Thursday, August 5, 2021
Homeदेश-समाजसुशांत सिंह राजपूत केस में NCB की सबसे बड़ी कार्रवाई: पकड़ा गया ड्रग सप्लायर...

सुशांत सिंह राजपूत केस में NCB की सबसे बड़ी कार्रवाई: पकड़ा गया ड्रग सप्लायर रीगल महाकाल

इस केस में अब तक एनसीबी ने 20 से ज्यादा गिरफ्तारियाँ की है। इनमें कई ड्रग्स सप्लायर्स और डीलर्स हैं, जिनकी चैट्स के माध्यम से कई बॉलीवुड हस्तियों जैसे, दीपिका पादुकोण, अर्जुन रामपाल, श्रद्धा कपूर और सारा अली खान के नाम सामने आए थे।

सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग एंगल सामने आने के बाद केस की जाँच में जुटी एनसीबी ने लंबे समय से फरार चल रहे ड्रग तस्कर रीगल महाकाल को गिरफ्तार कर लिया है। ये गिरफ्तारी इस केस में एनसीबी की सबसे बड़ी कार्रवाई मानी जा रही है। रीगल को आज (दिसंबर 9, 2020) अदालत में पेश किया जाएगा।

रीगल अपने साथी व रिया और शौविक को ड्रग पहुँचाने वाले अनुज केशवाणी के साथ दूसरे लोगों को ड्रग सप्लाई किया करता था। एनसीबी ने इसके कई ठिकानों पर छापे मारने के दौरान भारी मात्रा में नशीले पदार्थ और नकद राशि बरामद की थी। एनसीबी का कहना है कि सुशांत सिंह राजपूत ड्रग्स मामले की पूरी चेन का अब पर्दाफाश हो चुका है।

बता दें कि इस केस में अब तक एनसीबी ने 20 से ज्यादा गिरफ्तारियाँ की है। इनमें कई ड्रग्स सप्लायर्स और डीलर्स हैं, जिनकी चैट्स के माध्यम से कई बॉलीवुड हस्तियों जैसे, दीपिका पादुकोण, अर्जुन रामपाल, श्रद्धा कपूर और सारा अली खान के नाम सामने आए थे। पिछले दिनों कॉमेडियन भारती सिंह और उनके पति भी एनसीबी द्वारा पूछताछ के लिए तलब किए गए थे।

इस केस में एनसीबी ने रिया चक्रवर्ती और उनके भाई शौविक को भी गिरफ्तार किया था। हालाँकि, अभी पहले रिया को और बाद में शौविक को जमानत पर रिहा कर दिया गया।

उल्लेखनीय है कि ड्रग केस के अलावा सुशांत सिंह राजपूत की मौत के केस पर भी फिलहाल जाँच चल रही है। सोमवार को सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करके प्रगति रिपोर्ट पर जवाब माँगा गया है। याचिका में कहा गया था कि हत्या जैसे गंभीर मामलों में भी कानून में 90 दिन के भीतर आरोप दायर करना होता है लेकिन इस मामले में जाँच एजेंसी अपनी भूमिका निभाने में अभी तक असफल रहे और इस मामले में बेवजह देरी से न्याय प्रशासन का ही नहीं बल्कि दुनिया में देश का नाम भी बदनाम हुआ। आगे याचिका में सीबीआई को अपनी जाँच दो महीने के भीतर पूरी करके संबंधित अदालत में रिपोर्ट दाखिल करने का निर्देश देने का अनुरोध किया गया था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

‘5 अगस्त की तारीख बहुत विशेष’: PM मोदी ने हॉकी में ओलंपिक मेडल, राम मंदिर भूमिपूजन और 370 हटाने का किया जिक्र

हॉकी में ओलंपिक मेडल, राम मंदिर भूमिपूजन, आर्टिकल 370 हटाने का जिक्र कर प्रधानमंत्री मोदी ने 5 अगस्त को बेहद खास बताया है।

आर्टिकल 370 के खात्मे का भारत स्वप्न, जिसे मोदी सरकार ने पूरा किया: जानिए इससे कितना बदला J&K और लद्दाख

आर्टिकल 370 हटाने के मोदी सरकार के ऐतिहासिक फैसले से न केवल जम्मू-कश्मीर में जमीन पर बड़े बदलाव आए हैं, बल्कि दशकों से उपेक्षित लद्दाख ने भी विकास के नए रास्ते देखे हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

 

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
113,121FollowersFollow
395,000SubscribersSubscribe