Tuesday, September 21, 2021
Homeदेश-समाजमेरठ: ई रिक्शा पर सादे ड्रेस में बैठी महिला सिपाही, लेकर भागने लगा जावेद;...

मेरठ: ई रिक्शा पर सादे ड्रेस में बैठी महिला सिपाही, लेकर भागने लगा जावेद; पकड़े जाने पर हुई पिटाई

महिला सिपाही ने आरोपित जावेद से रुकने के लिए कहा, लेकिन उसने रिक्शा की गति कम नहीं की। इस पर महिला सिपाही ने शोर मचा दिया, जिस पर आसपास के लोगों ने रिक्शा रोक लिया और जावेद को पकड़कर उसकी पिटाई कर दी।

लखनऊ के तांगे वाले नूर आलम के बाद अब मेरठ का ई-रिक्शा चालक जावेद खबरों में है। ई रिक्शा पर बैठी महिला सिपाही को लेकर भागने की कोशिश करने पर लोगों ने उसकी जमकर पिटाई कर दी।

घटना बुधवार (25 अगस्त 2021) की है। मेरठ के लिसाड़ी गेट थाना क्षेत्र के रशीद नगर का निवासी जावेद ई-रिक्शा चलाता है। बुधवार को उसके ई-रिक्शा में एक महिला सिपाही बैठी। हापुड़ अड्डा चौराहे पर पहुँचते ही ई-रिक्शा चालक जावेद ने अपना रास्ता बदल दिया और तेज गति से रिक्शा दौड़ाने लगा। महिला सिपाही ने आरोपित जावेद से रुकने के लिए कहा, लेकिन उसने रिक्शा की गति कम नहीं की। इस पर महिला सिपाही ने शोर मचा दिया, जिस पर आसपास के लोगों ने रिक्शा रोक लिया और जावेद को पकड़कर उसकी पिटाई कर दी।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार महिला सिपाही किसी काम से बाहर गई थी और उसने वर्दी नहीं पहनी थी। जब महिला सिपाही ने घर लौटने के लिए ई-रिक्शा का सहारा लिया तब चालक जावेद ने उसके अपहरण का प्रयास किया। हालाँकि महिला सिपाही के शोर मचाने के बाद न केवल उसकी जान बच पाई, बल्कि आरोपित जावेद को भी पकड़ लिया गया।

गौरतलब है कि पिछले दिनों लखनऊ से एक तांगे वाले का वीडियो सामने आया था जिसके तांगे पर मजहबी निशान बने थे। वायरल वीडियो में एक युवक तांगे वाले से हिंदुस्तान जिंदाबाद कहने की बात करता है। इस पर नूर आलम ‘हिंदुस्तान जिंदाबाद’, ‘जय हिंद’ और ‘भारत माता की जय’ कहता है।

बाद में युवक उसे ‘पाकिस्तान मुर्दाबाद’ का नारा लगाने को कहता है। लेकिन नूर ऐसा कहने से मना कर देता है। इस बीच तांगा चालक का दूसरा साथी रशीद आता है और युवक से बहस करता है। दोनों पाकिस्तान मुर्दाबाद कहने से मना कर देते हैं। वह कहते हैं कि यदि कहेंगे तो हिंदुस्तान-पाकिस्तान जिंदाबाद कहेंगे। जब तांगा चालक से पूछताछ की गई तो वह माफी माँगने लगा। माफी माँगने और दोबारा ऐसी गलती न करने की हिदायत देकर उसके तांगे पर बने झंडों को पेंट करके उसे छोड़ दिया गया।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज योगेश है, कल हरीश था: अलवर में 2 साल पहले भी हुई थी दलित की मॉब लिंचिंग, अंधे पिता ने कर ली थी...

आज जब राजस्थान के अलवर में योगेश जाटव नाम के दलित युवक की मॉब लिंचिंग की खबर सुर्ख़ियों में है, मुस्लिम भीड़ द्वारा 2 साल पहले हरीश जाटव की हत्या को भी याद कीजिए।

अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालत में मौत: पंखे से लटकता मिला शव, बरामद हुआ सुसाइड नोट

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि की संदिग्ध हालात में मौत हो गई है। महंत का शव बाघमबरी मठ में सोमवार को फाँसी के फंदे से लटकता मिला।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
123,474FollowersFollow
409,000SubscribersSubscribe