Saturday, June 22, 2024
Homeदेश-समाजप्रयागराज सत्यम मर्डर केस: चलेगा बुलडोजर, पीड़ित बहन ने बताया- भाई को बचाने के...

प्रयागराज सत्यम मर्डर केस: चलेगा बुलडोजर, पीड़ित बहन ने बताया- भाई को बचाने के लिए प्रधान यूसुफ के पकड़े थे पैर, पर उसने खींचकर मारी थी लात

"हम ग्राम प्रधान युसूफ के घर के सामने पहुँचे ही थे कि मेरे साथ पढ़ने वाले उसके बेटे ने मेरा हाथ पकड़कर खींचा। सत्यम ने टोका तो उसका कॉलर पकड़ लिया। मैं कुछ कर पाती, इससे पहले ही आठ लोगों ने उसकी पिटाई शुरू कर दी। इसमें चार बाहरी थे, जिन्हें मैं नहीं जानती।"

प्रयागराज के खीरी में 16 साल के सत्यम शर्मा की हत्या के आरोपितों की संपत्ति कुर्क होगी। उनके घरों पर बुलडोजर भी चलेगा। चचेरी बहन के साथ छेड़खानी का विरोध करने पर 10वीं के छात्र सत्यम की 28 अगस्त 2023 को पीट-पीटकर हत्या कर दी गई थी।

इस मामले में 5 लोगों की अब तक गिरफ्तारी हुई है। इनमें तुर्कपुरवा का ग्राम प्रधान मोहम्मद यूसुफ और मोहसिन के अलावा तीन नाबालिग हैं। नाबालिगों में से एक यूसुफ का बेटा और दो भांजे हैं। इस घटना के बाद से ही आक्रोशित लोग बुलडोजर कार्रवाई की माँग कर रहे थे।

दैनिक जागरण की रिपोर्ट के अनुसार पीड़ित परिवार को सरकार आर्थिक सहायता देगी। इस संबंध में डीएम संजय कुमार खत्री ने मुख्यमंत्री कार्यालय से सहमति ले ली है। आरोपितों की संपत्ति की डिटेल जुटाई जा रही है। साथ ही उनके घरों पर बुलडोजर चलाने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है।

सत्यम की चचेरी बहन के हवाले से अमर उजाला ने बताया है कि अपने भाई को बचाने के लिए मोहम्मद यूसुफ का पैर पकड़कर वह गिड़गिड़ाई भी थी। लेकिन यूसुफ ने उसे खींचकर लात मारी थी। उसने बताया, “हम ग्राम प्रधान युसूफ के घर के सामने पहुँचे ही थे कि मेरे साथ पढ़ने वाले उसके बेटे ने मेरा हाथ पकड़कर खींचा। सत्यम ने टोका तो उसका कॉलर पकड़ लिया। मैं कुछ कर पाती, इससे पहले ही आठ लोगों ने उसकी पिटाई शुरू कर दी। इसमें चार बाहरी थे, जिन्हें मैं नहीं जानती।”

उसने आगे बताया, “सत्यम को घेरकर लकड़ी के पटरे और सरिया से मारा गया। वह खून से लथपथ होकर वहीं गिर गया और फिर नहीं उठा। मेरी आँखों के सामने मेरे भाई को मार डाला।” उसका यह भी कहना है कि ग्राम प्रधान यूसुफ वहीं खड़े होकर हमलावरों को उकसा रहा था।

जहाँ हुई छात्र की हत्या, वहाँ छेड़खानी आम

सत्यम शर्मा पर जिस जगह हमला हुआ, वहाँ लड़कियों से छेड़खानी आम है। दैनिक भास्कर ने अपनी रिपोर्ट में स्थानीय लोगों के हवाले से बताया है कि इसके कारण कई लोग अपनी बेटियों की पढ़ाई छुड़वा चुके हैं। इनलोगों ने बताया, “हर दिन स्कूल जाते वक्त तुर्कपुरवा से गुजरते हुए हमारी बहन-बेटियाँ अपना सिर नीचे कर लेती हैं। मनचले उन पर भद्दे कॉमेंट और फब्तियाँ कसते हैं।”

परमानंद इंटर कॉलेज के प्रिंसिपल राजेश पांडेय के अनुसार तुर्कपुरवा में गुमटी पर मनचले बैठे रहते हैं। वे स्कूल आती-जाती छात्राओं पर फब्तियाँ कसते हैं। छेड़खानी करते हैं। छात्राओं ने कई बार स्कूल में यह बात बताई है। उनके अनुसार इसकी शिकायत खीरी थाने को भी कई बार दी गई है। उल्लेखनीय है कि आरोपितों में शामिल मोहम्मद यूसुफ का बेटा इसी स्कूल का छात्र है। सत्यम भी यहीं पढ़ता था।

खीरी गाँव के मैनेजर पांडेय के अनुसार छेड़खानी का विरोध करने पर तुर्कपुरवा के दबंग लोगों की पिटाई भी करते हैं। उन्होंने कहा, “योगी सरकार में अगर बहन-बेटियों का घर से निकलना मुश्किल है, तो आप सोच सकते हैं कि अन्य सरकारों के वक्त यहाँ कैसा माहौल रहा हाेगा। कई अभिभावकों ने तो बच्चियों की पढ़ाई इसलिए छुड़वा दी, क्योंकि उन्हें तुर्कपुरवा से होकर गुजरना पड़ता है।”

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

आज भी ‘रलिव, गलिव, चलिव’ ही कश्मीर का सत्य, आखिर कब थमेगा हिन्दुओं को निशाना बनाने का सिलसिला: जानिए हाल के वर्षों में कब...

जम्मू कश्मीर में इस्लाम के नाम पर लगातार हिन्दू प्रताड़ना जारी है। 2024 में ही जिहाद के नाम पर 13 हिन्दुओं की हत्याएँ की जा चुकी हैं।

CM केजरीवाल ने माँगे थे ₹100 करोड़, हमने ₹45 करोड़ का पता लगाया: ED ने दिल्ली हाई कोर्ट को बताया, कहा- निचली अदालत के...

दिल्ली हाई कोर्ट ने मुख्यमंत्री और AAP मुखिया अरविन्द केजरीवाल की नियमित जमानत पर अंतरिम तौर पर रोक लगा दी है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -