Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाजअपहरण, यौन उत्पीड़न कर मुंबई से बंगाल भागा मोहम्मद शेख, भेष बदल-बदल कर कुछ...

अपहरण, यौन उत्पीड़न कर मुंबई से बंगाल भागा मोहम्मद शेख, भेष बदल-बदल कर कुछ इस तरह दबोचा गया

तीन पुलिसकर्मी, जो शेख को गिरफ्तार करने गए थे, ने पुलिस की वर्दी के बजाय लुंगी, मफलर, टोपी और चेक वाली कमीजें पहनी। एक पुलिसकर्मी स्थानीय निवासी के रिश्तेदार के रूप में उसके पड़ोस में रहने लगा और..

मुंबई पुलिस अधिकारियों ने पिछले शुक्रवार को एक 24 वर्षीय सीरियल मॉलेस्टर को पश्चिम बंगाल के हुगली जिले में दबोचा, जो पिछले फरवरी से ही फरार था। अभियुक्त मोहम्मद बादशाह मोहम्मद सलीम शेख को 2018 में एंटॉप हिल और डीएन नगर पुलिस स्टेशनों में दो नाबालिग लड़कियों के अपहरण और यौन उत्पीड़न के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। हालाँकि, वह सत्र अदालत परिसर से भाग निकला, जब उसे फरवरी 02, 2019 को पेश किया जा रहा था।

समाचार पत्र ‘इन्डियन एक्सप्रेस’ की एक खबर के अनुसार, कोलाबा पुलिस थाने के एक अधिकारी ने कहा, “हम तभी से उनकी तलाश में थे। हम जानते थे कि वह हुगली के बोन्ची क्षेत्र में अपने इलाके भाग गया होगा। लेकिन जब भी हम उसे गिरफ्तार करने के लिए वहाँ जाते, ग्रामीण उसे बता देते और वह बच जाता और हमारे जाते ही वापस लौट आता।”

दिसंबर के पहले सप्ताह ही पुलिस को सूचना दी गई थी कि शेख अपने मूल इलाके पर लौट आया है और अपने रिश्तेदार के साथ रह रहा है। एक टीम को वहाँ भेजा गया, लेकिन हर बार की तरह शेख बच निकला।

बाद में पुलिस को पता चला कि सलीम शेख के बांग्लादेश की सीमा पार करने की संभावना है, टीम ने उसके रिश्तेदारों से सम्पर्क करने के बजाए, एक ऐसे व्यक्ति से संपर्क साधा जिसके साथ आरोपित का एक बार झगड़ा हुआ था।

एक अधिकारी के अनुसार, “एक स्थानीय निवासी था, जिसका बादशाह शेख के साथ झगड़ा हुआ था और वह आरोपित के निवास से बस 20 फीट की दूरी पर रहता था। उन्होंने हमारे एक कॉन्सटेबल को अपने घर में रहने की अनुमति दी।”

उन्होंने बताया कि पुलिस की वर्दी से उन्हें पहले ही संकेत मिल जाता था कि हम शहर से आ रहे हैं। इसीलिए तीन पुलिसकर्मी, जो शेख को गिरफ्तार करने गए थे, ने लुंगी, मफलर, टोपी और चेक वाली कमीजें पहनी। एक पुलिसकर्मी स्थानीय निवासी के रिश्तेदार के रूप में उसके पड़ोस में रहने लगा।”

गत शुक्रवार (दिसंबर11, 2020) को जैसे ही शेख अपने रिश्तेदार के घर पहुँचा, पुलिसकर्मी निकुम ने, सब-इंस्पेक्टर सचिन मंडोले और डी भोसले के साथ, स्थानीय पुलिस की मदद से उसे गिरफ्तार कर लिया। जिसके बाद उसे मुंबई ले जाया गया और अब वह तलोजा सेंट्रल जेल में बंद है।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

इधर आतंकी गोली मार रहे, उधर कश्मीरी ईंट-भट्टा मालिक मजदूरों के पैसे खा रहे: टारगेट किलिंग के बाद गैर-मुस्लिम बेबस

कश्मीर घाटी में गैर-कश्मीरियों को टारगेट कर हत्या करने के बाद दूसरे प्रदेशों से आए श्रमिक अब वापस लौटने को मजबूर हो रहे हैं।

कश्मीर को बना दिया विवादित क्षेत्र, सुपरमैन और वंडर वुमेन ने सैन्य शस्त्र तोड़े: एनिमेटेड मूवी ‘इनजस्टिस’ में भारत विरोधी प्रोपेगेंडा

सोशल मीडिया यूजर्स इस क्लिप को शेयर कर रहे हैं और बता रहे हैं कि कैसे कश्मीर का चित्रण डीसी की इस एनिमेटिड मूवी में हुआ है और कैसे उन्होंने भारत को बुरा दिखाया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,884FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe