Sunday, May 29, 2022
Homeदेश-समाजशाहजेब ने पहले इंटरनेट केबल से गला घोंटा, फिर बोरी में डाल लाश समंदर...

शाहजेब ने पहले इंटरनेट केबल से गला घोंटा, फिर बोरी में डाल लाश समंदर में फेंकी: सोनम शुक्ला के पिता बोले- भागने को तैयार नहीं होने पर मेरी बेटी की कर दी हत्या

सोनम की हत्या 25 अप्रैल को हुई थी और लाश 28 अप्रैल को समंदर के किनारे मिली थी। रिपोर्ट के अनुसार सोनम का पहले इंटरनेट केबल से गला घोंटकर हत्या की गई। फिर उसकी लाश बोरी में पैक कर समंदर में फेंक दी गई।

पिछले दिनों मुंबई में एक लड़की की क्षत-विक्षत लाश मिली थी। मृतका की पहचान सोनम शुक्ला के तौर पर हुई थी। NEET की तैयारी कर रही इस 18 वर्षीय छात्रा की हत्या के आरोप में पुलिस ने उसके कथित बॉयफ्रेंड मोहम्मद अंसारी को पकड़ा था। कुछ रिपोर्टों में आरोपित की पहचान 23 साल के शाहजेब के तौर पर भी बताई गई है।

इंडिया टीवी से बातचीत में सोनम के पिता श्रीकांत शुक्ला ने आरोप लगाया है कि लव जिहाद के कारण उनकी बेटी की हत्या की गई। उनका कहना है कि शाहजेब उनकी बेटी को घर से भगाकर ले जाना चाहता था। जब वह इसके लिए राजी नहीं हुई तो उसकी हत्या कर दी गई। सोनम की हत्या 25 अप्रैल को हुई थी और लाश 28 अप्रैल को समंदर के किनारे मिली थी। रिपोर्ट के अनुसार सोनम का पहले इंटरनेट केबल से गला घोंटकर हत्या की गई। फिर उसकी लाश बोरी में पैक कर समंदर में फेंक दी गई।

सोनम के पिता ने बताया है कि शाहजेब बहत शातिर है। उसकी 26 अप्रैल को टिकट थी। वह उनकी बेटी को लेकर भागने वाला था। उसे लगा था कि वह उनकी बेटी को मना लेगा, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। उन्होंने कहा, “मेरी बेटी चरित्रहीन नहीं थी। आस-पड़ोस के लड़के से बात होना कोई बड़ी बात नहीं थी। लेकिन जब लड़का, लड़की को मनाने में कामयाब नहीं हुआ तो दोनों के बीच काफी झगड़ा हुआ। इसके अलावा और क्या हुआ वो तो हमें नहीं पता क्योंकि वह उसके कमरे में हुआ, लेकिन हमारी लड़की बहुत अच्छी थी।”

उन्होंने आगे कहा, “वह हमारी लड़की को लेकर भागने की फिरक में था। इसमें एक नहीं, कई लोग शामिल हैं। जब वह इसमें कामयाब नहीं हुआ तो झगड़ा हुआ। इस दौरान हमारी लड़की ने उसकी ऊँगली में काटा। इसके बाद उसे लगा कि इसे छोड़ दूँगा तो भी हमारा पोल खुलेगा तो उसने अपने आपको बचाने के लिए उसे मारकर बोरी में डाल कर मलाड की खाड़ी में फेंक दिया। जिसका शव वर्सोवा पुलिस को मिली।”

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

नूपुर शर्मा का सिर कलम करने वाले को ₹20 लाख इनाम का ऐलान, बताया ‘गुस्ताख़-ए-रसूल’: मुस्लिमों को उकसा रहा AltNews वाला जुबैर

तहरीक-ए-लब्बैक (TLP) वही समूह है जिसने कुछ दिनों सियालकोट में पहले श्रीलंकाई नागरिक की हत्या कर दी थी। अब नूपुर शर्मा का सिर कलम करने पर रखा इनाम।

‘शरिया लॉ में बदलाव कबूल नहीं’: UCC के विरोध में देवबंद के मौलवियों की बैठक, कहा – ‘सब सह कर हम 10 साल से...

देवबंद में आयोजित 'जमीयत उलेमा ए हिन्द' की बैठक में UCC का विरोध किया गया। मौलवियों ने सरकार पर डराने का आरोप लगाया। कहा - ये देश हमारा है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
189,861FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe