Thursday, April 18, 2024
Homeदेश-समाजप्रयागराज में जावेद के जिस घर पर चला बुलडोजर, उससे मिले हथियार-आपत्तिजनक दस्तावेज: अरब...

प्रयागराज में जावेद के जिस घर पर चला बुलडोजर, उससे मिले हथियार-आपत्तिजनक दस्तावेज: अरब और पाकिस्तान के इस्लामी साहित्य भी बरामद

जावेद पंप का घर प्रयागराज विकास प्राधिकरण (पीडीए) ने रविवार को बुलडोजर से ढाह दिया था। उससे पहले पुलिस ने आपत्तिजनक दस्तावेज और अवैध हथियार घर से बरामद किए थे।

प्रयागराज में 10 जून 2022 को जुमे की नमाज के बाद हुई हिंसा के मास्टरमाइंड जावेद पंप उर्फ जावेद मोहम्मद के घर से पुलिस ने आपत्तिजनक सामान बरामद किया है। तलाशी के दौरान पुलिस को अवैध हथियार, पोस्टर, झंडे, इस्लामी देशों के साहित्य और ऐसे कागजात मिले हैं, जिसमें अदालतों के ऊपर टिप्पणी की गई है। पुलिस ने ये सभी सामान कब्ज़े में ले लिया है।

जावेद पंप का करेली स्थित घर प्रयागराज विकास प्राधिकरण (पीडीए) ने रविवार (12 जून 2022) को बुलडोजर से ढहा दिया था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक जावेद के घर से जो साहित्य बरामद हुए उसमें से कई खाड़ी देशों से संबंधित हैं। इसमें कुछ शोध के पेपर भी हैं। कई शोध पत्रों का संबंध पाकिस्तान के प्रोफेसरों से भी है। ‘इज इस्लाम अ वॉयलेंट रिलीजन’ नाम की एक किताब भी मिली है। यह किताब मक्का यूनिवर्सिटी के एक पूर्व प्रोफेसर ने लिखी है। पुलिस के मुताबिक अन्य किताबों और कागजातों की जाँच की जा रही है।

एक रिपोर्ट के मुताबिक जावेद के घर से पुलिस को 12 बोर और 315 बोर के 2 तमंचे मिले हैं। इसके अलावा कुछ कारतूस भी बरामद किए गए हैं। घर पर बुलडोजर चलने के पहले पुलिस ने पूरे घर की तलाशी ली थी। वहीं इलाहाबाद हाई कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश राजेश बिंदल को 6 वकीलों ने पत्र लिख कर जावेद पंप के मकान पर बुलडोजर चलाए जाने की कार्रवाई को गलत बताया है। इन वकीलों के नाम केके राय, मोहम्मद सईद सिद्दीकी, प्रबल प्रताप, रवींद्र सिंह, नजमुस साकिब खान और रविंद्र सिंह हैं। वकीलों के मुताबिक जिस घर पर बुलडोजर चला है, वह जावेद के ससुर ने अपनी बेटी को गिफ्ट में दिया था।

दिल्ली स्थित UP भवन पर प्रदर्शन

प्रयागराज में जावेद पंप के खिलाफ हुई प्रशासनिक कार्रवाई के विरोध में दिल्ली स्थित UP भवन पर प्रदर्शन हुआ है। प्रदर्शनकारी हाथों में तख्तियाँ लिए हुए थे और योगी सरकार के खिलाफ नारे लगा रहे थे। इस समूह में हिजाब पहनी कुछ मुस्लिम लड़कियाँ सबसे आगे दिखाई दे रही थीं। बताया जा रहा है कि कुछ वामपंथी छात्र छात्र भी इसमें शामिल थे।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

हलाल-हराम के जाल में फँसा कनाडा, इस्लामी बैंकिंग पर कर रहा विचार: RBI के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने भारत में लागू करने की...

कनाडा अब हलाल अर्थव्यवस्था के चक्कर में फँस गया है। इसके लिए वह देश में अन्य संभावनाओं पर विचार कर रहा है।

त्रिपुरा में PM मोदी ने कॉन्ग्रेस-कम्युनिस्टों को एक साथ घेरा: कहा- एक चलाती थी ‘लूट ईस्ट पॉलिसी’ दूसरे ने बना रखा था ‘लूट का...

त्रिपुरा में पीएम मोदी ने कहा कि कॉन्ग्रेस सरकार उत्तर पूर्व के लिए लूट ईस्ट पालिसी चलाती थी, मोदी सरकार ने इस पर ताले लगा दिए हैं।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -

हमसे जुड़ें

295,307FansLike
282,677FollowersFollow
417,000SubscribersSubscribe