Tuesday, October 19, 2021
Homeदेश-समाजमो. सूफियान के नाम पर आए पार्सल में दरभंगा रेलवे स्टेशन पर विस्फोट: सिकंदराबाद...

मो. सूफियान के नाम पर आए पार्सल में दरभंगा रेलवे स्टेशन पर विस्फोट: सिकंदराबाद से हुई थी बुकिंग

पार्सल में था कपड़ा और बोतल। पार्सल में भेजने वाले का नाम और विवरण या रिसीवर मोहम्मद सूफियान का पता नहीं था। सूफियान अपना पार्सल लेने के लिए नहीं आया था।

बिहार के दरभंगा जिले के दरभंगा जंक्शन रेलवे स्टेशन पर गुरुवार (17 जून 2021) को धमाका हुआ। सिकंदराबाद से आए एक रजिस्टर्ड पार्सल में दोपहर करीब 3.25 पर विस्फोट हो गया। धमाके बाद वहाँ अफरा-तफरी मच गई। मोहम्मद सुफियान नामक व्यक्ति के लिए दरभंगा के लिए पार्सल बुक कराया था।

रिपोर्ट के अनुसार, विस्फोट प्लेटफॉर्म नंबर 1 पर सरकारी रेलवे पुलिस (जीआरपी) स्टेशन के एस्केलेटर के पास हुआ। पार्सल में तुरंत आग लग गई, जिससे दहशत और भय की स्थिति पैदा हो गई। धमाके की आवाज सुनते ही जीआरपी थाना प्रभारी हारुन राशिद और रेलवे सुरक्षा बल (आरपीएफ) के इंस्पेक्टर ब्रजेश कुमार के नेतृत्व में एक टीम मौके पर पहुँची। पुलिस ने आग पर काबू पाने के बाद मामले की जाँच शुरू कर दी है।

शुरुआती जाँच में पता चला है कि पार्सल में कपड़े और एक बोतल थी। माना जा रहा है कि उसमें विस्फोटक सामग्री थी। इसके साथ ही यह भी पता चला कि 15 जून 2021 को मोहम्मद सूफियान के नाम पर एक पार्सल बुक किया गया था। पुलिस अधीक्षक (दरभंगा रेलवे) को भी मामले की जानकारी दी गई थी। इस बीच राजकीय रेलवे पुलिस के डीएसपी नवीन कुमार विस्फोट स्थल पर पहुँच गए। अब मामले की जाँच के लिए एक टीम गठित की जाएगी।

अच्छी बात यह रही कि विस्फोट में किसी के भी हताहत होने या संपत्ति के नुकसान की सूचना नहीं है। इस बीच, फॉरेंसिक टीम ने विस्फोट के कारणों का पता लगाने के लिए काम करना शुरू कर दिया है। न्यूज 18 ने बताया कि पार्सल में भेजने वाले का नाम और विवरण या रिसीवर मोहम्मद सूफियान का पता नहीं था। चूँकि सूफियान अपना पार्सल लेने के लिए नहीं आया था। ऐसे में पुलिस उसे ही संदिग्ध मानकर चल रही है।

पिछले साल दरभंगा में नज़ीर के घर में भी हुआ था बड़ा धमाका

पिछले साल 5 जून, 2020 को बिहार के दरभंगा के आजमनगर दुर्गा मंदिर इलाके में स्थित मोहम्मद नज़ीर नाम के 50 वर्षीय व्यक्ति के घर में धमाका हुआ था। विश्वविद्यालय थाने के अधिकार क्षेत्र में आने वाले इस इलाके में हुए धमाके की गूँज 1 किलोमीटर दूर तक सुनी जा सकती थी। धमाका इतना जोरदार था कि नजीर के घर की दीवारें और छत पूरी तरह ढह गई थी।

परिवार के कई सदस्य घायल हो गए थे। हालाँकि शुरुआती रिपोर्टों में दावा किया गया था कि विस्फोट पटाखों के कारण हुआ था, स्थानीय लोगों ने कहा था कि यह अवैध बम निर्माण के कारण हुआ था।

 

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

धर्मांतरण कराने आए ईसाई समूह को ग्रामीणों ने बंधक बनाया, छत्तीसगढ़ की गवर्नर का CM को पत्र- जबरन धर्म परिवर्तन पर हो एक्शन

छत्तीसगढ़ के दुर्ग में ग्रामीणों ने ईसाई समुदाय के 45 से ज्यादा लोगों को बंधक बना लिया। यह समूह देर रात धर्मांतरण कराने के इरादे से पहुँचा था।

सूरत में मंदिरों-घर की छत पर लाउडस्पीकर, सुबह-शाम हनुमान चालीसा; शनिवार को सत्संग भी: धर्म के लिए हिंदू हुए लामबंद

सूरत में आठ महीने पहले लाउडस्पीकर पर हनुमान चालीसा की हुई शुरुआत ने कैसे हिंदुओं को जोड़ा, इसका संदेश कितना गहरा हुआ, पढ़िए।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
129,980FollowersFollow
411,000SubscribersSubscribe