Sunday, June 23, 2024
Homeदेश-समाजपंजाब में डॉक्टरों ने दो जिंदा मरीजों को कब्रिस्तान में फेंकवाया, फिर भागने की...

पंजाब में डॉक्टरों ने दो जिंदा मरीजों को कब्रिस्तान में फेंकवाया, फिर भागने की दर्ज करा दी शिकायत: HIV+ दोनों पीड़ितों में से एक की मौत

मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी शासित पंजाब के एक सरकारी अस्पताल में जिंदा मरीजों को कब्रिस्तान और सुनसान सड़क पर फेंकवाने का शर्मनाक मामला सामने आया है। डॉक्टरों की इस अमानवीय करतूत के कारण एक मरीज की मौत हो गई है। दोनों मरीज लावारिस और HIV पॉजिटिव बताए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री भगवंत मान के नेतृत्व में आम आदमी पार्टी शासित पंजाब के एक सरकारी अस्पताल में जिंदा मरीजों को कब्रिस्तान और सुनसान सड़क पर फेंकवाने का शर्मनाक मामला सामने आया है। डॉक्टरों की इस अमानवीय करतूत के कारण एक मरीज की मौत हो गई है। दोनों मरीज लावारिस और HIV पॉजिटिव बताए जा रहे हैं।

कहा जा रहा है कि अस्पताल के डॉक्टरों ने इसके लिए एंबुलेंस चालक को बुलाया इन दो मरीजों को कब्रिस्तान के पास फेंकने के लिए कहा था। इसके लिए डॉक्टरों ने एंबुलेंस चालक को 400 रुपए भी दिए थे। दरअसल, जिन दो मरीजों को फेंका गया वे एड्स (HIV) से पीड़ित थे। अस्पताल में उनकी देखभाल करने वाला भी कोई व्यक्ति नहीं था।

जिस जगह पर इन दोनों मरीजों को फेंका गया था, वहाँ ठंड आदि से एक मरीज की मौत हो गई। वहीं, दूसरा मरीज कब्रिस्तान में मिला। उसे वहाँ से उठाकर फिर से मानसा अस्पताल में भर्ती कराया गया। अस्पताल के इस कारनामे पर इलाके के लोगों में आक्रोश है। समाजसेवियों ने इसके लिए जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई की माँग की है।

बताया जा रहा है कि दोनों मरीज HIV पॉजिटिव थे। वे पीलिया और टीबी से पीड़ित थे। डॉक्टर इनका इलाज भी ठीक से नहीं कर रहे थे और इनसे छुटकारा पाने चाहते थे। इसके लिए डॉक्टोरं ने एंबुलेंस चालक को पैसे देकर दोनों मरीजों के फेंकने के लिए कहा। मरीजों को बाहर अलग-अलग जगहों पर फेंकवाने के बाद डॉक्टरों ने इन मरीजों के अस्पताल से भागने की रिपोर्ट दर्ज कराई थी।

मरीजों को सुनसान जगह पर छोड़ने वाले एम्बुलेंस चालक ने कहा कि अस्पताल के डॉक्टर आशू और मैडम गुरविंदर कौर ने उनसे मरीज को कहीं छोड़ने के लिए कहा था। इसके लिए आशू ने 400 रुपए दिया था। अब सरकारी अस्पताल के डॉक्टर इस मामले में कुछ भी कहने से इनकार कर रहे हैं। मानसा के सीएमओ ने इस घटना के लिए एक जाँच कमेटी बनाने की बात कही है।

Special coverage by OpIndia on Ram Mandir in Ayodhya

  सहयोग करें  

एनडीटीवी हो या 'द वायर', इन्हें कभी पैसों की कमी नहीं होती। देश-विदेश से क्रांति के नाम पर ख़ूब फ़ंडिग मिलती है इन्हें। इनसे लड़ने के लिए हमारे हाथ मज़बूत करें। जितना बन सके, सहयोग करें

ऑपइंडिया स्टाफ़
ऑपइंडिया स्टाफ़http://www.opindia.in
कार्यालय संवाददाता, ऑपइंडिया

संबंधित ख़बरें

ख़ास ख़बरें

किसानों के आंदोलन से तंग आ गए स्थानीय लोग: शंभू बॉर्डर खुलवाने पहुँची भीड़, अब गीदड़-भभकी दे रहे प्रदर्शनकारी

किसान नेताओं ने अंबाला शहर अनाज मंडी में मीडिया बुलाई, जिसमें साफ शब्दों में कहा कि आंदोलन खराब नहीं होना चाहिए। आंदोलन खराब करने वाला खुद भुगतेगा।

‘PM मोदी ने किया जी अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन का उद्घाटन, गिर गई उसकी दीवार’: News24 ने फेक न्यूज़ परोस कर डिलीट की ट्वीट,...

अयोध्या धाम रेलवे स्टेशन से जुड़े जिस दीवार के दिसंबर 2023 में बने होने का दावा किया जा रहा है, वो दावा पूरी तरह से गलत है।

प्रचलित ख़बरें

- विज्ञापन -