Wednesday, July 6, 2022
Homeदेश-समाजICU में चूहे ने कुतर दी जिसकी आँख, मर गया 24 साल का वह...

ICU में चूहे ने कुतर दी जिसकी आँख, मर गया 24 साल का वह नौजवान: मुंबई की घटना, BMC का हॉस्पिटल

यह पहली बार नहीं है जब मुंबई के किसी अस्पताल में इस तरह की घटना हुई है। इससे पहले 2017 में कांदिवली स्थित शताब्दी अस्पताल में भी चूहों ने दो मरीजों को कुतर डाला था।

मुंबई में उपनगरीय घाटकोपर के राजावाड़ी अस्पताल में 24 वर्षीय उस मरीज की बुधवार (जून 24, 2021) को मौत हो गई जिसकी आँख के पास चूहे ने काट लिया था। बृहन्मुंबई महानगरपालिका (BMC) के अधिकारियों ने बताया कि रोगी शराब से संबंधित यकृत की बीमारी से पीड़ित था और अस्पताल में भर्ती होने के दिन से ही उसकी हालत बहुत गंभीर थी।

उसके एक रिश्तेदार ने मंगलवार (जून 22, 2021) को आरोप लगाया था कि उसकी आँख के पास तब एक चूहे ने काट लिया था, जब उसे अस्पताल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था। अस्पताल प्रबंधन ने चूहे काटने की घटना की पुष्टि की थी। अधिकारियों के मुताबिक, 24 साल के श्रीनिवास येलप्पा को बेहोशी की हालत में अस्पताल लाया गया था। चूहे के काटने पर डॉक्टर विद्या ठाकुर ने कहा था कि ऐसी घटना नहीं होनी चाहिए थी। मरीज की चोट सतही है, फिर भी इसे टाला जा सकता था। आँख को कोई खतरा नहीं है। लेकिन बुधवार को मरीज की मौत हो गई।

अस्पताल के ही एक कर्मचारी ने इसकी दुर्दशा की कहानी बयाँ करते हुए कहा था, “यह अस्पताल लंबे समय प्रशासनिक उपेक्षा का शिकार है। अस्पताल अधीक्षक पिछले पाँच साल से रेनोवेशन के लिए राशि की माँग कर रहे हैं। अस्पताल के इमरजेंसी मेडिकल सर्विस विंग को पूर्व सांसद गुरुदास कामत ने अपने फंड से 2006 में बनवाया था। राजावाड़ी के पूर्वी उपनगरों के सबसे बड़े अस्पतालों में से एक होने के बाद भी बीएमसी इसके लिए धन की मँजूरी नहीं दे रही है।”

डॉ. ठाकुर ने कहा था कि अस्पताल प्रबंधन ऐसी घटनाओं से बचने के लिए पूरी सावधानी बरतेगा। उन्होंने कहा, “जहाँ मरीज को रखा गया वह वार्ड भूतल पर है। कई लोग मना करने के बावजूद वहाँ कचरा फेंक देते हैं जिससे चूहे आकर्षित होते हैं।” बई की मेयर किशोरी पेडनेकर ने भी उस घटना की जाँच के आदेश दिए थे।

गौरतलब है कि यह पहली बार नहीं है जब मुंबई के किसी अस्पताल में इस तरह की घटना हुई है। इससे पहले 2017 में कांदिवली स्थित शताब्दी अस्पताल में भी चूहों ने दो मरीजों को कुतर डाला था।

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

कन्हैया लाल की पत्नी को ₹1 करोड़, उमेश कोल्हे के परिवार को ₹30 लाख: कपिल मिश्रा के आह्वान पर हिंदुओं ने जुटाया था चंदा

कन्हैयालाल की हत्या के बाद उनके लिए फंड जुटाने वाले बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने बुधवार को उनके परिवार के नाम एक करोड़ की राशि ट्रांसफर कर दी।

हिन्दुओं पर ‘जूते चलाने’ की बातें, मीम का फैक्ट चेक, 4 जिलों में दंगे लेकिन पीछा अमन चोपड़ा का: चिश्ती को बचाने वाली राजस्थान...

मीम का फैक्ट चेक करने वाली और एक महिला की गर्दन उड़ाने की धमकी देने वाले को बचाने वाली राजस्थान पुलिस ने कन्हैया लाल को नहीं दी थी सुरक्षा।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
204,106FollowersFollow
416,000SubscribersSubscribe