Wednesday, May 25, 2022
Homeदेश-समाजभगवा दुपट्टा ओढ़कर 'द कश्मीर फाइल्स' देखने पहुँची थीं महिलाएँ, थिएटर में एंट्री से...

भगवा दुपट्टा ओढ़कर ‘द कश्मीर फाइल्स’ देखने पहुँची थीं महिलाएँ, थिएटर में एंट्री से पहले उतारने को कहा: नासिक की घटना

“महिला मंडल की सभी महिलाओं ने भगवा रंग का दुपट्टा पहन रखा था, लेकिन उन्होंने गेट पर हमारे दुपट्टे उतरवा दिए।”

महाराष्ट्र के नासिक में एक सिनेमा हॉल में बुधवार (23 मार्च 2022) को ‘द कश्मीर फाइल्स’ देखने पहुँची महिलाओं के साथ झड़प की घटना सामने आई है। दरअसल इन महिलाओं ने भगवा दुपट्टा ओढ़ रखा था, जिसे थिएयटरकर्मियों ने हॉल में प्रवेश करने से पहले उतारने के लिए कहा। महिलाओं ने इस बात पर आपत्ति जताई और मामला हाथापाई तक पहुँच गया। हालाँकि पुलिस इंस्पेक्टर प्रमोद चौहान ने बताया कि सिनेमा हॉल में जो विवाद हुआ था वह बाद में समाप्त हो गया। अब सब कुछ सामान्य है।

एक महिला ने न्यूज एजेंसी ANI को बताया,“महिला मंडल की सभी महिलाओं ने भगवा रंग का दुपट्टा पहन रखा था, लेकिन उन्होंने गेट पर हमारे दुपट्टे उतरवा दिए।” वहीं एक अन्य महिला ने बताया, “महिलाओं ने द कश्मीरी फाइल्स दिखाने वाला एक ग्रुप ज्वाइन किया था। चूँकि इस ग्रुप के पास पहचान के लिए कोई बैज या प्रतीक नहीं था तो ग्रुप के हिस्से के रूप में पहचान के तौर पर भगवा दुपट्टा सबको दिया गया था। इसके अलावा इसके पीछे कोई और मकसद नहीं था।”

इससे पहले महाराष्ट्र के ही अमरावती शहर में फिल्म से जुड़ा एक विवाद सामने आया था। बाद में इस मामले में 15 युवकों को गिरफ्तार भी किया गया था। उल्लेखनीय है कि फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ रिलीज होते ही देश भर में चर्चा का विषय बनी हुई है। फिल्म हर दिन कमाई के नए आँकड़े छूती नजर आ रही है।

फिल्म की बढ़ती लोकप्रियता को देखते हुए देश के कई राज्यों ने इस फिल्म को टैक्स फ्री भी घोषित कर दिया है। इन राज्यों में मध्य प्रदेश, उत्तर प्रदेश, कर्नाटक, गुजरात, हरियाणा, बिहार, गोवा, त्रिपुरा आदि शामिल हैं। यह फिल्म देश के प्रधानमंत्री से लेकर कई जानी-मानी हस्तियों की तारीफ भी हासिल कर चुकी है। फिल्म में दिग्गज एक्टर अनुपम खेर, मिथुन चक्रवर्ती, पल्लवी जोशी और दर्शन कुमार जैसे सितारे अहम किरदारों में नजर आ रहे हैं। यह 90 के दशक में कश्मीरी पंडितों पर हुए अत्याचार की कहानी बयाँ करती है।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

काशी के बाद अब मंगलुरु में मस्जिद के नीचे मिला हिन्दू मंदिर! हिन्दुओं ने किया पूजा-पाठ: ASI सर्वे की माँग, धारा-144 लागू

कर्नाटक के मंगलुरू में मंदिर जैसी संरचना मिली, जिसके बाद VHP और बजरंग दल ने इलाके में 'तंबुला प्रश्ने' अनुष्ठान किया। भाजपा MLA ने कहा कि...

‘मुस्लिम छात्रों के झूठे आरोपों पर अजीम प्रेमजी यूनिवर्सिटी ने किया निलंबित’: हिन्दू छात्र का आरोप – मिली धर्म ने समझौता न करने की...

तिवारी और उनके दोस्तों को कॉलेज में सार्वजनिक रूप से संघी, भाजपा के प्रवक्ता और भाजपा आईटी सेल का सदस्य कहा जाता था।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
188,790FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe