Sunday, July 21, 2024
Homeदेश-समाज17 सेकेंड में फावड़े से किए 9 वार, जरीफ अंसारी ने PAC के रिटायर्ड...

17 सेकेंड में फावड़े से किए 9 वार, जरीफ अंसारी ने PAC के रिटायर्ड दलित दारोगा को दिनदहाड़े काट डाला: हमले का CCTV देख काँप जाएगी रूह

एक दुकान पर बैठे रिटायर्ड दारोगा पर जरीफ ने अचानक हमला कर दिया था। 17 सेकेंड में के भीतर वह फावड़े से 9 जानलेवा वार करता दिख रहा। रिटायर्ड दारोगा के गिरने के बाद भी वह गर्दन और सिर पर वार करता रहा।

उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में पीएसी के जिस रिटायर्ड दलित दारोगा पर फावड़े से हमला किया गया था, उनकी मौत हो गई है। हमले का दिल दहलाने वाले सीसीटीवी फुटेज सामने आया है। इसमें जरीफ अंसारी को दिनदहाड़े रिटायर्ड दारोगा गरीब दास पर फावड़े से ताबड़तोड़ वार करते देखा जा सकता है। हमला 18 मई 2023 को किया गया था।

हमले के बाद जरीफ अंसारी ने खुद को पुलिस के हवाले कर दिया था। सीसीटीवी में दिख रहा है कि वह फावड़े से तब तक हमला करता रहता है जब तक गरीब दास अचेत होकर गिर नहीं जाता है। घटना मुजफ्फरनगर के सिखेड़ा गाँव की है। एक दुकान पर बैठे रिटायर्ड दारोगा पर जरीफ ने अचानक हमला कर दिया था।

हमले की पूरी घटना दुकान के पास लगी सीसीटीवी कैमरे में कैद हो गई थी। इसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल है। वीडियो में देखा जा सकता है कि जरीफ अंसारी तब तक हमला करता है, जब तक गरीब दास लहूलुहान होकर गिर नहीं पड़ते। जरीफ ने 17 सेकेंड में गरीबदास पर 9 जानलेवा वार किए। गिरने के बाद भी वह गर्दन और सिर पर वार करता रहा।

हमले के बाद जख्मी गरीबदास को स्थानीय लोगों ने अस्पताल पहुँचाया। जहाँ से उन्हें मेरठ रेफर कर दिया गया। फिर मेरठ से दिल्ली ले जाया गया। बताया जा रहा है कि गरीबदास के सिर और गर्दन पर गंभीर चोटें लगी थीं, इसलिए उन्हें बचाया नहीं जा सका। इधर हमलवार जरीफ अंसारी ने थाने में सरेंडर कर अपना जुर्म कबूल लिया है।

शुरुआती पूछताछ में जरीफ ने पुलिस को बताया है कि उसकी बीवी से गरीब दास के साथ अवैध संबंध था। इसलिए उसने हमला किया। पुलिस को हत्या में और भी लोगों के शामिल होने का शक है। इस संबंध में एक शख्स को हिरासत में लिया गया है, जबकि एक की तलाश की जा रही है। परिजनों की तरफ से दी गई शिकायत के आधार पर केस दर्ज कर मामले की जाँच शुरू कर दी गई है।

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आरक्षण के खिलाफ बांग्लादेश में धधकी आग में 115 की मौत, प्रदर्शनकारियों को देखते ही गोली मारने के आदेश: वहाँ फँसे भारतीयों को वापस...

बांग्लादेश में उपद्रवियों को देखते ही गोली मारने के भी आदेश दिए गए हैं। वहाँ हिंसा में अब तक 115 लोगों की जान जा चुकी है और 1500+ घायल हैं।

काशी विश्वनाथ मंदिर और महाकालेश्वर मंदिर परिसर के दुकानदारों को लगाना होगा नेम प्लेट: बिहार के बोधगया की दुकानों में खुद ही लगाया बोर्ड,...

उत्तर प्रदेश के बाद मध्य प्रदेश के महाकालेश्वर मंदिर परिसर में स्थित दुकानदारों को अपना नेम प्लेट लगाने का आदेश दिया गया है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -