेंसी हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
235,826FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe