Sunday, June 16, 2024
Homeदेश-समाजजिस पुजारी के वीडियो पर वामपंथी-इस्लामी फैलाए प्रोपेगेंडा, उन्होंने कहा - 'लोग मुझे यूज...

जिस पुजारी के वीडियो पर वामपंथी-इस्लामी फैलाए प्रोपेगेंडा, उन्होंने कहा – ‘लोग मुझे यूज कर रहे… घटना को आँखों से नहीं देखा, ये नहीं कहा कि कुछ हुआ नहीं’

पुजारी दीपक शर्मा ने बताया कि उनका मतलब ये था कि वो घटना को अपनी आँखों से देख नहीं पाए। उनके अनुसार मंदिर के बाहर गोलियाँ चल रहीं थीं लेकिन घटना के समय खुद को मंदिर के अंदर पूजा वाली जगह पर बताते हुए उन्होंने कहा कि वो देख नहीं पाए कि मंदिर के अन्य हिस्सों में क्या-क्या हुआ।

हरियाणा के नूहं इलाके में 31 जुलाई (सोमवार) को भड़की हिंसा के बाद एक वीडियो सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हुआ। यह वीडियो उस नल्हड मंदिर के पुजारी का है, जिसकी तरफ बढ़ रही मुस्लिम भीड़ का जिक्र हरियाणा पुलिस की FIR में भी है। इस वीडियो में पुजारी को कहते सुना जा सकता है कि मंदिर में और उसके आस-पास कुछ हुआ ही नहीं। पुजारी के इसी बयान के आधार पर एक वामपंथी मीडिया गिरोह द्वारा हिन्दू संगठनों पर ही झूठ बोलने और हिंसा की बातें झूठी होने का नैरेटिव गढ़ा जाने लगा।

पुजारी का यह इंटरव्यू लल्लनटॉप ने लिया है। 21 सेकेंड के इस वीडियो को @AG_knocks ने 1 अगस्त 2023 को शेयर किया। इस वीडियो पर लगभग 90 हजार व्यूज आ चुके हैं। वीडियो में पुजारी को कहते सुना जा सकता है, “मंदिर के अंदर कुछ नहीं हुआ। जो भी हुआ, वो मंदिर के बाहर लगभग 1 से डेढ़ किलोमीटर दूर।”

द वायर ने तो इसी बयान के आधार पर बाकायदा एक स्टोरी भी प्रकाशित कर दी है। इस रिपोर्ट में वायर ने हरियाणा के गृहमंत्री अनिल विज को ही गलत ठहरा दिया है। लेकिन 21 सेकंड के वीडियो से पुजारी की पूरी बात को समझा जा सकता है? क्या पुजारी ने जो बोला, उसका गलत अर्थ निकाल कर वायरल किया गया?

ऑपइंडिया ने पुजारी से की बात

इस पूरे मामले की असलियत पता करने के लिए ऑपइंडिया ने नल्हड मंदिर के पुजारी को सम्पर्क किया। पुजारी का नाम दीपक शर्मा है, जिन्होंने खुद को मूल रूप से पंजाब का निवासी बताया। उन्होंने कहा कि वो लगभग ढाई साल से मंदिर में रह कर पूजा अर्चना करते हैं। 21 सेकंड के प्रोपेगेंडा वीडियो के पीछे का सच जानने के लिए हमने उनसे 30 मिनट बात की।

दीपक शर्मा के मुताबिक उन्होंने जो भी बयान दिया, उसका अर्थ यह नहीं लगाया जाए कि घटना हुई ही नहीं थी। सफाई देते हुए दीपक ने कहा कि उनका मतलब ये था कि वो घटना को अपनी आँखों से देख नहीं पाए। बकौल दीपक शर्मा 2 बजे तक सब सामान्य था लेकिन उसके बाद अचानक ही सब अस्त-व्यस्त हो गया।

नल्हड मंदिर के पुजारी दीपक शर्मा ने हमसे बताया कि मंदिर के बाहर गोलियाँ चल रहीं थीं और लोगों में अफरातफरी मची हुई थी। घटना के समय खुद को मंदिर के अंदर पूजा वाली जगह पर बताते हुए उन्होंने कहा कि वो देख नहीं पाए कि मंदिर के अन्य हिस्सों में क्या-क्या हुआ।

दीपक शर्मा का यह भी कहना है कि मंदिर का गर्भगृह वाला इलाका ही CCTV से कवर है। बाकी क्षेत्रों में खराब मौसम की वजह से कैमरों और तारों में खराबी आ गई थी। पुजारी ने इस बात पर भी चिंता जताई कि उन्हें कुछ लोग राजनैतिक स्वार्थों के लिए प्रयोग कर रहे हैं।

ऑपइंडिया से बात करते हुए मंदिर के पुजारी दीपक शर्मा ने कहा कि उन्हें लग रहा है कि उनको कोई फँसाना चाहता है। जब हमने मंदिर के अंदर घायलों के वायरल वीडियो के आधार पर दीपक से सवाल किया तो उन्होंने कहा कि मंदिर के हर हिस्से को देख पाना उनके लिए संभव नहीं था। उन्होंने यह भी कहा कि नूहं में इंटरनेट बंद है वर्ना वो मंदिर के अंदर होने वाले वायरल वीडियो को मँगा कर देखते और उसी हिसाब से स्थिति को और स्पष्ट करते।

बातचीत में पुजारी दीपक शर्मा ने बताया कि मंदिर के तीन तरफ घिरे पहाड़ों से गोलियाँ बरसाईं जा रहीं थीं। खूब शोर-शराबा भी हो रहा था। आपको बता दें कि फिलहाल मंदिर में पैरामिलिट्री ITBP की टुकड़ियाँ तैनात हैं। अभी हालात सामान्य हैं।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

राहुल पाण्डेय
राहुल पाण्डेयhttp://www.opindia.com
धर्म और राष्ट्र की रक्षा को जीवन की प्राथमिकता मानते हुए पत्रकारिता के पथ पर अग्रसर एक प्रशिक्षु। सैनिक व किसान परिवार से संबंधित।

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आतंकवाद का बखान, अलगाववाद को खुलेआम बढ़ावा और पाकिस्तानी प्रोपेगेंडा को बढ़ावा : पढ़ें- अरुँधति रॉय का 2010 वो भाषण, जिसकी वजह से UAPA...

अरुँधति रॉय ने इस सेमिनार में 15 मिनट लंबा भाषण दिया था, जिसमें उन्होंने भारत देश के खिलाफ जमकर जहर उगला था।

कर्नाटक में बढ़ाए गए पेट्रोल-डीजल के दाम: लोकसभा चुनाव खत्म होते ही कॉन्ग्रेस ने शुरू की ‘वसूली’, जनता पर टैक्स का भार बढ़ा कर...

अभी तक बेंगलुरु में पेट्रोल 99.84 रुपये प्रति लीटर और डीजल 85.93 रुपये प्रति लीटर बिक रहा था, लेकिन नए आदेश के बाद बढ़ी हुई कीमतें तत्काल प्रभाव से लागू हो गई हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -