Saturday, July 20, 2024
Homeदेश-समाजजिस शाहरुख़ ने हिन्दू लड़की को ज़िंदा जला डाला, उसका बचाव करने वाले सीमाब...

जिस शाहरुख़ ने हिन्दू लड़की को ज़िंदा जला डाला, उसका बचाव करने वाले सीमाब अख्तर जुड़ा HeadlinesBihar से: AIMIM का रह चुका है नेता

दरअसल, अंकिता हत्याकांड को लेकर सीमाब अख्तर ने एक फेसबुक पोस्ट में आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए कहा कि 'जला-जलौवल चलता ही रहता है'। उसके पोस्ट का स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। इसमें सीमाब अख्तर ने लिख रखा है, “ज्यादा बिलकुल नहीं होना चाहिए। जला जलौवल तो चलता ही रहता है।”

झारखंड में अंकिता हत्याकांड को अंजाम देेने वाले आरोपित शाहरुख हुसैन के बचाव में आपत्तिजनक टिप्पणी करने वाला पटना के न्यूज4नेशन का पूर्व पत्रकार सीमाब अख्तर अब नया ठिकाना खोज लिया है। वह Headlines Bihar नाम के एक मीडिया हाउस से जुड़ा हुआ है।

इसकी जानकारी सामने आने के बाद सोशल मीडिया यूजर में गुस्सा फैल गया है। लोगों ने हेडलाइन्स बिहार के इस निर्णय का विरोध किया है। इस हाउस से लोगों ने ऐसे कट्टरपंथी को अपने यहाँ नौकरी नहीं देने की अपील की है।

टीम सुभाष यादव यादव नाम के एक यूजर ने लिखा, “पिछले वर्ष झारखंड में अंकिता नामक एक हिन्दू लड़की की इस्लामिक लव जिहादी द्वारा तेजाब डालकर हत्या कर दिया गया था और उस हत्या को तथाकथित पत्रकार इस्लामिक जिहादी सीमाब अख्तर ने जायज ठहराया था और हत्या का जश्न मनाया था। उसे अब #HeadlinesBihar ने रख लिया है।”

इस ट्वीट में यूजर ने हेडलाइन्स बिहार का एक पोस्ट शेयर किया है, जिसमें सीमाब बिहार के AIMIM नेता आदिल हसन से फोन पर बात कर उस पार्टी के लिए प्रोपगेंडा फैला रहा है। हेडलाइन्स बिहार ने इस पोस्ट को शेयर कर इसमें लिखा है, ‘Bihar News: Nitish को सताने का ओवैसी का डर, सुनकर AIMIM नेता बोले अच्छा लगा।’

अगर भास्कर की पाँच साल पुरानी रिपोर्ट की मानें तो पटना विश्वविद्यालय में छात्र संघ चुनाव के दौरान AIMIM ने अपने उम्मीदवार खड़ा करने की घोषणा की थी। उस वक्त AIMIM के प्रदेश युवा अध्यक्ष आदिल हसन ने सीमाब अख्तर को AIMIM का पटना विश्वविद्यालय अध्यक्ष बनाया था।

दरअसल, अंकिता हत्याकांड को लेकर सीमाब अख्तर ने एक फेसबुक पोस्ट में आपत्तिजनक टिप्पणी करते हुए कहा कि ‘जला-जलौवल चलता ही रहता है’। उसके पोस्ट का स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर खूब वायरल हुआ था। इसमें सीमाब अख्तर ने लिख रखा है, “ज्यादा बिलकुल नहीं होना चाहिए। जला जलौवल तो चलता ही रहता है।”

इस कमेंट को पढ़ने के बाद एक यूजर ने उससे पूछा, “पत्रकारिता कहाँ से सीख ली है, सीमाब अख्तर साहब? भाषा तो आपकी बिलकुल अच्छी नहीं है।” इस पर सीमाब ने आरोपित शाहरुख हुसैन को दोषी ठहराने या अपनी गलती मानने की बजाय फिर लिखा, “साहब, उसने धोखा दिया और जला दिया। जहाँ हवस हो वहाँ हमदर्दी…।”

जब सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा उबलने लगा तो वह एकदम से ठंडा पड़ गया। उसने माफी माँगते हुए लिखा था, “अंकिता के लिए मुझसे अमर्यादित टिप्पणी हो गई थी जिसके लिए मैं बहुत शर्मिंदा हूँ और आप सभी से क्षमा माँगता हूँ। बहन अंकिता का हत्या करने वाला शाहरुख को फाँसी की सजा मिले। समाज में ऐसे कृत्य करने वाले अपराधियों का कोई जगह नहीं है।”

Join OpIndia's official WhatsApp channel

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

टीम से बाहर होने पर मोहम्मद शमी का वायरल वीडियो, कहा – किसी के बाप से कुछ नहीं लेता हूँ, बल्कि देता हूँ

"मुझे मौका दोगे तभी तो मैं अपनी स्किल दिखाऊँगा, जब आप हाथ में गेंद दोगे। मैं सवाल नहीं पूछता। जिसे मेरी ज़रूरत है, वो मुझे मौका देगा।"

थूक लगी रोटी सोनू सूद को कबूल है, कबूल है, कबूल है! खुद की तुलना भगवान राम से, खाने में थूकने वाले उनके लिए...

“हमारे श्री राम जी ने शबरी के जूठे बेर खाए थे तो मैं क्यों नहीं खा सकता। बस मानवता बरकरार रहनी चाहिए। जय श्री राम।” - सोनू सूद

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -