Saturday, April 13, 2024
Homeदेश-समाजकर्नाटक के 'मिनी तिरुपति' मंदिर की मूर्तियों को रॉड मार कर किया गया खंडित,...

कर्नाटक के ‘मिनी तिरुपति’ मंदिर की मूर्तियों को रॉड मार कर किया गया खंडित, इलाके में तनाव के बाद उपद्रवियों पर FIR दर्ज

कर्नाटक के हासन जिले में स्थित 300 साल पुराने इस पवित्र स्थान को 'मिनी तिरुपति' मंदिर के नाम से जाना जाता है। यह मंदिर एक पहाड़ी के ऊपर अरासिकेरे शहर से दो किमी दूर स्थित है। यहाँ रहने वाले लोग इस मंदिर में भगवान की पूजा अर्चना करने लिए जाते हैं।

कर्नाटक (Karnataka) के हासन जिले में अरासिकेरे (Arasikere) में सोमवार (30 मई 2022) को एक मंदिर में मूर्तियों को तोड़ने वाले अज्ञात उपद्रवियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई। ये मूर्तियाँ निर्माणाधीन प्रक्रिया में थीं, जिन्हें प्रदर्शनी के लिए बनाया जा रहा था।

पुलिस के अनुसार, यह घटना मालेकल्लू तिरुपति हिल (Malekallu Tirupathi Hill) के प्रदर्शनी केंद्र में हुई। इसके बाद से यहाँ तनाव की स्थिति पैदा हो गई है। हालाँकि, मूर्तियों को किन लोगों ने तोड़ा, इसका अभी तक पता नहीं चल पाया है, लेकिन पुलिस के हाथ इस मामले में कई अहम सुराग लगे हैं।

पुलिस का कहना है कि हमने अज्ञात बदमाशों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। उनके मुताबिक कम से कम चार बदमाशों ने मिलकर मंदिर में मूर्तियों को तोड़ दिया, जिनकी कुछ दिनों में स्थापना की जानी थी।

रिपोर्ट्स के अनुसार, 300 साल पुराने इस पवित्र स्थान को ‘मिनी तिरुपति’ मंदिर के नाम से जाना जाता है। यह मंदिर एक पहाड़ी के ऊपर अरासिकेरे शहर से दो किमी दूर स्थित है। यहाँ रहने वाले लोग इस मंदिर में भगवान की पूजा अर्चना करने लिए जाते हैं।

पुलिस ने यह भी बताया कि सोमवार को मंदिर परिसर में आए बदमाशों ने पहले कल्याणी (मंदिर का पवित्र जल निकाय) में स्नान किया। उसके बाद उन्होंने आपत्ति के बावजूद वहाँ धूम्रपान किया और परिसर में काम कर रहे मजदूरों को धमकाकर भगा दिया। बाद में, वे प्रदर्शनी केंद्र (Exhibition Centre) गए और उन मूर्तियों को तोड़ दिया। बदमाशों ने मूर्तियों को तोड़ने के लिए रॉड और अन्य ​हथियारों का इस्तेमाल किया था।

मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए हासन जिले के एसपी आर श्रीनिवास गौड़ा (पुलिस अधीक्षक) और जिले के वरिष्ठ अधिकारी मौके पर पहुँचे। डॉग स्क्वायड और फिंगरप्रिंट एक्सपर्ट ने बदमाशों के खिलाफ सबूत जुटाए हैं। पुलिस का कहना है कि हम इस मामले में गहनता से जाँच कर रहे हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों को MSP की कानूनी गारंटी देने का कॉन्ग्रेसी वादा हवा-हवाई! वायर के इंटरव्यू में खुली पार्टी की पोल: घोषणा पत्र में जगह मिली,...

कॉन्ग्रेस के पास एमएसपी की गारंटी को लेकर न कोई योजना है और न ही उसके पास कोई आँकड़ा है, जबकि राहुल गाँधी गारंटी देकर बैठे हैं।

जज की टिप्पणी ही नहीं, IMA की मंशा पर भी उठ रहे सवाल: पतंजलि पर सुप्रीम कोर्ट सख्त, ईसाई बनाने वाले पादरियों के ‘इलाज’...

यूजर्स पूछ रहे हैं कि जैसी सख्ती पतंजलि पर दिखाई जा रही है, वैसी उन ईसाई पादरियों पर क्यों नहीं, जो दावा करते हैं कि तमाम बीमारी ठीक करेंगे।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe