Thursday, August 5, 2021
Homeदेश-समाजसड़क पर पटका, सरिये से तब तक मारा जब तक मर नहीं गया: राजस्थान...

सड़क पर पटका, सरिये से तब तक मारा जब तक मर नहीं गया: राजस्थान में दिनदहाड़े हत्या, गहलोत सरकार निशाने पर

आरोपित उस व्यक्ति को सड़क पर पटक कर सरिये से तब तक मारता रहा, जब तक कि उसकी मौत न हो गई। इस घटना के बाद सड़क पर काफी दूर तक खून ही खून पसर गया।

राजस्थान में अपराध बढ़ने के कारण वहाँ की अशोक गहलोत सरकार लगातार विपक्ष के निशाने पर है। अब बारां से एक घटना सामने आई है, जहाँ दिनदहाड़े लोगों के सामने ही एक हत्याकांड को अंजाम दिया गया। उक्त घटना कृषि उपज मंडी गेट के बाहर शनिवार (10 जुलाई, 2021) को शाम करीब 5 बजे हुई। आरोपित ने दो राउंड फायरिंग की और फिर व्यक्ति की हत्या कर डाली। बीच सड़क पर ये घटना हुई।

आरोपित उस व्यक्ति को सड़क पर पटक कर सरिये से तब तक मारता रहा, जब तक कि उसकी मौत न हो गई। इस घटना के बाद सड़क पर काफी दूर तक खून ही खून पसर गया। इस घटना को अंजाम देने के बाद भी हत्यारा बेख़ौफ़ इधर-उधर घूम रहा था। इस दौरान वो फोन पर भी किसी से बात कर रहा था। CCTV कैमरे में ये हत्याकांड कैद हो गई। सोशल मीडिया पर लोगों ने इसे शेयर करते हुए राजस्थान में बढ़ते आपराधिक घटनाओं पर नाराजगी जताई।

केंद्रीय जल शक्ति मंत्री और जोधपुर से लोकसभा सांसद गजेंद्र सिंह शेखावत ने इस वीडियो को शेयर करते हुए लिखा कि ये सीरिया, इराक़ या अफगानिस्तान नहीं, भारत का राजस्थान है। उन्होंने लिखा कि यहाँ ISIS या तालिबान का राज नहीं, कॉन्ग्रेस की सरकार है। वहीं पूर्व केंद्रीय खेल मंत्री और जयपुर ग्रामीण से सांसद राज्यवर्धन सिंह राठौड़ ने कहा कि कॉन्ग्रेस राज में राजस्थान में कानून-व्यवस्था की स्थिति इतनी बुरी हो गई है।

उन्होंने कहा, “क्या से क्या बना दिया राजस्थान को!” परिजनों का कहना है कि मृतक नाबालिग था, जिसका नाम आजाद था। इस हत्याकांड की सूचना पूरे शहर में जंगल में आग की तरह फ़ैल गई और लोगों के बीच डर का माहौल बन गया। आजाद पर दो दिन पहले भी हमला हुआ था, जिसकी शिकायत पुलिस थाने में दी गई थी। हमलावर की अब तक पहचान नहीं हो सकी है, न ही झगड़े के कारणों का पता चला है। पुलिस मौके पर जाँच में जुटी है और तलाशी अभियान भी चलाया गया है।

पुलिस ने बताया कि आजाद किसी ट्रक पर काम करता था। वहीं आरोपित के बारे में पता चला है कि वो मंडी गेट पर तिरपाल की दुकान लगाता है। घटना से पहले आजाद अपनी मजदूरी ख़त्म कर के दो-तीन साथियों के साथ घर लौट रहा था। तभी आरोपित ने उसकी हत्या कर दी। आरोपित की उसके साथ एक साल से रंजिश चल रही थी। पुलिस को मौके से दो खोखे भी मिले हैं। परिजनों ने आरोपित की गिरफ़्तारी की माँग की है

एसपी और एएसपी के कई बार समझाने के बाद परिजनों ने शव लिया। इस घटना के कारणों को लेकर लोगों में अलग-अलग किस्म की चर्चाएँ हैं। पुलिस का कहना है कि आजाद बालिग़ है, जबकि परिजनों का कहना है कि उसकी उम्र मात्र 16 साला है। आजाद के भाई इतिहास अली ने इस मामले की शिकायत दर्ज कराई है, जिसके आधार पर FIR दर्ज हुई है। पुलिस अधिकारी घटना और रंजिश के कारणों की तह तक जाने में लगे हैं।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘5 अगस्त की तारीख बहुत विशेष’: PM मोदी ने हॉकी में ओलंपिक मेडल, राम मंदिर भूमिपूजन और 370 हटाने का किया जिक्र

हॉकी में ओलंपिक मेडल, राम मंदिर भूमिपूजन, आर्टिकल 370 हटाने का जिक्र कर प्रधानमंत्री मोदी ने 5 अगस्त को बेहद खास बताया है।

आर्टिकल 370 के खात्मे का भारत स्वप्न, जिसे मोदी सरकार ने पूरा किया: जानिए इससे कितना बदला जम्मू-कश्मीर और लद्दाख

आर्टिकल 370 हटाने के मोदी सरकार के ऐतिहासिक फैसले से न केवल जम्मू-कश्मीर में जमीन पर बड़े बदलाव आए हैं, बल्कि दशकों से उपेक्षित लद्दाख ने भी विकास के नए रास्ते देखे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,121FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe